31 मार्च 2021 तक बीआइटी सिंदरी सहित सभी पॉलिटेक्निक संस्थानों में भरे जाएंगे रिक्त पद

31 मार्च 2021 तक बीआइटी सिंदरी सहित सभी पॉलिटेक्निक संस्थानों में भरे जाएंगे रिक्त पद

Ranchi: झारखंड में बड़े पैमाने पर नियुक्तियां होने जा रही हैं. बीआइटी सिंदरी …

Read More31 मार्च 2021 तक बीआइटी सिंदरी सहित सभी पॉलिटेक्निक संस्थानों में भरे जाएंगे रिक्त पद

शिबू सोरेन कोरोना मुक्‍त होने के बाद मेदांता से डिस्‍चार्ज, अभी नहीं लौटेंगे रांची

शिबू सोरेन कोरोना मुक्‍त होने के बाद मेदांता से डिस्‍चार्ज, अभी नहीं लौटेंगे रांची

Shibu Soren Corona Virus Report: लोगों की दुआएं कुबूल हुईं. झामुमो सुप्रीमो शिबू …

Read Moreशिबू सोरेन कोरोना मुक्‍त होने के बाद मेदांता से डिस्‍चार्ज, अभी नहीं लौटेंगे रांची

राज्‍यसभा चुनाव: मतदान के लिए बस से विधानसभा पहुंचे एनडीए के विधायक

राज्‍यसभा चुनाव: मतदान के लिए बस से विधानसभा पहुंचे एनडीए के विधायक

Ranchi: शुक्रवार को लॉकडाउन के बीच झारखंड विधान सभा मे राज्य सभा का चुनाव शुरू हुआ. चुनाव से पूर्व भाजपा के सभी विधायक एक साथ दो बस से सरल बिरला स्कूल से सीधे विधान सभा पहुंचे. जहां एनडीए ने दावा किया कि उनके उम्मीदवार प्रदेश अध्यक्ष दीपक प्रकाश की जीत तय है.

बीजेपी विधायक अमर कुमार बाउरी ने कहा कि दीपक प्रकाश को पार्टी का 26, एक सरयू राय, एक अमित यादव और आजसू के दो वोट मिलना तय है. सत्ता पक्ष की तरफ से भी उन्हें दो वोट मिलने वाले हैं. लिहाजा दीपक प्रकाश को 32 वोट मिलने वाले हैं.

इस बार का समीकरण अलग है. जेएमएम के उम्मीदवार शिबू सोरेन की जीत तय है. जेएमएम के पास अपने 29 वोट हैं. जो शिबू सोरेन को जीत दिलाने के लिए काफी हैं.

वहीं आजसू के वोट की मदद से बीजेपी उम्मीदवार दीपक प्रकाश की भी जीत तय मानी जा रही है. इन तमाम समीकरणों के बीच कांग्रेस के उम्मीदवार शहजाद अनवर के जीत पर संसय बना हुआ है.

फिलहाल राज्यसभा के मतदान शुरू हो चुका है और शाम सात बजे तक चुनाव का नतीजा आ जायेगा.

विश्व बाल श्रम निषेध दिवस: क्या कोरोना संकट में हेमंत सोरेन बचा पाएंगे बाल श्रमिकों की मुस्कान?

विश्व बाल श्रम निषेध दिवस: क्या कोरोना संकट में हेमंत सोरेन बचा पाएंगे बाल श्रमिकों की मुस्कान?

12 जून को हर वर्ष विश्व बाल श्रम निषेध दिवस के रूप में मनाया जाता है, लेकिन कोविड संकट के बीच इसके खास मायने हैं, क्योंकि बाल श्रम एवं दुर्व्यापार के संकट से भी जूझने की चुनौती कम नहीं है.

