Take a fresh look at your lifestyle.
Browsing Category

Opinion

क्‍या कांग्रेस के डीएनए में है गांधी परिवारवाद?

Subhash Shekhar सबसे पहले बधाई. कांग्रेस को नया अध्‍यक्ष मिल गया है, वह भी गांधी परिवार का. अंतरिम ही सही सोनिया गांधी को कांग्रेस का अध्‍यक्ष फिर से चुन लिया गया है. इसके पहले राहुल गांधी को फिर से कांग्रेस का अध्‍यक्ष बनाने के लिए खूब मनाया गया. कांग्रेस के महासचिव सी वेणुगोपाल ने बताया कि
Read More...

आग का दरिया है गिरिडीह लोकसभा चुनाव और चंद्रप्रकाश को चलकर पार लगाना…

Puskar Mahto गिरिडीह लोकसभा चुनाव 2019 एनडीए प्रत्याशी व आजसू पार्टी के वरीय उपाध्यक्ष जल संसाधन मंत्री चंद्रप्रकाश चौधरी को जीतना आग के दरिया को पार लगाने जैसा होगा. इस चुनौतीपूर्ण स्थिति में उनका साथ निभा रहे हैं आजसू पार्टी के अध्यक्ष व पूर्व उपमुख्यमंत्री सुदेश महतो. लेकिन अगर बात करें…
Read More...

2014 में लूट या 2018 में टूट, 2019 के सामने चुनौतियां

नये बरस का आगाज सवालो के साथ हो रहा है. ऐसे सवाल जो अतीत को खंगाल रहे है और भविष्य का ताना-बाना अतित के साये में ही बुन रहे है. देश लूट या टूट के मझधार में आकर फंसा हुआ है. देश संसदीय राजनीतिक बिसात में मंडल-कमंडल की थ्योरी को पलटने के लिये तैयार बैठा है. देश के सामने आर्थिक चुनौतिया 1991 के आर्थिक…
Read More...

जब सत्ता लोकतंत्र हड़पने पर आमादा हो तब सुप्रीम कोर्ट को ही पहल करनी…

पत्रकार का सवाल. राष्ट्रपति ट्रंप का गुस्सा. पत्रकार को व्हाइट हाउस में घुसने पर प्रतिबंध. मीडिया संस्थान सीएनएन का राष्ट्रपति के फैसले के खिलाफ अदालत जाना. देश भर में मीडिया की आजादी का सवाल उठना. अदालत का पत्रकार के हक में फैसला देना. ये दुनिया के सबसे पुराने लोकतंत्र की परिपक्वता है. पत्रकार का…
Read More...

राष्ट्रीय प्रेस दिवस पर पत्रकारों, पारा शिक्षकों की पिटाई…

आज कल हर दिन कोई न कोई दिवस यानी डे आ जाता है. एक डे जाता नहीं कि दूसरा डे आ जाता है. हर डे की अपनी प्रतिज्ञा होती है और न भूलने की कसमें होती हैं, मगर ये उसी दिन तक के लिए वैलिड होती है. अगले दिन दूसरा डे आता है, पोस्टर बैनर सब बदल जाता है. नए सिरे से प्रतिज्ञा लेनी पड़ती है कि हम इनके आदर्शों को…
Read More...

देश के लिये महत्वपूर्ण है विधानसभा चुनाव से लोकसभा चुनाव तक का रास्ता

किसान की कर्ज माफी और रोजगार से आगे बात अभी भी जा नहीं रही है और बीते ढाई दशक के दौर में चुनावी वादो के जरीये देश के हालात को समझे तो  सडक बिजली पानी पर अब जिन्दगी जीने के हालात भारी पड रहे है. और ऐसे में से सवाल है कि क्या वाकई सत्ता संभालने के लिये बैचेन देश के राजनीतिक दलो के पास कोई वैकल्पिक सोच…
Read More...

चुनाव,सत्ता और लूट के लोकतंत्र का सच है भूख और गरीबी

अगर लोकतंत्र का मतलब चुनाव है तो फिर गरीबी का मतलब चुनावी वादा होगा ही. अगर लोकतंत्र का मतलब सत्ता की लूट है तो फिर नागरिकों के पेट का निवाला छिन कर लोकतंत्र के रईस होने का राग होगा ही. और इसे समझने के लिये 2019 में आजाद होने का इंतजार करने की जरुरत नहीं है. सिर्फ जमीनी सच को समझना होगा, जिसे मोदी…
Read More...

मोदी जी जन्मदिन की बधाई….2019 आप जीत रहे हैं!

पहली तस्वीर....लुटियन्स दिल्ली वीडियो कान्फ्रेंसिंग के जरीये पिछले दिनो प्रधानमंत्री जब सचिवों से सवाल जवाब कर रहे थे, तब किसी सवाल पर एक सचिव अटक गये. और अटके सवाल पर कोई सीधा जवाब जब सचिव महोदय नही दे पाये तो प्रधानमंत्री ने कुछ उखड़कर कहा आप ऐसे ही जवाब 2019 में हमारे चुनाव जीतने के बाद भी देते…
Read More...

” अब्बास भाई….माफ करना आपके दर्द को मैं दुनिया को बता रहा…

नाम -आसिफ, उम्र-25 बरस, शिक्षा-ग्रेजुएट पिता का नाम-अब्बास, उम्र 55 बरस, पेशा-पत्रकार मां का नाम-लक्ष्मी, उम्र 48 बरस, पेशा-पत्रकारिता की शिक्षिका जो नाम लिखे गये हैं, वे सही नहीं हैं. यानी नाम छिपा लिए गये हैं. क्योंकि जिस घटना को मां-बाप ने ये कहकर छिपाया है और बेटे को समझा रहे हैं कि देश…
Read More...

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More