मरकज में शामिल हुए विदेशियों ने किया वीजा गाइडलाइन का उल्‍लंघन

New Delhi: राजधानी दिल्ली के निजामुद्दीन में तब्लीग-ए-जमात के मकरज समारोह में शामिल होने और उससे अलग-अलग राज्यों में कोरोना संक्रमण के मामले सामने आने के बाद गृह मंत्रालय एक्शन में आ गया है.

इस संबंध में गृह मंत्रालय ने तब्लीग-ए-जमात में शामिल लोगों की रिपोर्ट तलब की है. बताया जा रहा है कि सरकार इस मामले में कड़ी कार्रवाई कर सकती है.

इसे भी पढ़ें: 102 कोरोना मरीज इलाज के बाद हुए स्वस्थ, देश में 49 मरीज विदेशी

आजीवन प्रतिबंध लगा सकती है सरकार

गृह मंत्रालय का मानना है कि मरकज में शामिल हुए कई विदेशियों को वीजा देने के मामले में गाइडलाइन का पालन नहीं किया गया.

Read Also  रांची में हनुमान मंदिर घुसकर मूर्ति तोड़ी, पुलिस ने बिना जांचे आरोपी रमीज को बताया विक्षिप्‍त

दरअसल,वीजा नियमों में धार्मिक प्रचार प्रसार,धार्मिक भाषण देना आदि में भाग लेना वर्जित है. ऐसे में सरकार सभी विदेशी पर्यटकों पर आजीवन प्रतिबंध लगा सकती है.

इसे भी पढ़ें: ड्राइविंग लाइसेंस, फिटनेस, परमिट और वाहन पंजीकरण की वैधता केंद ने 30 जून तक बढ़ाई

आयोजकों पर एफआईआर का निर्देश

इस संबंध में दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री ने बताया है कि दिल्ली सरकार ने तब्लीग-ए-जमात के धार्मिक कार्यक्रम के आयोजनकर्ताओं के खिलाफ एफआईआर दर्ज करने के निर्देश दिए हैं.

स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने कहा, ‘आयोजकों ने बहुत ही घोर अपराध किया है. मैंने उप राज्यपाल को चिट्ठी लिखकर कहा है कि इनके खिलाफ सख्त से सख्त कार्रवाई की जाए और इनको बख्शा ना जाए. उन्होंने कहा कि एफआईआर दर्ज करने के निर्देश दे दिए गए हैं.’

Read Also  36th national games 2022 उद्घाटन समारोह में पीएम के सामने बिना ब्‍लेजर मार्च पास्‍ट करेगी झारखंड टीम

इसके अलावा उन्होंने बताया, ‘केंद्र सरकार ने जवाहरलाल नेहरू स्टेडियम को क्वारटाइन सेंटर बनाने की मंजूरी नहीं दी है. जैन ने बताया, ‘हमें दो दिन पहले ही रात को पता चला है कि 6 लोग राम मनोहर लोहिया में आए हैं, तब से हमने कार्रवाई की है.’

इसे भी पढ़ें: कनिका कपूर की पांचवीं कोरोना रिपोर्ट भी पॉजिटिव लेकिन चिंता की बात नहीं

दो हजार से अधिक विदेशियों ने लिया तब्लीग-ए-जमात में हिस्‍सा

उल्लेखनीय है कि दिल्ली के हजरत निजामुद्दीन स्थित मरकज में मलेशिया, इंडोनेशिया, सऊदी अरब और किर्गिस्तान से 2000 से अधिक प्रतिनिधियों ने 1 से 15 मार्च तक तब्लीग-ए-जमात में हिस्सा लिया था.

कोरोना वायरस के चलते मरकज से अब तक कुल 860 लोगों को निकालकर अलग-अलग अस्पतालों में पहुंचाया जा चुका है. इनमें दो दर्जन से अधिक लोग कोरोना संक्रमित पाए गए हैं.

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.