झारखंड में 18 लाख किसान 5 माह से कर रहे इंतजार, कर्जमाफी कब करेगी हेमंत सरकार

झारखंड में 18 लाख किसान 5 माह से कर रहे इंतजार, कर्जमाफी कब करेगी हेमंत सरकार

Ranchi: झारखंड में झामुमो-कांग्रेस की मौजूदा सरकार ने विधानसभा चुनाव में किसानों …

Read Moreझारखंड में 18 लाख किसान 5 माह से कर रहे इंतजार, कर्जमाफी कब करेगी हेमंत सरकार

1.11 लाख प्रवासी मजदूरों के खाते में भेजे गए एक हजार रुपए, अब तक 2.47 लाख निबंधित मजदूर

★ सभी निबंधित प्रवासी मजदूरों को मदद पहुंचाना सरकार की प्राथमिकता ★ …

Read More1.11 लाख प्रवासी मजदूरों के खाते में भेजे गए एक हजार रुपए, अब तक 2.47 लाख निबंधित मजदूर

हेमंत सोरेन को क्‍यों कहना पड़ा- सदन को मछली बाजार न बनाएं

हेमंत सोरेन को क्‍यों कहना पड़ा

Ranchi: झारखंड विधानसभा के बजट सत्र (Jharkhand News) के दसवें दिन मंगलवार …

Read Moreहेमंत सोरेन को क्‍यों कहना पड़ा- सदन को मछली बाजार न बनाएं

Jharkhand Budget 2020 LIVE: 100 यूनिट मुफ्त बिजली, खुलेंगे मोहल्‍ला क्लिनिक

Jharkhand Budget 2020 LIVE

Ranchi: (Jharkhand Budget 2020 LIVE) बजट सत्र की कार्रवाई विधानसभा में शुरू …

Read MoreJharkhand Budget 2020 LIVE: 100 यूनिट मुफ्त बिजली, खुलेंगे मोहल्‍ला क्लिनिक

झारखंड बजट सत्र के दूसरे दिन लगे नारे- बाबूलाल से डरी हेमंत सरकार

झारखंड बजट सत्र के दूसरे दिन लगे नारे- बाबूलाल से डरी हेमंत सरकार

Ranchi: झारखंड विधानसभा के बजट सत्र का दूसरे दिन की शुरूआत हंगामे से हुई. सदन के अंदर भाजपा के विधायकों ने जमकर बवाल काटा. साथ ही बाहर मीडिया के सामने मांगों को लेकर पीली रंग की तख्तियां लेकर प्रदर्शन किया. इस दौरान भाजपा विधायकों ने हेमंत सोरेन सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी की.

सदन की कार्यवाही शुरू होने से पहले भाजपा के विधायक पोर्टिको में तख्तियों के साथ नजर आये. जिसमें ‘लोकतंत्र की हत्या बंद करो’, ‘बाबूलाल से डरी हेमंत सरकार’ जैसे स्लोगन लिखे थे. पोर्टिको में भाजपा विधायकों ने जमकर नारेबाजी की और बाबूलाल मरांडी को नेता प्रतिपक्ष बनाने की मांग की.

इस दौरान बीजेपी विधायक रणधीर सिंह ने कहा कि संवैधानिक तरीके से जेवीएम का बीजेपी में विलय हुआ है, और बाबूलाल को पार्टी ने विधायक दल का नेता चुना है. ऐसे में सदन में उन्हें नेता प्रतिपक्ष बनाना चाहिए और अगर बीजेपी की ये मांग पूरी नहीं होती है, तो आंदोलन जारी रहेगा.

उल्लेखनीय है कि बजट सत्र के पहले दिन भी बाबूलाल मरांडी को नेता प्रतिपक्ष बनाये जाने की मांग को लेकर बीजेपी के विधायकों ने जमकर हंगामा किया था. नारेबाजी करते हुए विधायक वेल में आ गये थे. वहीं स्पीकर रवींद्र नाथ महतो ने नेता प्रतिपक्ष के मामले पर कानूनी राय-मशविरा किए जाने की बात कही थी.