Take a fresh look at your lifestyle.

Update: चुनाव का विज्ञापन गूगल पर कैसे करें | Google political ads India

0

गूगल ने चुनाव प्रचार के लिए राजनीतिक पार्टियों और चुनाव उम्‍मीदवारों के लिए नए नियम और शर्तें जारी किये हैं. गूगल ने चुनाव विज्ञापन के नये गाइडलाइन ऐसे समय में जारी किये हैं जब भारत के दो राज्‍यों महाराष्‍ट्र और हरियाणा में विधानसभा चुनाव का बिगुल बज गया है और साल 2019 के आखिर तक में झारखंड में विधानसभा के चुनाव होने हैं.

9 अक्‍टूबर की शाम को गूगल ने अपने चुनाव विज्ञापन के लिए पॉलिटिकल कांटेंट पॉलिसी को अपडेट कियया है. इसमें गूगल ने चुनाव के दौरान गूल में प्रचारित विज्ञापन को परिभाषित किया है और बताया है कि किस तरह के राजनीतिक विज्ञापन चुनावी विज्ञापन के दायरे में आते हैं.

गूगल ने चुनावी विज्ञापन को परिभाषित करते हुए कहा है कि भारत में चुनावी विज्ञापन तहत वैसे सभी विज्ञापन सामग्री आयेंगे जो किसी राजनीतिक पार्टी, उम्‍मीदवार, लोकसभा या विधानसभा का मौदूदा सदस्‍य के द्वारा चलाए जाने वाले विज्ञापन होते हैं.

गूगल के द्वारा वैसे सभी विज्ञापनदाताओं को प्रमाणित कराने की आवश्‍यकता है जो भारत में (गूगल में) चुनावी विज्ञापन चलाना चाहते हैं. जो विज्ञापनदाता अभी तक सत्‍यापित नहीं हैं, उन्‍हें भारत में चुनावी विज्ञापन चलाने से पहले अब सत्‍यापन के प्रकिया को पूरा करना होगा.

गूगल में चुनावी सामग्री देने वाले हर विज्ञापनदाता को गूगल सत्‍यापन के लिए चुनाव आयोग या इसके किसी अधिकृत व्‍यक्ति के द्वारा जारी किया गया प्रमाणपत्र पेश करना होगा.

विज्ञापनदाता चुनाव प्रचार के लिए यह प्रकिया 9 अक्‍टूबर 2019 के बाद से शुरू कर सकते हैं. गूगल का यह नया अपडेट 15 अक्‍टूबर 2019 से लागू हो जाएगा.

भारत में चुनाव विज्ञापन के सत्यापन

गूगल ने चुनावी विज्ञापनों में गैर-राजनीतिक संगठनों और संस्थाओं के दिखाए जाने वाले विज्ञापनों को शामिल नहीं किया है. जैसे राजनीतिक दलों का प्रचार करने वाली टी-शर्ट या समाचार संगठनों के चलाए जाने वाले विज्ञापन जो राजनीतिक दलों, लोकसभा चुनावी कैंपेन, उम्मीदवारों या मौजूदा लोकसभा सदस्यों के कवरेज को बढ़ावा देते हैं.

Contents

चुनावी विज्ञापन के लिए आवश्‍यक शर्तें

Google के मुताबिक चुनाव के सभी विज्ञापनों में यह खुलासा करना ज़रूरी है कि उन विज्ञापनों का पैसा कौन चुका रहा है. Google ज़्यादातर विज्ञापन फ़ॉर्मैट के लिए, “पैसा चुकाने वाला” अपने आप जनरेट करेगा. यह पुष्टि के दौरान दी गई आपकी जानकारी का इस्तेमाल करके किया जाएगा. इस खुलासे में आपका विज्ञापन देखने वाले लोगों को आपके संगठन का नाम या किसी खास व्यक्ति का नाम दिखाई देगा.

  • Google सर्च और सर्च पार्टनर नेटवर्क पर दी गई जानकारी सीधे विज्ञापनों में दिखाई देगी.
  • YouTube पर दी गई जानकारी “यह विज्ञापन क्यों?” में दिखाई देगी जिसे जानकारी आइकॉन  या तीन बिंदु वाले आइकॉन  से एक्सेस किया जा सकता है.
  • डिसप्ले विज्ञापन के लिए Google से पार्टनरशिप करने वाली वेबसाइटों और ऐप्लिकेशन पर यह जानकारी “यह विज्ञापन क्यों?” में दिखाई देगी जिसे AdChoices आइकॉन  से एक्सेस किया जा सकता है.

