Take a fresh look at your lifestyle.

गूगल चैटबॉट Meena क्‍या है, जानिए कब से कर सकते हैं इस्‍तेमाल

0 28

अमेजॉन एलेक्सा, गूगल असिस्टेंट और ऐपल सीरी जैसे वॉइस असिस्टेंट से भी क्‍या कोई बेहतर हो सकता है. आप मानें या न मानें अब ऐसा मुमकिन है. दुनिया की सबसे बड़ी सर्च इंजन गूगल ने तैयार किया है गूगल चैटबॉट मीना. यह चौंकाने वाली खूबियों से भरपूर है. जानकारी के अनुसार गूगल का यह नया चैटबॉट मीना इंसानों की तरह बात करती है. बात करते हुए यह मौसम की जानकारी, खबरों और गानें सुनने के अलावा दूसरी इंफॉर्मेशन देने में सक्षम है.

गूगल मीना के पास है 40 अरब शब्दों का भंडार

टेक्नॉलजी वेबसाइट Venture Beat की रिपोर्ट के अनुसार मीना एक नेटवर्क का जाल है. इसमें लगभग 2.6 बिलियन पैरामीटर हैं. गूगल के मुताबिक, मीना को ढेर सारी सोशल मीडिया चैट के आधार पर तैयार किया गया है और इससे लगभग किसी भी बारे में बात की जा सकती है. यह आपको जोक भी सुना सकती है. हालांकि गूगल ने यह नहीं बताया कि यूजर्स कब से इसका इस्तेमाल कर पाएंगे. रिपोर्ट में कहा गया है कि मीना को 40 अरब शब्द सिखाए गए हैं.

गूगल का दावा, किसी भी चैटबॉट से बेहतर

चैटबॉट मीना (Meena) को लेकर गूगल का दावा है कि यह किसी भी दूसरे चैटबॉट से कहीं बेहतर है. मीना को 341 गीगाबाइट्स पब्लिक सोशल-मीडिया चैटर पर ट्रेन्ड किया गया है. गूगल का कहना है कि चैटबॉट मीना किसी भी बारे में बात कर सकती है.

गूगल के रिसर्चर्स का कहना है कि Meena में सिंगल इवॉल्वड ट्रांसफॉर्मर इनकोडर और 13 इवॉल्वड ट्रांसफॉर्मर डीकोडर ब्लॉक्स दिए गए हैं. इसका मतलब है कि सिंगल इनकोडर Meena को बातचीत समझने में मदद करता है, जबकि 13 डीकोडर जवाब तैयार करने में इसकी मदद करते हैं.

गूगल के शोधकर्ताओं ने मीना को टेस्ट करने के लिए एक मापदंड भी तैयार किया जिसे सेन्सबलनेस ऐंड स्पेसिफ़िसिटी ऐवरेज (SSA) नाम दिया गया है. यह किसी भी बातचीत में दिए जाने वाले रिस्पॉंन्स के आधार पर नंबर देता है.

SSA टेस्ट में इंसानों की रैंक आमतौर पर 86 फीसदी आती है. इस टेस्ट में मीना को 79% स्कोर मिला। हालांकि यह गूगल का खुद का तरीका है. अन्य कंपनियां AI-आधारित असिस्टेंट की बातचीत की क्वालिटी पता लगाने के लिए अलग-अलग तरीके इस्तेमाल करती हैं.

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.