Take a fresh look at your lifestyle.

क्‍यों JVM के लिए खास है Godda लोकसभा सीट

0

Ranchi: झारखंड विकास मोर्चा (JVM) के लिए गोड्डा लोकसभा सीट नाक का सवाल बन गया है. किसी भी कीमत पर पार्टी यह सीट छोड़ना नहीं चाहती. जेवीएम सुप्रीमो बाबूलाल मरांडी से मुलाकात के बाद कांग्रेस के नेता सुबोधकांत सहाय ने हैरान करने वाली बात कह डाली. उनहोंने कहा है कि बाबूलाल मरांडी चुनाव नहीं लड़ें, यह सोचा भी नहीं जा सकता.

newsaroma_img_8_2_2019_15_12_45

गुरुवार को बाबूलाल मरांडी ने दो टूक कहा था कि जेवीएम को गोड्डा सीट हर हाल में चाहिए और इसके लिए वह अपनी सीट कोडरमा सीट छोड़ देंगे.

बाबूलाल मरांडी के लिए कोडरमा से चुनाव लड़ने को लेकर विपक्ष पहले से सहमत है. लेकिन, विपक्षी दलों के बीच समीकरणों और सीटों को लेकर जो ताजा जिच है उसमें मरांडी ने कहा है कि गोड्डा सीट पर प्रदीप यादव ही लड़ेंगे. इसके बदले वे कोडरमा सीट छोड़ देंगे. बाबूलाल की दो टूक के बाद कांग्रेस के कान खड़े हो गये हैं.

गोड्डा और प्रदीप यादव का कनेक्‍शन

गोड्डा सीट अभी बीजेपी के कब्जे में है. उससे पहले 2009 में भी बीजेपी ने गोड्डा का चुनाव जीता था. कांग्रेस अपने पूर्व सांसद फुरकान अंसारी के लिए यह सीट छोड़ना नहीं चाहती और गोड्डा जिले में पोड़ेयाहाट से जेवीएम विधायक प्रदीप यादव भी इस सीट पर चुनाव लड़ने की तैयारी कर रहे हैं.

गोड्डा में प्रदीप यादव ने अडानी पावर प्‍लांट के खिलाफ आंदोलन के जरिये अपनी मजबूत जमीन तैयार की है. प्रदीप यादव अडाणी पावर प्लांट के खिलाफ सत्याग्रह धरने में बैठे थे. अनशन शुरू कर दी थी.

Adani-Plant-in-jharkhand.jpg

 

अनिश्चितकालीन सत्याग्रह के छठे दिन विधायक प्रदीप यादव के मेडिकल रिपोर्ट के साथ डीडीसी मुकुंद दास, सीएस डॉ प्रवीण राम पहुंचे. इनलोगों ने प्रदीप यादव के स्वास्थ्य पर चिंता व्यक्त की और उसने रिम्स चलने का अनुरोध किया.

तब प्रदीप यादव ने कहा कि हमदर्दी पर खुशी है. लेकिन, जिला प्रशासन की जांच रिपोर्ट को सही नहीं मानता हूं. क्रॉस एक्जामिन करेंगे. मेरी इतनी भी खराब हालत नहीं है. अभी 15 किमी चल सकता हूं.

उन्‍होंने कहा मुझे सलाखों के पीछे जाने की चिंता नहीं है. आंदोलन में हूं. सभी साथ हैं. सत्याग्रह में संकल्पित हूं. अच्छा होगा कि मेरी जान यहीं जाये. बगल में समाधि बन जाने पर कम-से-कम अडाणी का पावर प्लांट तो नहीं लग पायेगा. मेरी अरथी तिरंगे से लिपटी यहां से निकलेगी. डीडीसी से बात करते विधायक प्रदीप यादव फफक-फफक कर रो पड़े.

फिर प्रदीप यादव को सातवें दिन तड़के साढ़े चार बजे गिरफ्तार कर लिया गया था. जेल जाने के बाद अनशन किया. वहां प्रदीप यादव की तबीयत बिगड़ गयी थी. प्रदीप यादव को मंडल कारा के वार्ड नंबर पांच में शिफ्ट कर दिया गया था.

किसी भी कीमत पर समझौता नहीं

पार्टी के प्रवक्ता अजीज ए मुबारकी ने कहा है कि गोड्डा और कोडरमा सीट से समझौता करने का सवाल ही नहीं होता. अजीजी का कहना है कि जेवीएम विपक्षी दलों में गठबंधन का शुरू से हिमायती रहा है और बाबूलाल मरांडी तथा प्रदीप यादव आगे बढ़कर हर दल के नेताओं से बात करते रहे हैं. जेवीएम का एक ही उद्देश्य है झारखंड में बीजेपी को हराना.

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More