जायडस कैडिला की ‘विराफिन’ को कोरोना के इलाज के लिए मंजूरी

by

New Delhi: भारत में जायडस कैडिल की विराफिन दवा को कोरोना के ईलाज के लिए मंजूरी दे दी गई है. ड्रग्स कंट्रोलर जनरल ऑफ इंडिया ने एक बड़ा फैसला लेते हुए वयस्कों में कोविड-19 (COVID-19) के इलाज के लिए जायडस कैडिला (Zydus Cadila) की विराफिन (Virafin) के आपातकालीन उपयोग को मंजूरी दी है.

इस वक्‍त देश में कोरोना वायरस के मामले लगातार बढ़ रहे हैं. माहौल इमरजेंसी जैसी बन चुकी है. संक्रमण का आंकड़ा दुनिया में सबसे ज्यादा आ रहे हैं.

केंद्र सरकार से लेकर राज्य सरकार अपने-अपने स्तर पर कोरोना वायरसक के बढ़ते संक्रमण को रोकने और निपटने के लिए हर संभव कोशिश करने में जुटी है. भारत में कोरोना वैक्सीनेशन अभियान भी शुरू हो गया है. एक मई से 18 साल से ज्यादा उम्र के लोगों को भी टीका लगना शुरू हो जाएगा.

Read Also  आदिवासियों में होने वाले सिकल सेल आनुवांशिक बीमारी के उन्‍मूलन के लिए मुहिम शुरू

बता दें जायडस कैडिला गुजरात के अहमदाबाद शहर की दवा निर्माता कंपनी है. कंपनी ने कहा है कि Pegylated Interferon Alpha-2b, Virafin के कोरोना पॉजिटिव मरीजों में इमरजेंसी उपयोग में काफी सहायता मिलेगी. जायडस कैडिला ने कहा, हॉस्पिटलों में विराफिन मेडिसिन उपलब्ध कराई जाएगी. यह एक एंटीवायरल दवा है.

देश में लगे 13.5 करोड़ टीके

टीकाकरण अभियान में गुरुवार शाम तक 13.5 करोड़ टीके लगाए जा चुके हैं. केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के अनुसार गुरुवार सुबह 8 बजे तक 13,53,46,729 वैक्सीन लग चुके हैं. जिसमें 92,41,384 स्वास्थ्य कर्मियों को पहली और 59,03,368 कर्मचारियों को दूसरी डोज लगी है. 45 साल से 60 वर्ष की आयु के 4,55,10,426 लोगों को पहली वैक्सीन और 18,91,160 को दूसरी डोज लगी. 60 वर्ष से ऊपर के 4,85,01,906 लोगों को पहली और 64,97,155 को दूसरी वैक्सीन दी गई.

Read Also  कोरोना फाउंडेशन के नाम पर हो रहा है ऑनलाइन ठगी

रेमडेसिविर इंजेक्शन पर एम्स ने कहा

देश के विभिन्न हिस्सों में रेमडेसिविर इंजेक्शन को लेकर मारामारी हो रही है. यहां तक की इसकी कालाबाजारी तक होना शुरू हो गई है. कोरोना संक्रमितों के लिए इसे रामबाण माना जा रहा है. लेकिन एम्स ने इन दावों को खारीज कर दिया है. एम्स ने कोविड मरीजों के इलाज के प्रोटोकाल में बदलाव किए. जिसमें कम गंभीर संक्रमितों के उपचार में रेमडेसिविर का इस्तेमाल नहीं किया जाएगा. इसकी जगह बुडेसोनाइडर इनेहलर का इस्तेमाल होगा.

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.