चुनावी विज्ञापन दिखाते समय यह विज्ञापनदाताओं की ज़िम्मेदारी होगी कि वे कुछ विज्ञापन फ़ॉर्मैट और फ़ीचर में, खुलासा जोड़ने की ज़िम्मेदारी निभाना होगा.  

इस्तेमाल करने वालों को साफ़-साफ़ जानकारी देने के लिए, Google ‘राजनीतिक विज्ञापन’ की पारदर्शिता रिपोर्ट, चुनावी विज्ञापनों के लिए धन के स्रोतों पर डेटा वाली एक राजनीतिक विज्ञापन लाइब्रेरी, और खर्च की जाने वाली रकम वगैरह भी प्रकाशित करेगा.

गूगल में चुनावी विज्ञापनदाताओं की पुष्टि के लिए शर्तें

चुनावी विज्ञापन चलाने के लिए विज्ञापनदाता की पुष्टि एक राजनीतिक दल, कारोबार, गैर-लाभकारी संगठन या व्यक्ति के तौर पर की जा सकती है. अगर चुनावी विज्ञापनदाता ऐसी एजेंसी या व्यक्ति हैं जो कई Google Ads अकाउंट मैनेज करती/करते हैं, तो उन्‍हें हर उस अकांउट के लिए अलग से पुष्टि का आवेदन करना होगा, जिससे आप चुनावी विज्ञापन चलाने की योजना बना रहे हैं.

  • आप एक राजनीतिक दल हैं अगर आप ‘लोक सभा चुनावों’ के लिए एक राजनीतिक दल के तौर पर रजिस्टर हैं या एक ऐसी संस्था हैं जिसे राजनीतिक दल की ओर से चुनावी विज्ञापन चलाने की अनुमति मिली है (जैसे, विज्ञापन एजेंसी). पुष्टि के लिए, आपके Google Ads भुगतान प्रोफ़ाइल में चुना गया “खाता प्रकार” “कारोबार” होना चाहिए.
  • आप कारोबार करते हैं अगर आप भारत में रहते हैं और वहां के कानून के तहत एक मौजूदा, घरेलू (उसी देश की कंपनी) या रजिस्टर की गई कंपनी हैं या ट्रस्ट, मालिकाना हक, पार्टनरशिप या सोसाइटी वाली संस्था हैं या एक ऐसी संस्था हैं जिसे कारोबार की ओर से उसके लिए (जैसे विज्ञापन एजेंसी) चुनावी विज्ञापन चलाने की अनुमति मिली है. पुष्टि के लिए, आपके Google Ads भुगतान प्रोफ़ाइल में चुना गया “खाता प्रकार” “कारोबार” होना चाहिए.
  • आप एक गैर-लाभकारी संगठन हैं अगर आप भारत में रहते हैं और वहां के कानून के तहत एक गैर-लाभकारी संगठन हैं या एक चैरिटेबल संस्था हैं या एक ऐसी संस्था हैं जिसे गैर-लाभकारी संगठन की ओर से उसके लिए (जैसे विज्ञापन एजेंसी) चुनावी विज्ञापन चलाने की अनुमति मिली है. पुष्टि के लिए, आपके Google Ads भुगतान प्रोफ़ाइल में चुना गया “खाता प्रकार” “कारोबार” होना चाहिए.
  • अगर आप राजनीतिक उम्मीदवार हैं या राजनीतिक दल, कारोबार या गैर-लाभकारी संगठन के तौर पर पुष्टि के मानदंडों को पूरा नहीं करते हैं, तो आप एक व्यक्ति हैं. अगर आप अपनी पुष्टि एक व्यक्ति के तौर पर करना चाहते हैं, तो Google Ads पेमेंट्स प्रोफ़ाइल के लिए चुना गया “खाता प्रकार” “व्यक्ति” होना चाहिए.

