विश्‍व योग दिवस: रांची में पीएम मोदी के संग मोटू-पतलू ने किया योग

by

Ranchi: कॉमिक कैरेक्‍टर मोटू-पतलू को तो सभी जानते हैं. मोटू-पतलू ने विश्‍व योग दिवस के मौके पर रांची में पीएम मोदी के संग योग किया.

विश्‍व योग दिवस पर रांची के मुख्‍य आयोजन स्‍थल प्रभात तारा मैदान में मोटू-पतलू आकर्षण के केंद्र रहे. मोटू-पतलू ने यहां प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ योग किया.

यहां बच्‍चों के लोकप्रिय कार्टून कैरेक्‍टर मोटू-पतलू के गेटअप पर योगाभ्‍यास कराया गया. ताकि बच्‍चों में योग के प्रति जागरूकता और रूचि बढ़ सके.  इसका वीडियो और फोटो भी प्रेस इंफॉरमेशन ब्‍यूरो की ओर से जारी किया गया है.

दुनियाभर में आज योग दिवस मनाया जा रहा है. पूरे देशभर में अलग-अलग जगहों पर लाखों लोग योग कर रहे हैं. पीएम नरेंद्र मोदी रांची के प्रभात तारा मैदान में हजारों लोगों के साथ योग करने पहुंचे. अंतराष्ट्रीय योग दिवस की शुरुआत 2014 में हुई थी. संयुक्त राष्ट्र की घोषणा के बाद हर साल 21 जून को International Yoga Day मनाया जाता है.

रांची के तारा ग्राउंड में पीएम मोदी पहुंचे हैं. यहां वो 40 हजार लोगों के साथ योग करने वाले हैं. योग से पहले पीएम मोदी ने लोगों को संबोधित किया.

रांची के धुर्वा स्थित प्रभात तारा मैदान में हो रहे योगाभ्यास के दौरान प्रधानंत्री मोदी ने सबसे पहले अंतरराष्ट्रीय योग दिवस की शुभकामनाएं दीं. उन्होंने कहा कि योग दिवस को इस स्तर तक पहुंचाने में मीडिया और सोशल मीडिया से जुड़े लोगों की सराहना की. उन्होंने कहा कि जिस तरह सोशल मीडिया से जुड़े लोग योग से जुड़ी जानकारी लोगों तक पहुंचाते हैं वह महत्वपूर्ण है. मैं सभी लोगों का आभार व्यवक्त करता हूं.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि मुझे आधुनिक योग की अब शहर से गांव की ओर ले जाना है. हमें संकल्प करना होगा कि हम योग को गरीब और आदिवासी के घर तक ले जाएं. योग जब गरीब और आदिवासी के जीवन का अभिन्न हिस्सा बन जाएगा तो हर देश का हर व्यक्ति स्वस्थ होगा. उन्होंने कहा कि गरीब ही है जो बीमारी की वजह से सबसे ज्यादा कष्ट उठाता है.

इलनेस के बचाव के साथ वेलनेस पर फोकस

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि आज के बदलते दौरान में जरूरी है कि हर इंसान इलनेस से बचाव के साथ-साथ वेलनेस पर फोकस करे. योग से हमें हर तरह की शक्ति मिलती है. यही भावना योग की है, पुरातन भारतीय दर्शन की है. योग सिर्फ तभी नहीं होता जब हम आधा घंटा जमीन या मैट पर होते हैं.

योग अनुशासन है, समर्पण है

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि योग आयु, रंग, जाति, संप्रदाय, मत, पंथ, अमीरी-गरीबी, प्रांत, सरहद के भेद से परे है. योग अनुशासन है, समर्पण हैं, और इसका पालन अपने पूरे जीवन में करना चाहिए. योग सबका है और सब योग के हैं.

ड्रॉइंग रूम से बोर्ड रूम तक फैल चुका है योग

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि आज दुनिया में जिस तरह से योग के प्रति लोग जागरूक हुए हैं तो हम कह सकते हैं कि योग के प्रति जागरूकता हर कोने तक, हर वर्ग तक पहुंची है. ड्रॉइंग रूम्स से बोर्ड रूम्स तक, शहरों के पार्क्स से लेकर स्पॉर्ट्स कॉम्प्लेक्स तक, गली-कूचों से वेलनेस सेंटर्स तक आज चारों तरफ योग को अनुभव किया जा सकता है.

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.