देवघर की भावना ने बिना कोचिंग किये यूपीएससी क्रैक किया

by

Deoghar: यूपीएससी के परीक्षा परिणाम में भावना ने 376 वां स्थान लाया है. वह देवघर की रहने वाली हैं. भावना स्नातक और स्नातकोत्तर में गोल्ड मैडलिस्ट हैं और उन्‍होंने पहली बार में ही यूपीएससी में अपना परचम लहरा दिया है.

मीडिया के साथ बातचीत करते भावना ने बताया कि कठोर परिश्रम, लक्ष्य के प्रति एकाग्रता और दृढ़इच्छा शक्ति हो तो सफलता मिलना तय है. स्व सुनील कुमार दुबे की इकलौती संतान भावना की सफलता पर मां नीलम दुबे फूले नहीं समा रही है.

उन्‍होंने बताया कि सबसे बड़ी बात यह कि वह सिविल सेवा की तैयारी के लिए किसी कोचिग संस्थान की दहलीज पर गए बिना घर पर रहकर तैयारी करती रही. संत फ्रांसिस स्कूल से 95 फीसद अंक से दसवीं उत्तीर्ण होने के बाद बाजला कालेज में दाखिला ली. यहां से अंग्रेजी में स्नातक की और स्नातकोत्तर की पढ़ाई देवघर कालेज से पूरी की. स्नातक में 72 और स्नातकोत्तर में 81 फीसद अंक लायी.

भावना ने कहा कि तीन साल से वह यूपीएससी की तैयारी कर रही थी. यह पूछने पर कि पढ़ाई के साथ साथ यूपीएससी की तैयारी कैसे कर ली. बताया कि 2020 में एमए की पढ़ाई पूरी की लेकिन स्नातक करने के बाद से ही तैयारी में जुट गयी थी.

उन्‍होंने बताया कि कोविड काल होने के कारण कालेज जाने का कम मौका मिला और 10 घंटा समय इसके लिए निकालने लगी. करंट अफेयर्स के लिए अंग्रेजी समाचार पत्र, पत्रिका पढ़ने लगी. एनसीईआरटी से तो आरंभ से ही तैयारी कर रही थी. देवघर के जसीडीह स्थित बाघमारा की रहने वाली भावना की सफलता की खुशी की खबर मिलने पर मां नीलम दुबे, मौसा अरूण कुमार मिश्रा और मौसी पूनम देवी ने मिठाई खिलाकर आर्शीवाद दिया.

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.