हमने दिल्ली के 40 लाख गरीबों के अपना घर का सपना साकार किया : मोदी

by

New Delhi: दिल्ली विधानसभा चुनाव की आहट शुरू होने के साथ ही भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने अपने चुनावी अभियान का रविवार को आगाज कर दिया. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को विपक्षी दलों पर दिल्ली की अनाधिकृत और स्लम बस्तियों को नियमित करने के नाम पर पिछले 70 सालों से राजनीति करने का आरोप लगाते हुए कहा कि भजापा की सरकार ने बिना किसी भेदभाव के दिल्ली की सैकड़ों कॉलोनियों को वैध करने का काम किया. इससे 40 लाख से अधिक लोगों के अपना घर का सपना साकार हुआ है.

प्रधानमंत्री मोदी ने ऐतिहासिक रामलीला मैदान में आयोजित ‘आभार रैली’ को संबोधित करते हुए कहा कि आजादी के इतने दशकों बाद तक दिल्ली की एक बड़ी आबादी को अपने घरों को लेकर डर, चिंता, अनिश्चितता, छल-कपट औऱ झूठे चुनावी वायदों से गुजारना पड़ा. सीलिंग, बुल्डोजर और एक कट ऑफ डेट, इन्हीं शब्दों के इर्दगिर्द दिल्ली की एक बड़ी आबादी का जीवन सिमट गया था. चुनाव आते थे तो तारीखें आगे बढ़ाई जाती थी, बुल्डोजर का पहिया कुछ समय तक रुक जाता था, लेकिन समस्या वहीं की वहीं रहती थी.

उन्होंने संतोष व्यक्त करते हुए कहा कि दिल्ली के 40 लाख से ज्यादा लोगों के जीवन में नया सवेरा लाने का एक उत्तम अवसर भाजपा को मिला है. प्रधानमंत्री उदय योजना के माध्यम से, आपको आपके अपने घर, अपनी जमीन, अपने जीवन की सबसे बड़ी पूंजी पर संपूर्ण अधिकार मिला, इसके लिए आपको बहुत-बहुत बधाई.

भाजपा ने फूंका चुनावी बिगुल

पीएम मोदी ने कहा कि वह लोगों की समस्याओं को समझते थे इसिलए उन्होंने मार्च में यह काम अपने हाथ में लिया और अक्टूबर में इसको लेकर एक विधेयक तैयार कराया. संसद के शीतकालीन सत्र में लोकसभा और राज्यसभा में दिल्ली की कॉलोनियों से जुड़ा बिल पास कराया. इतने कम समय में टेक्नोलॉजी की मदद से दिल्ली की 1700 से ज्यादा कॉलोनियों की बाउंड्री को चिह्नित करने का काम पूरा किया जा चुका है. इतना ही नहीं 1200 से ज्यादा कॉलोनियों के नक्शे भी पोर्टल पर डाले जा चुके हैं.

उन्होंने सवालिया लहजे में कहा कि जिन लोगों पर दिल्ली की गरीब जनता ने अपने घरों को नियमित कराने के लिए भरोसा किया था, वो खुद क्या कर रहे थे. इन लोगों ने दिल्ली के सबसे आलीशान और सबसे महंगे इलाकों में दो हजार से ज्यादा बंगले, अवैध तरीके से अपने करीबियों को दे रखे थे. उन्होंने कहा कि उन्हें उनके वीआईपी मुबारक लेकिन मेने वीआईपी तो आप लोग हैं.

रामलीला मैदान में पहुंची भीड़ से उत्साहित प्रधानमंत्री ने कहा कि ये रामलीला मैदान अनेक ऐतिहासिक अवसरों का साक्षी रहा है. इसी मैदान पर आज आप यहां भारी संख्या में, दिल्ली के कोने-कोने से हम सभी को आशीर्वाद देने आए हैं, इसके लिए आप सभी का बहुत-बहुत धन्यवाद.

दिल्ली में सत्तारूढ़ आम आदमी पार्टी (आप) की सरकार पर दिल्ली मेट्रो के फेज-4 को लेकर निशाना साधते हुए कहा कि यदि यहां की राज्य सरकार ने राजनीति नहीं की होती और बेवजह के अड़ेंगे नहीं लगाए होते तो इसका काम भी काफी पहले शुरू हो गया होता. उन्होंने कहा कि गरीब के नाम पर राजनीति करने वाले आपकी तकलीफों को कभी न समझे हैं और न समझने का इरादा है.