यहां ‘Google Ads खाते’ से जुड़ी कुछ बातें दी गई हैं जिन्हें याद रखना ज़रूरी है:

  • खाते का बिलिंग देश और मुद्रा
    • आपके ‘Google Ads खाते’ में बिलिंग देश भारत होना चाहिए और बिलिंग मुद्रा भारतीय रुपया (₹) होनी चाहिए.
  • Google Ads पेमेंट्स प्रोफ़ाइल के लिए खाते के प्रकार से जुड़ी ज़रूरी बातें
    • अगर आप अपनी पुष्टि एक राजनीतिक दल, कारोबार या गैर-लाभकारी संगठन के तौर पर करना चाहते हैं, तो Google Ads पेमेंट्स प्रोफ़ाइल के लिए चुना गया “खाता प्रकार” “कारोबार” होना चाहिए.
    • अगर आप अपनी पुष्टि एक व्यक्ति के तौर पर करना चाहते हैं, तो Google Ads पेमेंट्स प्रोफ़ाइल के लिए चुना गया “खाता प्रकार” “व्यक्ति” होना चाहिए.

     Google Ads पेमेंट्स प्रोफ़ाइल के प्रकार के बारे में ज़्यादा जानें.

ध्यान दें कि आपके खाते का बिलिंग देश, मौजूदा मुद्रा सेटिंग, और पेमेंट्स प्रोफ़ाइल का “खाता प्रकार” बदला नहीं जा सकता. अगर आपका ‘Google Ads खाता’ ऊपर दी गई ज़रूरतों को पूरा नहीं करता है, तो हम आपको सलाह देते हैं कि सभी ज़रूरतों को पूरा करने वाला एक नया ‘Google Ads खाता’ बनाएं.

राजनीतिक दल कैसे करें गूगल एड अकाउंट की पुष्टि

अगर आप अपने राजनीतिक दल के आधिकारिक प्रतिनिधि हैं, तो दो चरणों की इस पुष्टि प्रक्रिया को पूरा कर सकते हैं. अगर लागू होता है, तो राजनीतिक दल का प्रतिनिधित्व करने वाली एजेंसी का प्रतिनिधि भी आधिकारिक प्रतिनिधि हो सकता है. आपके पास राजनीतिक दल के ‘Google Ads खाते’ का एक्सेस भी होना चाहिए.

चरण 1: आप चुनावी विज्ञापन चलाने की ज़रूरी शर्तों को पूरा करते हैं, इसकी पुष्टि करें

आपको आवेदन पत्र (ऐप्लिकेशन फ़ॉर्म) में आधिकारिक प्रतिनिधि के तौर पर नीचे दी गई जानकारी देनी होगी:

  • आपका Google Ads ग्राहक आईडी
  • आपका नाम
  • ईमेल पता: एक ईमेल पता दें ताकि Google आपसे संपर्क कर सके.
  • राजनीतिक दल का नाम: यह राजनीतिक दल के रजिस्ट्रेशन दस्तावेज़ में सबमिट किए गए नाम से हूबहू मेल खाना चाहिए. इसके अलावा, नाम में मौजूद बड़े अक्षर या विराम चिन्ह भी सटीक ढंग से मेल खाने चाहिए. ध्यान दें, यही नाम विज्ञापन की “पैसा चुकाने वाला” जानकारी, ‘राजनीतिक विज्ञापन’ की पारदर्शिता रिपोर्ट और राजनीतिक विज्ञापन लाइब्रेरी में भी दिखाई देगा.
  • राजनीतिक दल का रजिस्ट्रेशन दस्तावेज़: आपको राजनीतिक दल का रजिस्ट्रेशन दस्तावेज़ सबमिट करना होगा. मंज़ूरी के लायक दस्तावेज़ों में रजिस्ट्रेशन सर्टिफ़िकेट या राजनीतिक दल की स्थापना से जुड़े दस्तावेज़ शामिल हैं.
  • राजनीतिक दल से मिला अनापत्ति सर्टिफ़िकेट (NOC). NOC उस राजनीतिक दल के लेटरहेड पर होना चाहिए जिसकी ओर से आपको चुनावी विज्ञापन चलाने की ज़िम्मेदारी सौंपी गई हो. NOC में राजनीतिक दल का नाम उस राजनीतिक दल के रजिस्ट्रेशन दस्तावेज़ में सबमिट किए गए नाम से हूबहू मेल खाना चाहिए. साथ ही, नाम में मौजूद बड़े अक्षर और विराम चिन्ह भी सटीक ढंग से मेल खाने चाहिए. NOC में दिया गया आधिकारिक नाम, उस आधिकारिक प्रतिनिधि के पूरे नाम से हूबहू मेल खाना चाहिए जो आपने ऊपर डाला है या अगर लागू होता है, तो यह राजनीतिक दल का प्रतिनिधित्व करने वाली एजेंसी का नाम होना चाहिए. अगर NOC में दर्ज आधिकारिक नाम किसी एजेंसी का है, तो यह नाम ऊपर डाले गए ग्राहक आईडी से जुड़े Google Ads पेमेंट्स प्रोफ़ाइल के नाम से हूबहू मेल खाना चाहिए.
  • यह प्रमाणित करना कि आप पुष्टि के लिए आवेदन करने वाले संगठन के आधिकारिक प्रतिनिधि हैं
  • यह प्रमाणित करना कि पुष्टि के लिए आवेदन करने वाला संगठन भारत में रजिस्टर्ड है और उसके पास भारत में चुनाव के विज्ञापन चलाने की कानूनी अनुमति है
  • Google की चुनावी विज्ञापन शर्तों से कानूनी समझौता

