झारखंड ग्लोबल स्किल समिट 2019: 100000 युवाओं को नौकरी देकर बना वर्ल्ड रिकॉर्ड

Ranchi: झारखंड ग्लोबल स्किल समिट- 2019 के आयोजन में 100000 युवओं को नौकरी देकर वर्ल्ड रिकॉर्ड बनाने का दावा किया गया है. इस समारोह का राज्यपाल द्रौपदी मुर्मू, मुख्यमंत्री रघुवर दास, केंद्रीय मंत्री धर्मेंद्र प्रधान, मंत्री नीरा यादव, मंत्री राज पलिवार, मंत्री लुईस मरांडी, केंद्रीय राज्य मंत्री सुदर्शन भगत, कई देशों से आए डेलिगेट्स ने दीप प्रज्वलित कर उद्घाटन किया.
खेलगांव के बिरसा मुंडा एथलेटिक्स स्टेडियम में आयोजित झारखंड ग्लोबल स्किल समिट में एक लाख युवाओं को रोजगार का अवसर प्रदान किया गया. इस दौरान मुख्यमंत्री रघुवर दास ने छह कौशल विकास केंद्र का किया ऑनलाइन उद्घाटन किया. जो कोडरमा, पलामू, जामताड़ा, लोहरदगा और रांची में खुलेंगे. मौके पर 10 युवक-युवतियों को नियुक्ति पत्र दिया गया. 11 लाख तक का पैकेज मिला.
केंद्रीय मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने अपने संबोधन में कहा कि दुबई में 2020 तक पचास हजार ड्राइवर की जरुरत है. झारखंड से दस हजार ड्राइवर भेजने की हो रही है तैयारी. वहां बायीं तरफ स्टेयरिंग होती है. इसकी ट्रेनिंग दी जाएगी. वियतनाम के बराबर है झारखंड. अमेरिका, फ्रांस, जापान से युद्ध लड़ने के बाद भी वियतनाम आज टेक्सटाइल के क्षेत्र में अग्रणी देशों में शुमार है. झारखंड में भी विकसित होने की पूरी क्षमता है.

सीएम रघुवर दास ने अपने संबोधन में कहा कि 8 साल तक उन्होंने टाटा में मजदूरी की. लेकिन स्किल की ट्रेनिंग नहीं लेने के कारण नौकरी स्थायी नहीं हुई. इसलिए हुनरमंद होना जरूरी है.
मुख्यमंत्री रघुवर दास ने कहा कि युवाओं से राजनीतिक दलों ने सिर्फ झंडा ढुलवाया है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आजादी के इतने वर्षों बाद कौशल विकास मंत्रालय बनाया. दस वर्ष के भीतर झारखंड दुनिया के विकसित देशों की तरह बनेगा.

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.