Take a fresh look at your lifestyle.

क्या है हंता वायरस? क्‍या यह कोरोना की तरह घातक है?

0 36

क्या है हंता वायरस: कोरोना वायरस (Coronavirus) की तरह ही चाइना में हेंटा वायरस (Hantavirus) दस्तक दे चुका है. इस वायरस से चाइना में एक शख्स मौत हो गई है, जो कि बस के जरिए यूनान से शाडोंग लौट रहा था. शख्स हंता वायरस पॉजिटिव पाया गया था. उसकी मौत के बाद बस में सवार 32 अन्य लोगों की मेडिकल जांच कराई गई है.

इसे भी पढ़ें: कोरोना का संकट टला नहीं कि चीन में तबाही मचाना शुरू किया हंता वायरस

क्या है हंता वायरस

दरअसल हेंटा, वायरस का एक समूह है जो लोगों में विभिन्न रोगों का कारण बन सकता है. यह रेनोवायरस पल्मोनरी सिंड्रोम (HPS) और हेमोरेजिक बुखार के साथ रीनल सिंड्रोम (HFRS) पैदा कर सकता है. अगर कोई व्यक्ति चूहों के मल, पेशाब आदि को छूने के बाद अपनी आंख, नाक और मुंह को छूता है तो उसके हेंटा वायरस से संक्रमित होने का खतरा है.

इसे भी पढ़ें: कोरोना को लेकर केंद्र सरकार का कड़ा रूख, राज्यों से कहा- ज़रूरत पड़ने पर कर्फ़्यू लगाएं

हंता वायरस के लक्षण क्या हैं

हेंटा वायरस से संक्रमित व्यक्ति को बुखार, बदन दर्द, पेट-सिर में दर्द, उल्टी, डायरिया हो सकता है. इलाज में देरी होने पर इंफेक्शन व्यक्ति के फेफड़े तक पहुंच सकता है और उसे सांस लेने में तकलीफ होती है. चीन में जिस शख्स की मौत हुई उसमें भी इसी तरह के लक्षण पाए गए. सेंटर फॉर डिजिज कंट्रोल एंड प्रिवेंशन (Center for Disease Control and Prevention) के मुताबिक हेंटा वायरस से संक्रमित होने पर मौत की संभावना 38 फीसदी है.

कोरोना की तरह घातक नहीं हेंटा

स्पेस्लिस्ट डॉक्टर्स के मुताबिक हंता वायरस, कोरोना की तरह खतरनाक नहीं है क्योंकि ये हवा के रास्ते नहीं फैलता है. माना जा रहा है कि ये वायरस इंसान के चूहे या गिलहरी के संपर्क में आने से फैलता है. अगर स्वस्थ व्यक्ति हेंटा वायरस के संपर्क में आता है तो उसके संक्रमित होने का भी खतरा होता है. हालांकि ये वायरस एक इंसान से दूसरे तक नहीं फैलता इसलिए इसे कोरोना जैसा खतरनाक नहीं माना जा रहा.

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.