आप चुनावी विज्ञापन चलाने की शर्तों को पूरा करते हैं या नहीं, इसकी पुष्टि होने में दो कारोबारी दिन तक का समय लग सकता है.

चरण 2: अपनी पहचान की पुष्टि करें

जब Google इस बात की पुष्टि कर लेगा कि आप राजनीतिक दल की ओर से चुनावी विज्ञापन चलाने से जुड़ी सभी शर्तें को पूरा करते हैं, तब आपको एक ईमेल और खाते में सूचना (‘Google Ads खाते’ के ऊपर लाल रंग के बार में) मिलेगी, जिससे आपको Google Ads में पहचान की पुष्टि प्रक्रिया में आगे की जानकारी मिलेगी. ध्यान दें कि हमारा ईमेल मिलने और खाते में सूचना दिखाई देने के बाद, आपके पास Google Ads में पहचान की पुष्टि प्रक्रिया को पूरा करने के लिए 60 दिन का समय होगा.

जैसा कि ऊपर बताया जा चुका है, आपको यह चरण पूरा करने के लिए अपने राजनीतिक दल का आधिकारिक प्रतिनिधि होना चाहिए.

आप Google Ads में नीचे दी गई जानकारी की पुष्टि करेंगे:

  • राजनीतिक दल का नाम
  • राजनीतिक दल का पता
  • राजनीतिक दल का रजिस्ट्रेशन नंबर
  • आपका नाम: यह नाम आपके सबमिट किए, सरकार की ओर से जारी फ़ोटो आईडी पर लिखे नाम से हूबहू मेल खाना चाहिए. इसके अलावा, नाम में मौजूद बड़े अक्षर और विराम चिन्ह भी सटीक ढंग से मेल खाने चाहिए.
  • आपका पता
  • सरकार की ओर से जारी आपके फ़ोटो आईडी की कॉपी: मौजूदा भारतीय पासपोर्ट, पैन कार्ड, वोटर आईडी या ड्राइविंग लाइसेंस. ध्यान दें कि ‘आधार कार्ड’ स्वीकार नहीं किए जाएंगे.
  • यह प्रमाणित करना कि आप पुष्टि के लिए आवेदन करने वाले संगठन के आधिकारिक प्रतिनिधि हैं
  • यह प्रमाणित करना कि पुष्टि के लिए आवेदन करने वाला संगठन भारत में रजिस्टर्ड है और उसके पास भारत में चुनाव के विज्ञापन चलाने की कानूनी अनुमति है
  • संगठन की ओर से, Google की चुनावी विज्ञापन शर्तों से कानूनी समझौता

करोबारी कैसे करें गूगल में चुनाव विज्ञापन के लिए अकाउंट की पुष्टि

आपको इस पुष्टि प्रक्रिया के दो चरणों को पूरा करने के लिए, अपने कारोबार का आधिकारिक प्रतिनिधि होना चाहिए. आधिकारिक प्रतिनिधि होने के लिए, आपको कारोबार का स्थायी कर्मचारी होना चाहिए या अगर लागू होता है, तो आपको कारोबार का प्रतिनिधित्व करने वाली एजेंसी का प्रतिनिधि होना चाहिए. आपके पास कारोबार के ‘Google Ads खाते’ का एक्सेस भी होना चाहिए.

