Nirbhaya Case के दोषियों को कब मिलेगी फांसी, आज तय करेगा कोर्ट

by

New Delhi: निर्भया (Nirbhaya) के दोषियों को फांसी कब मिलेगी, इसकी तारीख आज कोर्ट तय करेगी. दोषियों के पास बचाव के सारे विकल्‍प खत्‍म हो गये हैं. अब फांसी के तारीख के ऐलान का इंतजार है, जो कोर्ट सुनाएगी. निर्भया के दरिंदों में से एक पवन कुमार गुप्ता (Pawan Kumar Gupta) की दया याचिका राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद (President Ramnath Kovind) ने बुधवार को खारिज कर दी. इसी के साथ चारों दरिंदों पवन गुप्ता, अक्षय ठाकुर, विनय शर्मा और मुकेश सिंह के सभी विकल्प खत्म हो चुके हैं.

ऐसे में तिहाड़ जेल प्रशासन (Tihar Jail) ने फांसी की नई तारीख के लिए पटियाला हाउस कोर्ट (Patiala House Court)में अर्जी लगा दी, इस पर आज दिन में दो बजे सुनवाई होगी, गौरतलब है कि पहले ही निर्भया के दोषियों की फांसी तीन बार टल चुकी है.

Read Also  कोरोना टीकाकरण के लिए केंद्र सरकार ने जारी किया गाइडलाइन, कहा- ये लोग टीका लगवाने से बचें

मामले के चारों दोषियों की अपील, पुनर्विचार याचिका, क्यूरेटिव पिटिशन और दया याचिका का निपटारा हो चुका है. यानि चारों दोषियों के सभी कानूनी अधिकार का इस्तेमाल हो चुका है और इनके पास अब कोई विकल्प नहीं बचा है.

बता दें कि पवन की दया याचिका लंबित होने के चलते ही तीन मार्च को होने वाली फांसी टल गई थी. इस बीच निर्भया के परिवार वाले की ओर से वकील सीमा कुशवाहा ने बताया कि चारों दोषिय़ों ने अपने कानूनी अधिकारों का इस्तेमाल कर लिया है. अब जो तारीख तय होगी, वो आखिरी होगी, इसके बाद उनके पास कोई विकल्प नहीं बचेगा.

हालांकि, अक्षय ने भी नई दया याचिका राष्ट्रपति को राष्ट्रपति को भेजी है, जिसके पीछे दलील दी गई है कि पहली दया याचिका में पर्याप्त तथ्य नहीं थे. वहीं, पवन के मामले में सुप्रीम कोर्ट ने सोमवार को सुधारात्मक याचिका पहले ही खारिज कर दी थी.

Read Also  सदर अस्प‍ताल रांची से शुरू हुई झारखंड में कोरोना वैक्सीनेशन, हेमंत सोरेन ने कहा- वरदान साबित होगा

इसके बाद पवन के पास सिर्फ दया याचिका का विकल्प ही बचा था. नियमों के अनुसार दया याचिका खारिज होने के बाद भी दोषी को फांसी पर लटकाने से पहले 14 दिन का वक्त मिलता है. इससे पहले दोषियों की फांसी तीन बार 22 जनवरी, एक फरवरी और तीन मार्च को टल चुकी है.

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.