दिल्ली में वायु प्रदूषण की समस्या से निपटने के लिए उन्होंने केंद्र द्वारा किये गये प्रसासों की चर्चा करते हुए कहा कि शहर में प्रदूषण कम हो, इसके लिए भी हमने निरंतर प्रयास किया है. बीते पांच वर्षों में दिल्ली में सैकड़ों नए सीएनजी स्टेशन बनाए गए हैं. यहां जो उद्योग-धंधे चल रहे हैं, उनमें से आधों को पीएनजी आधारित बनाया जा चुका है.

दिल्ली जल बोर्ड (डीजेबी) द्वारा राजधानी में पीने के पानी की सप्लाई पर सवाल उठाते हुए उन्होंने कहा कि आज दिल्ली में जो राज्य सरकार है, वो यहां की सबसे बड़ी समस्या से आंख मूंद कर बैठी है. ये समस्या है पीने के पानी की. इन लोगों की मानें तो पूरी दिल्ली में हर जगह साफ पानी मिलता है, हर घर में बिल्कुल साफ पानी आता है. उन्होंने भीड़ से सवाल किया कि क्या आप इस बात से सहमत हैं.

आयुष्मान भारत योजना को दिल्ली में लागू नहीं किये जाने पर केजरीवाल सरकार पर हमला बोलते हुए मोदी ने कहा कि राजनीतिक स्वार्थ के कारण, यहां की सरकार ने आयुष्मान भारत योजना दिल्ली में लागू नहीं किया. दुनिया की सबसे बड़ी हेल्थ एश्योरेंस स्कीम आज भारत में चल रही है. इस योजना ने देश के 50 करोड़ से ज्यादा गरीबों को पांच लाख रुपए तक के मुफ्त इलाज की सुविधा सुनिश्चित की है.

जावड़ेकर ने किया दिल्ली विधानसभा चुनावों में भाजपा की जीत का दावा

इससे पूर्व, भाजपा दिल्ली प्रदेश के चुनाव प्रभारी व केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने आगामी विधानसभा चुनावों में भाजपा की जीत का दावा करते हुए कहा कि 45 दिनों बाद दिल्ली में चुनाव हैं और इसमें भाजपा विजयी होगी. उन्होंने दिल्ली के चुनाव को राष्ट्रवाद बनाम अराजकतावाद पर केंद्रित करते हुए कहा कि दिल्ली की जनता को यह तय करना है कि वह सर्जिकल स्ट्राइक, जवाहरलाल नेहरु विश्वविद्यालय (जेएनयू) में देश विरोधी नारेबाजी और राम मंदिर के विरोध में काम करने वालों का साथ देंगे या फिर उन्हें मुंहतोड़ जवाब देंगे.

वहीं, केंद्रीय मंत्री डॉ. हर्षवर्धन ने कहा कि दिल्ली में कांग्रेस पार्टी और आम आदमी पार्टी के नेता व विधायक मुस्लिमों को भड़का कर माहौल खराब करने का आरोप लगाया. दिल्ली सरकार की हालिया घोषणाओं पर सवाल खड़ा करते हुए उन्होंने कहा कि आज अचानक आम आदमी पार्टी की नींद खुली है, उन्होंने 70 वादे किए थे लेकिन आज तक कुछ भी पूरा नहीं किया है. उन्होंने रैली में जुटी अपार भीड़ की तुलना 1977 में लोकनायक जयप्रकश के नेतृत्व में इसी मैदान में आयोजित रैली से की.

भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष मनोज तिवारी ने कहा कि ‘आप’ और कांग्रेस सहित सभी विपक्षी भारत और दिल्ली को हिंसा की आग में झोंकने की कितनी भी कोशिश कर लें, लेकिन वो अपने मंसूबे में सफल नहीं होंगे. क्योंकि इस देश का हिन्दू, मुसलमान, सिख समेत हर कोई अमन पसंद है वह इनके बहकावे में नहीं आएगा. उन्होंने एक कवीता के माध्यम से कहा एक अकेला मोदी खड़ा है भारत देश बचाने को, सारे विपक्षी साथ खड़े हैं केवल उसे हराने को.

भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष मनोज तिवारी

रैली को केंद्रीय मंत्री हरदीप सिंह पुरी, नित्यानंद राय, भाजपा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष और दिल्ली भाजपा प्रभारी श्याम जाजू, राष्ट्रीय सचिव और दिल्ली भाजपा सह-प्रभारी तरुण चुघ, पूर्व केंद्रीय मंत्री विजय गोयल, विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष विजेंद्र गुप्ता ने भी संबोधित किया.

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.