महिला ने दो लाख रुपये के इनामी नक्सली को मार गिराया

by

Gumla: पीएलएफआई के हार्डकोर नक्सली और दो लाख के इनामी पीएलएफआई के सबजोनल कमांडर बसंत गोप को टांगी से प्रहार कर एक महिला ने मार डाला. घटना वृंदा नायक टोली में मंगलवार की रात हुई. बसंत गोप पिछले करीब एक दशक से गुमला में आतंक का पर्याय बना हुआ था. महिला की बहादुरी की ग्रामीण सराहना कर रहे हैं. पुलिस ने बसंत का शव बरामद कर लिया है.

नरसंहार के इरादे से बोला था धावा

वृंदा नायक टोली के ग्रामीणों ने बताया कि वृंदा गांव के ही महुआटोली के रहनेवाले उग्रवादी बंसत गोप ने मंगलवार की रात करीब साढ़े आठ बजे अपने छह-साथ साथियों के साथ नायकटोली स्थित विनीता उरांव के घर पर धावा बोला. वे कहते जा रहे थे कि आज भीम उरांव (विनीता के पति) के घर के सबको पूजेंगे.

भीम उरांव के घर पहुंचकर नक्सलियों ने फायरिंग करते हुए दरवाजा खोलने को कहा. इससे घर के लोग भयभीत हो गए. विनीता ने साहस दिखाते हुए पति और बच्चों को सुरक्षित किया और खुद टांगी लेकर दरवाजा खोल दिया.

इसके बाद जैसे ही बंसत गोप घर के भीतर दाखिल हुआ विनीता ने पूरे दम के साथ टांगी से उसकी छाती पर प्रहार कर दिया. उसने इसके बाद उस पर कई वार किये. बसंत के साथ आए नक्सलियों को ऐसे भयानक पलटवार की आशा नहीं थी. अचानक हुए हमले में अपने सरगना को गिरा देख वे सकपका गए उसे उठाकर भाग निकले.

भोर में पुलिस को घटना की जानकारी मिली तो गांव में कैंप कर बसंत की तलाश शुरू की गई. दोपहर बाद जंगल के बसंत का शव पाया गया.

2011 में हुई थी वसंत के चार परिजनों की हत्या

वर्चस्व और प्रतिशोध की लड़ाई में जनवरी 2011 बसंत गोप के परिवार के चार सदस्यों की नृशंस हत्या कर दी गयी थी. इसके बाद भी उसने उग्रवाद की राह नहीं छोड़ी और जिले में अपराधिक तथा नक्सली वारदातों को अंजाम देता रहा. उसके मारे जाने से वृंदा नायक टोली और इसके आसपास के ग्रामीणों में खुशी की लहर है.

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.