बजट 2021 में क्या खास है, जाने वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण के बजट भाषण की ताजा अपडेट से

by

New Delhi: वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने सदन में देश का आम बजट 2021 पेश कर दिया है. वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण लोकसभा में बजट भाषण पढ़ रही हैं. बजट भाषण पढ़ते हुए वित्त मंत्री सीतारमण ने बताया कि सरकार ने मई में 5 मिनी बजट पेश किए, आत्मनिर्भर पैकेज GDP का 13 फीसदी हिस्सा है. गरीबों के लिए सरकार गरीब कल्याण योजना लेकर आई. लॉकडाउन में PMGKY योजना लेकर लाई गई. 80 करोड़ लोगों को मुफ्त में अनाज मिला. यह इस दशक का पहला बजट है.

Read Also  सोनिया-राहुल संग बैठक में भाग लिये झारखंड कांग्रेस के बड़े नेता, 1 नवंबर से व्‍यापक सदस्‍यता अभियान चलाएंगे

कोरोना संकट काल में अर्थव्यवस्था की रुकी रफ्तार को फिर से बढ़ाने के लिए इस बजट पर हर किसी की नजरें हैं.

बजट 2021 की बड़ी बातें- ताजा अपडेट (Budget 2021 Live Update)

आत्मानिर्भर भारत पैकेज की घोषणा की

मई 2020 में, गवर्नमेंट ने आत्मानिर्भर भारत पैकेज की घोषणा की, रिकवरी को बनाए रखने के लिए हमने दो और आत्मानिर्भर पैकेजों की शुरुआत की. RBI द्वारा किए गए उपायों सहित सभी पैकेजों का कुल वित्तीय प्रभाव लगभग 27.1 लाख करोड़ रुपये होने का अनुमान था.

भारत के पास कोरोन के 2 टीके उपलब्ध हैं

आज भारत के पास 2 टीके उपलब्ध हैं और उसने न केवल अपने नागरिकों को ही नहीं बल्कि 100 या उससे अधिक देशों को वैक्सीन देना शुरू कर दिया है. जल्द ही 2 और टीके भी मिलने की उम्मीद है.

सरकार ने गरीबों के लाभ के लिए संसाधनों को बढ़ाया

सरकार ने सबसे गरीब लोगों के लाभ के लिए अपने संसाधनों को बढ़ाया. पीएम गरीब कल्याण योजना, तीन आत्मनिर्भर भारत पैकेज और उसके बाद की घोषणाएं अपने आप में पांच मिनी बजट की तरह थीं.

Read Also  आर्यन खान कब जेल से बाहर आएंगे, आज बॉम्‍बे हाईकोर्ट करेगा फैसला

दो या तीन और वैक्सीन्स जल्द आएंगी

कोविड का मुकाबला करने के लिए जीडीपी का 13 फीसदी खर्च हुआ. दो या तीन और वैक्सीन्स जल्द आएंगी.

आत्मनिर्भर पैकेज ने रिफॉर्म को आगे बढ़ाया

पीएम मोदी ने गरीब तबकों के लिए खजाना खोले रखा. प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना, आत्मनिर्भर योजना मिनी बजट की तरह ही है. आत्मनिर्भर पैकेज ने रिफॉर्म को आगे बढ़ाया. वन नेशन, वन राशन कार्ड, प्रोडक्शन लिंक्ड इनसेंटिव, फेसलेस इनकम टैक्स असेसमेंट जैसे सुधार आगे बढ़ाए गए.

देश की बुनियाद को डिगने नहीं दिया

मैं सदन के सभी सदस्यों की तरफ से इन लोगों को धन्यवाद देती हूं जिन्होंने देश की बुनियाद को डिगने नहीं दिया. विधानसभा और संसद सदस्यों ने सैलरी दे दी. हमने आत्मनिर्भर पैकेज दिए. इस पर 27.1 लाख करोड़ रुपए दिए जो जीडीपी का 13 प्रतिशत है.

लॉकडाउन के दौरान प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना शुरू की

तीन हफ्ते के कंपलीट लॉकडाउन के दौरान प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना शुरू की गई. इससे 80 करोड़ लोगों को फायदा मिला. आठ करोड़ परिवारों को मुफ्त गैस सिलिंडर मिला. बड़ी आबादी घर में थी. इसके बावजूद हेल्थ वर्कर, बैंक वर्कर, बिजली वाले, हमारे अन्नदाता और जवान नॉर्मल तरीके से काम करते रहे.

Read Also  आर्यन खान कब जेल से बाहर आएंगे, आज बॉम्‍बे हाईकोर्ट करेगा फैसला

ऐसा बजट पहले कभी नहीं बना

जिस तरह से इस बार बजट बनाया गया वैसा पहले कभी नहीं हुआ, ये एक बड़ी चुनौती थी. पिछली बार जब हम बजट पेश कर रहे थे तब ये पता नहीं था कि ग्लोबल इकॉनमी कहां जाने वाली है. हमने ये कल्पना नहीं की थी कि हम हेल्थ संकट की तरफ बढ़ रहे हैं.

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने संसद में 2021-22 का बजट पेश किया

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने सदन में देश का आम बजट 2021 पेश कर दिया है. वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण लोकसभा में बजट भाषण पढ़ रही हैं. कोरोना संकट काल में अर्थव्यवस्था की रुकी रफ्तार को फिर से बढ़ाने के लिए इस बजट पर हर किसी की नजरें हैं.

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.