विंग कमांडर अभिनंदन ने वायुसेना प्रमुख के साथ मिग-21 में भरी उड़ान

by

Pathankot: पाकिस्तान के F-16 लड़ाकू विमान को गिराने वाले विंग कमांडर अभिनंदन वर्तमान की आखिरकार आसमान में वापसी हो गई. पाकिस्तान की हिरासत से छूटने के छह महीने बाद सोमवार को इस जाबांज पायलट ने वायुसेना प्रमुख बीएस धनोआ के साथ मिग-21 में उड़ान भरी.

नये लुक में दिखे अभिनंदन वर्धमान

इस दौरान अभिनंदन नये लुक में नजर आये. आपको याद होगा भारतीय वायुसेना के जांबाज विंग कमांडर अभिनंदन वर्धमान की मूंछ सोशल मीडिया में काफी वायरल हुई थीं. हर कोई उनकी तरह मूंछ रखने की होड़ सी मच गई थी. इसी बीच अभिनंदन की मूंछ का नया लुक सामने आया है.

27 फरवरी को विंग कमांडर अभिनंदन भारतीय और पाकिस्तानी वायुसेना के लड़ाकू विमानों के बीच झड़प हुई थी. जिसके कारण विंग कमांडर पाकिस्तानी सरजमीं पर पहुंच गए थे, जिसके बाद पाकिस्तान ने उन्हें हिरासत में लिया था.

अभिनंदन को वीर चक्र का सम्‍मान

बालाकोट एयर स्ट्राइक के बाद पाकिस्तानी विमानों को खदेड़ने और F-16 जैसे अत्याधुनिक लड़ाकू विमान को मार गिराने वाले अभिनंदन को स्वतंत्रता दिवस पर वीर चक्र से सम्मानित किया गया था. 

बुधवार को पठानकोट एयरबेस से विंग कमांडर अभिनंदन वर्तमान ने मिग-21 के ट्रेनर वर्जन के जरिए आसमान में अपनी वापसी की. बड़ी बात यह है कि इस अहम मौके पर उनका उत्साह बढ़ाने के लिए वायुसेना प्रमुख धनोआ भी विमान में मौजूद रहे. धनोआ भी मिग-21 के पायलट रह चुके हैं. उन्होंने करगिल युद्ध के समय 17 स्क्वैड्रन की कमान संभालते हुए यह विमान उड़ाया था. 

मेडिकल फिटनेस के बाद भरी पहली उड़ान 

बालाकोट एयरस्ट्राइक के बाद भारत और पाकिस्तान के बीच तनाव के दौरान विंग कमांडर अभिनंदन एक बड़ा चेहरा बने थे. अभिनंदन के भारत लौटने के बाद उनके दोबारा विमान उड़ाने पर सस्पेंस बन गया था. हालंकि तब एयरफोर्स चीफ धनोआ ने साफ किया था कि मेडिकल फिटनेस के बाद अभिनंदन दोबारा विमान उड़ाएंगे. पिछले महीने आईएएफ बेंगलुरु के इंस्टिट्यूट ऑफ ऐरोस्पेस मेडिसिन ने अभिनंदन वर्तमान को दोबारा उड़ान भरने की मंजूरी दे दी थी. इस मंजूरी से पहले उनकी मेडिकल जांच की गई और वह इस जांच में पूरी तरह पास हो गए. 

याद रहे कि 14 फरवरी को पुलवामा में हुए आतंकी हमले में सीआरपीएफ के 40 से ज्यादा जवान शहीद हो गए थे. भारत ने उसका बदला पाकिस्तान के बालाकोट में एयर स्ट्राइक कर लिया. 27 फरवरी को भारतीय सीमा में घुस आए पाकिस्तान के लड़ाकू विमानों का मिग-21 बाइसन से पीछा करते हुए अभिनंदन एलओसी पार कर गए थे और पाकिस्तानी फाइटर प्लेन F-16 को मार गिराया था. 

इस दौरान उनका विमान क्रैश हो गया था और वह पैराशूट से नीचे उतरे थे, लेकिन पाकिस्तानी कब्जे वाले कश्मीर में उतरने के चलते वह पाक सेना की कैद में पहुंच गए थे. वर्तमान को जब पाकिस्तानी सेना ने पकड़ा था तब उन्होंने अदम्य साहस का परिचय दिया, जिसकी आज भी तारीफ की जाती है. उन्हें इसके लिए स्वतंत्रता दिवस पर वीर चक्र से सम्मानित किया गया था. 

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.