About US

5 सालों का सफर, बेबाक और निष्‍पक्ष

ये है हमारी डिजिटल क्रांति

जोहार…

झारखंड में लोकल खबर की डिजिटल क्रांति साल 2017 में शुरू हुई. हम इस अंतरात में जमीनी और निष्‍पक्ष पत्रका‍िरिता की है. डिजिटल व्‍यूअर्स का भरोसा जीता है. इसके लिए लोकल खबर से प्रत्‍यक्ष और अप्रत्‍यक्ष तौर पर जुड़े अनेक लोगों का सहयोग और साथ रहा है.

लोकल खबर के साथ एक बड़ी टीम जुड़ी है. वह है हमारे यूजर्स और व्‍यूअर्स. आपका साथ हमें लाइक्‍स और सब्‍सक्राइबर के तौर पर मिलता है. आपके हर कमेंट हमारे लिए सुझाव होते हैं

डिजिटल क्रांति की इस दौर में हम और हमारी टीम पत्रकारिता की साख को कायम रखते हुए लगातार जुटे हुए हैं. इसके लिए हमारी एक छोटी सी टीम बहुत मेहनत करती है. 

सुभाष शेखर: लोकल खबर के संपादकीय भूमिका में शुरूआत से हैं. डिजिटल प्‍लेटफॉर्म पर प्रकाशित सभी तरह के सामग्रियों के प्रकाशन के लिए जिम्‍मेदार और जवाबदेह हैं.

सचिन दास गोस्‍वामी: लोकल खबर के साथ साल 2022 से जुडे है. टीम के मजबूत स्‍तंभ हैं. जमीनी मुद्दों और पॉलिटिक्‍स के अच्‍छे जानकार हैं और रिपोर्टिंग करते हैं.

पूजा भारती: लोकल खबर की को-फाउंडर रही हैं. टीम मैनेजमेंट और बेबाक रिपोर्टिंग पर महारत हैं. लोकल खबर के सफर में एक मील का पत्‍थर रही हैं.

रबीना आरजू: मैनेजमेंट की स्‍टूडेंट हैं. लोकल खबर के साथ बतौर मार्केटिंग जुड़ीं. खोरठा भाषा में रिपोर्टिंग से लोकल खबर की पहचान बनीं.

काजल मेहता: स्‍थनीय मुद्दों पर बेबाक और निडर रिपोर्टिंग की.

श्रेया रतन: गांव और शहर के मुद्दों को स्‍थानीय भाषा में अपने रिपोर्टिंग के जरिए प्रस्‍तुत किया.

गौरी रानी: पत्रकारिता की पढ़ाई के बाद पहला कदम इन्‍होंने लोकल खबर के साथ रखा. इन्‍होंने बेहतर शुरूआत की.

विभास कुमार: गोस्‍नर कॉलेज से पत्रकारिता की पढ़ाई के बाद लोकल खबर से जुड़े और अपने खास अंदाज में रिपोर्टिंग की.

दीक्षा यादव: पत्रकारिता की पढाई के साथ लोकल खबर के साथ जुड़कर इन्‍होंने न्‍यूज रिपोर्टिंग का अनुभव प्राप्‍त किया.

निधि सहाय: लोकल खबर के साथ शुरूआत के दिनों में निधि आईं. अपनी रिपोर्टिंग से नए पीढी की बात और मुद्दों को पेश किया.

प्रवीण कुमार: गोस्‍नर कॉलेज में पत्रकारिता की पढ़ाई के दौरान इन्‍होंने लोकल खबर सके साथ अनुभव प्राप्‍त किया.

इसके अलावा लोकल खबर को कई लोगों का अप्रत्‍यक्ष तौर पर साथ और सहयोग आशीर्वाद के तौर पर मिलता रहता है.

पत्रकारिता लोकतंत्र का चौथा स्‍तंभ माना जता है. देश और समाज को हमसे बहुत उम्‍मीदें होती हैं. हम उसी भरोसे को बनाये रखते हुए पुरी जिम्‍मेदारी और जवाबदेही का निर्वहन करते है.

Local Khabar Team

Subash Shekhar: Editor in Chief
Ranchi, Jharkhand

Sachin Das Goswami: Senior Journalist

Rabina Arju: Brand and Marketing

Get in touch

Writing

tquwu

What design mentees need
December 2019

How to foster collaboration
November 2019