चरण 1: आप चुनावी विज्ञापन चलाने की ज़रूरी शर्तों को पूरा करते हैं, इसकी पुष्टि करें

आपको आवेदन पत्र (ऐप्लिकेशन फ़ॉर्म) में आधिकारिक प्रतिनिधि के तौर पर नीचे दी गई जानकारी देनी होगी:

  • आपका Google Ads ग्राहक आईडी
  • आपका नाम
  • ईमेल पता: एक ईमेल पता दें ताकि Google आपसे संपर्क कर सके.
  • अगर आपका कारोबार भारत में रजिस्टर्ड है:
    • कारोबार का नाम: यह नाम आपके सबमिट किए गए कारोबार के रजिस्ट्रेशन दस्तावेज़ पर मौजूद नाम से हूबहू मेल खाना चाहिए. इसके अलावा, नाम में मौजूद बड़े अक्षर और विराम चिन्ह भी सटीक ढंग से मेल खाने चाहिए. विज्ञापन के “पैसा चुकाने वाला” खुलासे में और ‘राजनीतिक विज्ञापन’ की पारदर्शिता रिपोर्ट के अलावा राजनीतिक विज्ञापन लाइब्रेरी में भी यही नाम दिखाई देगा.
    • कारोबार का रजिस्ट्रेशन नंबर: यह ‘कॉर्पोरेट आईडेंटीफ़िकेशन नंबर (CIN) होता है. यह ‘रजिस्ट्रार ऑफ़ कंपनीज़’ (ROC) की ओर से भारत में पंजीकृत कंपनियों को जारी किया जाने वाला एक यूनीक अल्फ़ान्यूमेरिक नंबर होता है. यह आपके सबमिट किए गए कारोबार के रजिस्ट्रेशन दस्तावेज़ पर मौजूद CIN से हूबहू मेल खाना चाहिए.
    • कारोबार के रजिस्ट्रेशन का दस्तावेज़: आपको कारोबार के रजिस्ट्रेशन का दस्तावेज़ सबमिट करना होगा. मंज़ूरी के लायक दस्तावेज़ों में आपके कारोबार इनकॉर्पोरेशन का सर्टिफ़िकेट, सोसाइटी के रजिस्ट्रेशन का दस्तावेज़, ट्रस्ट की डीड या पार्टनरशिप डीड या कानूनी समझौता शामिल हैं.
  • अगर आपका कारोबार भारत में रजिस्टर्ड नहीं है:
    • कारोबार का नाम: यह नाम आपके सबमिट किए गए, पते के सबूत के दस्तावेज़ पर मौजूद नाम से हूबहू मेल खाना चाहिए. इसके अलावा, नाम में मौजूद बड़े अक्षर और विराम चिन्ह भी सटीक ढंग से मेल खाने चाहिए. विज्ञापन के “पैसा चुकाने वाला” खुलासे में और ‘राजनीतिक विज्ञापन’ की पारदर्शिता रिपोर्ट के अलावा राजनीतिक विज्ञापन लाइब्रेरी में भी यही नाम दिखाई देगा.
    • कारोबार का पता: यह आपके सबमिट किए गए, पते के सबूत के दस्तावेज़ पर मौजूद पते से मेल खाना चाहिए.
    • कारोबार के पते का सबूत: आपको कारोबार के पते का सबूत दिखाने वाला दस्तावेज़ सबमिट करना होगा. मंज़ूरी के लायक दस्तावेज़ों में कारोबार के नाम पर जारी बिजली, पानी, टेलीफ़ोन वगैरह के यूटिलिटी बिल या बैंक या क्रेडिट कार्ड का स्टेटमेंट शामिल हैं. इन दस्तावेज़ों के जारी करने की तारीख एक साल से ज़्यादा पुरानी नहीं होनी चाहिए.
  • यह प्रमाणित करना कि आप पुष्टि के लिए आवेदन करने वाले संगठन के आधिकारिक प्रतिनिधि हैं
  • यह प्रमाणित करना कि जो संगठन पुष्टि के लिए आवेदन कर रहा है, वह भारत के कानूनों के तहत संचालित किया जाता है और भारत में स्थापित है, और उसे भारत में चुनाव के विज्ञापन चलाने की अनुमति है
  • Google की चुनावी विज्ञापन शर्तों से कानूनी समझौता

आप चुनावी विज्ञापन चलाने की शर्तों को पूरा करते हैं या नहीं, इसकी पुष्टि होने में दो कारोबारी दिन तक का समय लग सकता है.

चरण 2: अपनी पहचान की पुष्टि करें

जब Google इस बात की पुष्टि कर लेगा कि आपका कारोबार चुनावी विज्ञापन चलाने से जुड़ी सभी शर्तों को पूरा करता है, तब आपको एक ईमेल और खाते में सूचना (‘Google Ads खाते’ के ऊपर लाल रंग के बार में) मिलेगी जिससे आपको Google Ads में पहचान की पुष्टि प्रक्रिया में आगे की जानकारी मिलेगी. ध्यान दें कि हमारा ईमेल मिलने और खाते में सूचना दिखाई देने बाद आपके पास Google Ads में पहचान की पुष्टि प्रक्रिया को पूरा करने के लिए 60 दिन का समय होगा.

