मौसम चेतावनी : उत्‍तराखंड में अगले 7 दिनों तक हो सकती है भारी बारिश

by

12 राज्‍यों के लिए मौसम विभाग ने जारी किया अलर्ट

#New Delhi : उत्‍तराखंड में आज रात से 27 जुलाई तक भारी बारिश हो सकती है. इसके लिए भारतीय मौसम विभाग ने चेतावनी जारी की है. वहीं मौसम विभाग ने आज ओडिशा, विदर्भ, छत्तीसगढ़, तेलंगाना में भारी बारिश की संभावना जताई है. दूसरी तरफ, उत्तराखंड, चंडीगढ़, हरियाणा, दिल्ली, पश्चिमी उत्तर प्रदेश, पश्चिम बंगाल, कोंकण, गोवा और आंध्र प्रदेश के तटीय इलाकों में भी भारी बारिश का अनुमान है.

मौसम विभाग ने आज पश्चिम बंगाल और ओडिशा के तटीय इलाकों में 35-35 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से तेज हवाएं चलने की उम्मीद भी जताई है. मछुआरों को इन इलाकों में समुद्र में न उतरने की सलाह दी गई है. दूसरी तरफ, कल यानी 22 जुलाई को उत्तराखंड में भारी बारिश होने की आशंका है.

Read Also  सरकारी योजनाओं में धड़ल्‍ले से हो रहा है अवैध बालू का इस्तेमाल, ये अधिकारी हैं दोषी

मौसम विभाग के मुताबिक कल पंजाब, हिमाचल प्रदेश, पश्चिमी उत्तर प्रदेश, विदर्श, छत्तीसगढ़, ओडिशा, कर्नाटक और केरल के भी तमाम इलाकों में बारिश हो सकती है. वहीं मौसम विभाग का कहना है कि 23 जुलाई को भी उत्तराखंड, पश्चिमी मध्य प्रदेश, मध्य महाराष्ट्र, कोंकण, गोवा, कर्नाटक और केरल में बारिश होने की संभावना है.

जम्मू-कश्मीर, हिमाचल प्रदेश, पंजाब, हरियाणा, चंडीगढ़, दिल्ली, पश्चिमी उत्तर प्रदेश, राजस्थान और मराठवाड़ा के तमाम इलाकों में भी बारिश होने की उम्मीद है. 24 और 25 जुलाई को भी उत्तराखंड, गोवा, कोंकण, कर्नाटक, केरल, जम्मू-कश्मीर और गुजरात के कुछ इलाकों में बारिश हो सकती है.

आपको बता दें कि आज उत्तर प्रदेश के वाराणसी में जमकर बारिश हो रही है. जिससे लोगों को तेज गर्मी और उमस से राहत मिल गई है. तापमान में भी गिरावट आई है. गौरतलब है कि पिछले सप्ताह मुंबई में करीब 5 मीटर लंबी हाई टाइड भी देखने को मिली थी. मुंबई में इस मॉनसून की ये सबसे बड़ी हाई टाइड थी.

Read Also  जो बाइडेन बने अमेरिका के 46 वें राष्‍ट्रपति, मौके पर ट्रंप ने कही ये बात

मौसम विभाग से भारी बारिश की चेतावनी मिलने के बाद बीएमसी, मुंबई पुलिस और नेवल कोस्ट गार्ड को अलर्ट पर रहने के आदेश दिए थे. साथ ही मछुआरों को और लोगों को समंदर से दूर रहने के लिए कहा गया था.

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.