निजी एम्बुलेंस के व्यावसायिक उपयोग पर लगे रोक

निजी एम्बुलेंस

एम्बुलेंस लैटिन भाषा के शब्द “एम्बुलर”, अर्थात “चलना” है जो प्रारंभिक/आपातकालीन चिकित्सा …

Read Moreनिजी एम्बुलेंस के व्यावसायिक उपयोग पर लगे रोक

Pariksha pe Charcha: आधुनिक तकनीक से शिक्षा के क्षेत्र में क्रांतिकारी बदलाव

आधुनिक तकनीक से शिक्षा के क्षेत्र में क्रांतिकारी बदलाव

हमारी युवा पीढ़ी में सकारात्मक बदलाव के उस दौर का साक्षी बना …

Read MorePariksha pe Charcha: आधुनिक तकनीक से शिक्षा के क्षेत्र में क्रांतिकारी बदलाव

विकेंद्रीकृत नवीकरणीय ऊर्जा आधारित आजीविका के लिए एकीकृत नीति और वित्त पोषण जरूरी

विकेंद्रीकृत नवीकरणीय ऊर्जा आधारित आजीविका के लिए एकीकृत नीति और वित्त पोषण जरूरी

Anand Prabhu Patanjali महामारी की मार के बीच वैश्विक आर्थिक सुधार के …

Read Moreविकेंद्रीकृत नवीकरणीय ऊर्जा आधारित आजीविका के लिए एकीकृत नीति और वित्त पोषण जरूरी

कृषि सुधार विधेयक 2020 से फायदा या नुकसान, बता रहा है जमीन से जुड़ा किसान

कृषि सुधार विधेयक 2020 से फायदा या नुकसान

Arun Kumar लोकतंत्र में दो बातें बहुत मायने रखती हैं, एक सरकारी …

Read Moreकृषि सुधार विधेयक 2020 से फायदा या नुकसान, बता रहा है जमीन से जुड़ा किसान

हाथरस कांड हर चाय की दुकानों में बना यूथ का हॉट टॉपिक

हाथरस कांड हर चाय की दुकानों में बना यूथ का हॉट टॉपिक

अनुसूचित जाति-अनुसूचित जनजाति (अत्याचार-निवारण) संशोधन अधिनियम, 2018 का विरोध करने वाले सवर्ण …

Read Moreहाथरस कांड हर चाय की दुकानों में बना यूथ का हॉट टॉपिक

किसानों की यह कैसी लड़ाई जिसे किसानों का ही समर्थन नहीं ?

किसानों की यह कैसी लड़ाई जिसे किसानों का ही समर्थन नहीं ?

ऐसा पहली बार नहीं है कि सरकार द्वारा लाए गए किसी कानून …

Read Moreकिसानों की यह कैसी लड़ाई जिसे किसानों का ही समर्थन नहीं ?

झारखंड में बाल संरक्षण तंत्र के लिए यह खतरे की घंटी तो नहीं..

क्यों जरूरी है इन बच्चों के बारे में बातें करना! कठिन परिस्थिति …

Read Moreझारखंड में बाल संरक्षण तंत्र के लिए यह खतरे की घंटी तो नहीं..

आत्मनिर्भर भारत- बिना हथियार का युद्ध

आत्मनिर्भर भारत- बिना हथियार का युद्ध

आजकल देश में सोशल मीडिया के विभिन्न मंचों पर चीन को बॉयकॉट करने की मुहिम चल रही है. इससे पहले कोविड 19 के परिणामस्वरूप जब देश की अर्थव्यवस्था पर वैश्वीकरण के दुष्प्रभाव सामने आने लगे थे तो प्रधानमंत्री ने आत्मनिर्भर भारत का मंत्र दिया था.

विश्व बाल श्रम निषेध दिवस: क्या कोरोना संकट में हेमंत सोरेन बचा पाएंगे बाल श्रमिकों की मुस्कान?

विश्व बाल श्रम निषेध दिवस: क्या कोरोना संकट में हेमंत सोरेन बचा पाएंगे बाल श्रमिकों की मुस्कान?

12 जून को हर वर्ष विश्व बाल श्रम निषेध दिवस के रूप में मनाया जाता है, लेकिन कोविड संकट के बीच इसके खास मायने हैं, क्योंकि बाल श्रम एवं दुर्व्यापार के संकट से भी जूझने की चुनौती कम नहीं है.

झारखण्ड: संसाधनों से समृद्धि का मार्ग

झारखण्ड: संसाधनों से समृद्धि का मार्ग

सबसे पहले बात करते हैं, झारखण्ड की अर्थव्यवस्था का आधार कृषि की. झारखण्ड की कुल जनसंखया का 76% जनसंख्या गाँव में निवास करती है और 65% ग्रामीण सीधे कृषि कार्य से जुड़े हैं.