Take a fresh look at your lifestyle.

बरहेट थाना प्रभारी के बाद चाईबासा एसडीओ का मारपीट करते वीडियो वायरल!

Support Journalism
0 534

Ranchi: बरहेट के थाना प्रभारी पर एक युवती के साथ मारपीट का एक वीडियो वायरल हुआ था. वैसे ही मारपीट का एक और वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हुआ है. इस वीडियो में प्रशासनिक अधिकारी दुकानदार के पास पहुंचकर चेहरे पर तमाचा मारते दीख रहे हैं. वीडियो में उनके साथ दो पुलिस कर्मी भी नजर आ रहे हैं. अधिकारी दुकानदार के साथ धक्‍का-मुक्‍की भी कर रहे हैं.

मामला मंत्री मिथलेश कुमार ठाकुर के विधानसभा क्षेत्र का है. वीडियो ट्वीटर पर साझा किया गया है. बरहेट के थाना प्रभारी वाले वीडियो और इसमे अंतर इतना है कि पीडित कोई युवती नहीं बल्कि एक गरीब दुकानदार है. दुकानदार के साथ मारपीट करने वाले आरोपी एक प्रशासनिक अधिकारी हैं.

राहुल तिवारी नाम के ट्वीटर यूजर ने संबंधित एक वीडियो मुख्‍यमंत्री हेमंत सोरेन, मंत्री मिथलेश कुमार ठाकुर और डीसी चाईबासा को टैग करते हुए पोस्‍ट किया है. इस वीडियो के साथ राहुल ने लिखा है ‘ये देखिए चाईबासा एसडीओ का कारनामा केमरे में हुआ क़ैद ये पदाधिकारी है या गुंडा.. दुकानदार के साथ जैसा व्यवहार कर रहे हैं उससे किसी गुंडे से कम नहीं लग रहे हैं ये… जल्द से जल्द कार्रवाई हो’. इस ट्वीट को 24 घंटे के अंदर कई लोगों ने रिट्वीट किया है और कमेंट करते हुए एसडीओ के खिलाफ कार्रवाई की मांग की है.

इधर चाईबासा एसडीओ परितोष कुमार ठाकुर के इस तरह के रैवेये से व्‍यापारी वर्ग में नाराजगी और गुस्‍सा देखा जा रहा है. एसडीओ के खिलाफ व्यवसाई वर्ग सड़क पर उतर आए है एवं अपने अपने प्रतिष्ठानों के शटर गिरा दिए.

चाईबासा के कई व्यापारियों ने सोशल मीडिया के जरिए मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन और मंत्री मिथिलेश ठाकुर से मदद मांगी है और सदर अनुमंडल पदाधिकारी के आचरण पर सवाल उठाया है. एसडीओ द्वारा प्रत्येक दिन व्यापारियों के साथ अभद्र व्यवहार किए जाने की बात कही गई है. मंत्री मिथिलेश ठाकुर का चाईबासा से पुराना संबंध और राजनीतिक पृष्ठभूमि रही है. ऐसे में उनसे व्यापारियों ने राहत की गुहार लगाई है.

चाईबासा के व्यापारियों के प्रतिनिधि मंडल ने चाईबासा के उपायुक्त अरवाराज कमल को पत्र के माध्यम से एसडीओ द्वारा किए गए दुर्व्यवहार की शिकायत की है साथ ही कपड़ा पट्टी और राजा वाली गली में दुकानदारों को डराने और सामानों को लात मारने की बात कही है. कोरोना काल में एसडीओ के इस रवैया से लोगों एवं व्यापारियों में असंतोष और डर पैदा हो गया है. उपायुक्त ने एसडीओ के खिलाफ अनुशासनात्मक कार्रवाई किए जाने और कार्मिक विभाग को शिकायत किए जाने की बात कही है.

बरहेट मामले पर झारखंड के सीएम हेमंत सोरेन एक्‍शन में आ गए. उन्‍होंने तुरंत इस मामले पर संबंधित थाना प्रभारी के खिलाफ कार्रवाई का निर्देश दिया. 24 घंटे के अंदर जांच हुई और रिपोर्ट भी आ गई. थाना प्रभारी निंलंबित भी हो गए. अब सीएम ने उनपर आपराधिक मामला दर्ज करने का आदेश दिया है. एसडीओ के मामले पर भी चाईबासा के लोग कार्रवाई की मांग कर रहे हैं.

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.