Take a fresh look at your lifestyle.

उत्तर प्रदेश के डीएम-एसएसपी की सात दिन तक छुट्टियां निरस्त

0 0

Lucknow: नागरिकता संशोधन कानून के विरोध में अलीगढ़, लखनऊ के बाद अब मऊ जनपद में हिंसा की खबर है. यहां पर उपद्रवियों ने बस में तोड़फोड़ कर कई वाहनों में आग लगा दी है. प्रशासन जिले में कर्फ्यू लगाकर हिंसा को शांत कराने के लिए प्रयासरत है. योगी सरकार ने सख्त रवैया अपनाते हुए प्रदेश के सभी जिलों में धारा 144 लागू कर दी है. सभी पुलिस और प्रशासनिक अधिकारियों की सात दिन के लिए छुट्टियां रद्द कर दी गई हैं.

बड़ी बातें:

  • अलीगढ़, मेरठ और सहारनपुर में अगले आदेश तक इंटरनेट सेवाएं बंद रखने के आदेश
  • लखनऊ के बाद मऊ में बिगड़े हालात, सरकार ने यूपी में लागू की धारा 144
  • सोशल मीडिया पर नजर रखने के लिए साइबर सेल, सर्विलांस को निर्देश

प्रदेश के मुख्य सचिव राजेंद्र तिवारी ने बताया कि यूपी के सभी जिलाधिकारी और पुलिस कप्तानों की अगले सात दिन तक की छुट्टियां निरस्त कर दी है. उन्होंने निर्देश दिया है कि अगले सात तक सभी डीएम और एसपी/एसएसपी मुख्यालय नहीं छोड़ेंगे. सभी जिलाधिकारी व पुलिस अधीक्षक जिला मुख्यालय पर रहकर जिलों पर नजर नजर रखेंगे. सोशल मीडिया पर नजर रखने के लिए साइबर सेल, सर्विलांस को निर्देशित किया गया है.

पुलिस महानिदेशक ओमप्रकाश सिंह ने बताया कि अलीगढ़, मेरठ और सहारनपुर में अगले आदेश तक इंटरनेट सेवाएं बंद रखने के आदेश दिए गये हैं. प्रदेश में लखनऊ और मऊ की घटना को छोड़ कर फिलहाल शांति बनी हुई है. उन्होंने बताया कि पूरे मामले को गंभीरता से लिया गया है. डीएम और एसएसपी को सख्त निर्देश दिए गए हैं कि इस मामले में सख्ती से निपटें. अलीगढ़ और लखनऊ में सख्ती से निपटा गया है और अब मऊ में तैनात अधिकारियों को सख्त निर्देश दिए गए हैं कि उपद्रवियों के खिलाफ सख्त कारवाई करें.

नागरिकता संशोधन कानून के विरोध में अलीगढ़, लखनऊ के बाद मऊ में सोमवार की देर शाम हिंसा भड़क उठी. उपद्रवियों ने वाहन में तोड़फोड़ करने के साथ ही थाने का फूंकने का प्रयास किया है. बिगड़े माहौल को शांत कराने के लिए प्रशासन को कर्फ्यू लगाना पड़ा. यहां के डीएम ने आसपास के जिलों से अतिरिक्त पुलिस की सहायता मांगी है.

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.