झारखंड में हाथियों का तांडव, रांची के लापुंग में चार लोगों को कुचल कर मार डाला

by

Ranchi: झारखंड में जंगलों से निकले हाथी गांवों में घुसकर कहर बरपा रहे हैं. लापुंग प्रखंड में एक जंगली हाथी ने चार लोगों को कुचलकर मार डाला. वहीं, हाथी ने दो लोगों को जख्मी कर दिया.  मरने वालों में एक महिला सुषमा खलखो, उसकी बेटा विरल खलखो, सुको उरांव और फगुआ उरांव शामिल हैं. वहीं, घायलों में फकरी पाहन व बिरसा उरांव शामिल हैं.

इस दौरान हाथी ने एक मिट्टी की चारदीवारी को भी तोड़ डाला.

रविवार की सुबह करीब पांच बजे एक हाथी लापुंग प्रखंड के खटंगा सरनाटोली में अचानक पहुंच गया. पहले उसने एक घर की चारदीवारी को तोड़ा. उसके बाद सुषमा खलखो और उसके ढाई वर्षीय बेटे विरल खलखो को कुचलकर मार डाला.

Read Also  झारखंड में अब अपराध से जुड़े सुराग और सबूतों की ऑन द स्‍पॉट होगी जांच

फिर हाथी एक घर के पास पहुंचा. बच्चा आंगन में खेल रहा था. हाथी को देखकर महिला बच्चे को लेकर घर के पीछे भागने लगी. पर हाथी ने उसे दौड़ाया और कुचलकर मार डाला.

मां-बेटे को मारने के बाद हाथी नदी की तरफ बढ़ गया. कुछ देर बाद हाथी फिर उसी घर में वापस आ धमका. इसके बाद वहां जुटे ग्रामीण हाथी को भगाने लगे.

भागने के क्रम में ही हाथी ने रास्ते से गुजर रहे ठकरी पाहन और बिरसा उरांव को बुरी तरह घायल कर दिया.

इसके बाद वहां से दौड़ते हुए हाथी तेतरा सेमरटोली पहुंच गया. यहां आम के बगीचे में आम चुन रही सुको उरांव को भी कुचलकर मार डाला. इसके बाद बाद हाथी कुरकुरिया जंगल में घुस गया.

Read Also  मिसाइल से भी ज्‍यादा खतरनाक इन गांवों के नाम

इसके बाद दोपहर के करीब एक बजे शकरपुर के बाहर फगुआ उरांव का शव मिला. बताया जाता है कि हाथी ने भागने के क्रम में उसकी भी जान ले ली. हाथी के उत्पात से पूरे प्रखंड में दहशत का माहौल है.

पिछले कई महीनों से पूरे प्रखंड में हाथी उत्पात मचा रहे हैं, पर वन विभाग मौन साधे हुए है. इससे ग्रामीणों में विभाग के प्रति आक्रोश है.

प्रखंड में हाथी द्वारा चार लोगों के मारे जाने की सूचना पर वन विभाग के अधिकारी गांव पहुंचे और हालात का जायजा लिया. साथ ही हाथियों के बचाने का आश्वासन दिया. गांव पहुंचने वालों में लापुंग थाना प्रभारी विकास कुमार, बेड़ो रेंजर रामाशीष सिंह, कर्रा प्रखंड के रेंजर केके राय सहित कई वनपाल थे.

Read Also  मिसाइल से भी ज्‍यादा खतरनाक इन गांवों के नाम

घटना की सूचना पाकर पूर्व मंत्री बंधु तिर्की भी मृतक के घर पहुंचे और परिजनों को ढांढस बंधाया. साथ ही तेतरा सेमरटोली में मृतका सुको उराईन के शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजवाया.

इनके अलावा जिप सदस्य बांदे हेरेंज, ककरिया पंचायत मुखिया बिरसमनी देवी, लतरातु पंचायत के पूर्व मुखिया संतोष तिर्की, समाजसेवी देवेंद्र वर्मा, सुमित कुमार, प्रकाश गुप्ता, शिवनारायन वर्मा सहित कई राजनीतिक दलों के नेताओं ने परिजनों को ढांढस बंधाया.

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.