15 जुलाई को मनाया जाता है विश्‍व युवा कौशल दिवस, जानें महत्‍व | World youth skills day in Hindi

by

15 जुलाई पुरी दुनिया में विश्‍व कौशल दिवास (World youth skills day) मनाया जाता है. इसकी पहल सबसे पहले भारत के पड़ोसी देश श्रीलंका ने शुरू की थी. श्रीलंका के पहल पर ही 15 जुलाई 2014 को संयुक्‍त राष्‍ट्र महासभा ने हर साल विश्‍व युवा कौशल दिवस मनाने का फैसला दिया था.

दोस्‍तों युवा किसी भी देश और समाज के लिए बैकबोन होती है. घर में पूरे परिवार की जिम्‍मादी युवाओं के कंधों पर होती है. ऐसे में किसी भी पिछड़े देश और विकाशशील देश में युवा बेरोजगारी की समस्‍या चिंता का विषय होता है. और इसी बेरोजगारी के चलते युवा अपनी पूरी क्षमता का उपयोग नहीं कर पाते हैं और कम स्किल वाले कामों से समझौता करना पड़ता है.

युवाओं की ऐसी ही परिस्थितियों को देखते हुए श्रीलंका ने 11 नवंबर 20214 को संयुक्‍त राष्‍ट्र महासभा के समक्ष पहल की थी. श्रीलंका के इसी पहल पर संयुक्‍त राष्‍ट्र महासभा द्वारा हर साल 15 जुलाई को विश्‍व युवा कौशल दिवस मनाने का निर्णय लिया गया. इस दिन हर साल युवाओं में कौशल क्षमता को पूरी तरह इस्‍तेमाल करने पर कई प्रयास किये जाते हैं.

विश्‍व युवा कौशल दिवस का महत्‍व (World youth skills day Importants)

अगर हम यह कहें कि भारत युवाओं का देश है, तो गलत नहीं है. देश की कुल आबादी में करीब 46 करोड़ जनसंख्‍या युवाओं की है. लेकिन चिंता का विषय यह है कि कोरोना महामारी के कारण अपने देश में कौशल विकास मिशन के कार्यक्रम बंद पड़े हैं.

कोरोना काल से पहले 3231 युवाओं को कौशन विकास मिशन कार्यक्रम के जरिए ट्रनिंग दी गई थी. इनमें से 2778 युवाओं को रोजगार भी दिया गया. लेकिन अब इस योजना के दोबारा शुरू होने पर कोरोना संकट का साया है.

बता दें कि कौशल विभाग के तहत 14 से 35 साल के युवओं को ट्रेनिंग दिया जाता है. उसके बाद प्रशिक्षित युवाओं को रोजगार उपलब्‍ध कराया जाता है. इससे उन युवाओं की आय भी बढ़ जाती है.

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.