सीएम साहब आखिर कब थमेगी झारखंड में रेप की घटनाएं?

by

Baranwal Nitishraj

Ranchi:झारखंड में लगातार रेप की घटनाएं तेजी से बढ़ती जा रही है.  दिल्ली के निर्भया और यूपी की दामिनी की घटना के बाद कई कठोर कानून बने वे सभी कानून एक डायरी में लिखे दस्तावेज की तरह म्यूजियम में संग्रह कर ली गई. क्योंकि अभी तक जितने कानून बने उनमें से किसी कानून का ख़ौफ़ उन वहशी दरिंदों के चेहरे पर नहीं दिखी, जो अब तक हिरासत में लिए गए या जो इस तरह की घटना को अंजाम दिया है. सबसे बड़ा प्रश्न है कि आखिर झारखंड की घटनाएं राष्ट्रीय मीडिया पटल पर क्यों नहीं आ पाती है. कई बार तो  रेप की घटनाएं पुलिस की खाता-बही में दर्ज भी नहीं हो पाता है.

सबसे आश्चर्य की बात ये कि देश में कानून बनाने वाले विधायक और मंत्री रेप की घटनाओं पर उलूल जुलूल बयान देते नहीं थकते और घटनाओं का ठीकरा महिलाओं पर फोड़  देते हैं. वहीं राजनीतिक पार्टियां अपनी राजनीतिक रोटियां सेंकने से बाज नहीं आती है. चाहे पक्ष हो या विपक्ष सभी पार्टियां अपनी अपनी रोटियां सिर्फ से सेकना जानती है.

Read Also  25 जनवरी 2021 को राष्ट्रीय मतदाता दिवस: रांची उपायुक्त ने दिए आवश्यक निर्देश

एनसीआरबी का डेटा बताता है कि 2018 के मुकाबले, 2019 में महिलाओं के खिलाफ अपराध 7.3% तक बढ़ा.

4 लाख 5 हजार 861. ये पिछले साल, 2019 में भारत में महिलाओं के खिलाफ हुए अपराध का आकंड़ा है. 29 सितंबर को नेशनल क्राइम रिकॉर्ड ब्यूरो (नकर्ब) के डेटा ‘क्राइम इन इंडिया’ में ये खुलासा हुआ है. महिलाओं के खिलाफ अपराध का ये डेटा उसी दिन आया, जिस दिन हाथरस गैंगरेप पीड़िता ने 15 दिनों तक लड़ने के बाद दम तोड़ दिया.

डेटा के मुताबिक, भारत में 2019 में रोजाना औसतन 87 रेप के मामले दर्ज किए गए.

झारखंड के चर्चित घटनाएं

5 फरवरी 2020 : रामगढ़ के महुबना गांव में बच्ची के साथ हुई दुष्कर्म की घटना

Read Also  झारखंड में बिजली कर्मचारियों के बकाया वेतन के लिए हड़ताल का ऐलान

04 अगस्त 2020:  गढ़वा में रक्षाबंधन के दिन दो नाबालिग बच्चियों के साथ दुष्कर्म का मामला सामने आया है. इस पहले भी दो नाबालिग बच्चियों के साथ 12 लोगों ने जंगल में गैंगरेप की घटना को अंजाम दिया था.

10 अक्टूबर  2020 : जमशेदपुर पिस्तौल की नोक पर 5 आरोपियों ने नाबालिग युवती के साथ किया बलात्कार

16 अक्टूबर 2020 : दुमका जिले के रामगढ़ इलाके में 5वीं कक्षा की छात्रा ट्यूशन पढ़ने निकली थी. दोपहर में झाड़ी से उसका शव बरामद किया गया.

25अक्टूबर 2020: साहिबगंज  जिले में मिर्जा चैकी थानांतर्गत एक गांव की 17 वर्षीय नाबालिग आदिवासी लड़की के साथ आधा दर्जन युवकों ने बृहस्पतिवार को सामूहिक दुष्कर्म  किया, जिसकी शिकायत पर कार्रवाई करते हुए पुलिस ने सभी छह आरोपियों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया.

Read Also  उग्रवाद नियंत्रण के लिये प्रतिबद्ध झारखंड सरकार, 173 नक्सलियों के विरुद्ध पुरस्कार की राशि प्रभावी

9 नवम्बर 2020 : जमशेदपुर (जमशेदपुर) जिले में एक बड़ी खबर सामने आई है. यहां के परसुडीह थाना (पारसूदीह पोलीस श्ततिओन) क्षेत्र स्थित एक कॉलोनी में 12 साल के लड़के के तीन साल की बच्ची के साथ कथित तौर पर दुष्कर्म (रेप) किया है.

10  दिसम्बर , 2020: दुमका जिले में इंसानियत को शर्मसार करने का मामला सामने आया जहाँ 17 लोगों द्वारा महिला से गैंगरेप उसके पति के सामने किया गया. 

हाल की घटनाओं पर नज़र डाले तो यह सोचने पर विवश होने को मजबूर करता है क़ि लोगों की मानसिकता किस और जा रही है. आख़िर हम इन सारी घटनाओं पर ज़िम्मेवार किसे ठहराएं.

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.