जैसा कि ऊपर बताया गया है कि आपको यह चरण पूरा करने के लिए अपने कारोबार का आधिकारिक प्रतिनिधि होना चाहिए

आप Google Ads में नीचे दी गई जानकारी की पुष्टि करेंगे:

  • कारोबार का नाम: यह नाम आपके सबमिट किए गए कारोबार के रजिस्ट्रेशन दस्तावेज़ पर मौजूद नाम से हूबहू मेल खाना चाहिए. इसके अलावा, नाम में मौजूद बड़े अक्षर और विराम चिन्ह भी सटीक ढंग से मेल खाने चाहिए.
  • व्यवसाय का पता
  • कारोबार के पते का सबूत: आपको कारोबार के पते का सबूत दिखाने वाला दस्तावेज़ सबमिट करना होगा. मंज़ूरी के लायक दस्तावेज़ों में कारोबार के नाम पर जारी बिजली, पानी, टेलीफ़ोन वगैरह के यूटिलिटी बिल या बैंक या क्रेडिट कार्ड का स्टेटमेंट, इंश्योरेंस का स्टेटमेंट या टैक्स रिटर्न शामिल हैं.
  • कारोबार के रजिस्ट्रेशन का दस्तावेज़: अगर आपका कारोबार भारत के कानूनों के तहत रजिस्टर्ड है, तो आपको कारोबार के रजिस्ट्रेशन का दस्तावेज़ सबमिट करना होगा. मंज़ूरी के लायक दस्तावेज़ों में आपके कारोबार इनकॉर्पोरेशन का सर्टिफ़िकेट, सोसाइटी के रजिस्ट्रेशन का दस्तावेज़, ट्रस्ट की डीड या पार्टनरशिप डीड या कानूनी समझौता शामिल हैं. अगर आपका कारोबार भारत के कानूनों के तहत रजिस्टर्ड नहीं है, तो आप बिजली, पानी, टेलीफ़ोन वगैरह के यूटिलिटी बिल सबमिट कर सकते हैं.
  • कारोबार का रजिस्ट्रेशन नंबर: यह ‘कॉर्पोरेट आईडेंटीफ़िकेशन नंबर (CIN) होता है. यह ‘रजिस्ट्रार ऑफ़ कंपनीज़’ की ओर से भारत में पंजीकृत कंपनियों को जारी किया जाने वाला 21 डिजिट का एक यूनीक अल्फ़ान्यूमेरिक नंबर होता है. अगर आप भारत के कानूनों के तहत रजिस्टर्ड नहीं है, तो आपको यहां कुछ भी दर्ज नहीं करना है.
  • आपका नाम: यह नाम आपके सबमिट किए, सरकार की ओर से जारी फ़ोटो आईडी पर लिखे नाम से हूबहू मेल खाना चाहिए. इसके अलावा, नाम में मौजूद बड़े अक्षर और विराम चिन्ह भी सटीक ढंग से मेल खाने चाहिए.
  • आपका पता
  • सरकार की ओर से जारी आपके फ़ोटो आईडी की कॉपी: मौजूदा भारतीय पासपोर्ट, पैन कार्ड, वोटर आईडी या ड्राइविंग लाइसेंस. ध्यान दें कि ‘आधार कार्ड’ स्वीकार नहीं किए जाएंगे.
  • यह प्रमाणित करना कि आप पुष्टि के लिए आवेदन करने वाले संगठन के आधिकारिक प्रतिनिधि हैं
  • यह प्रमाणित करना कि जो संगठन पुष्टि के लिए आवेदन कर रहा है, वह भारत के कानूनों के तहत संचालित किया जाता है और भारत में स्थापित है, और उसे भारत में चुनावी विज्ञापन चलाने की अनुमति है
  • संगठन की ओर से Google की चुनावी विज्ञापन शर्तों से कानूनी समझौता

गैर-लाभकारी संगठन कैसे करें गूगल चुनाव विज्ञापन के लिए पुष्टि

आपको इस पुष्टि प्रक्रिया के दो चरणों को पूरा करने के लिए, अपने गैर-लाभकारी संगठन का आधिकारिक प्रतिनिधि होना चाहिए. आधिकारिक प्रतिनिधि होने के लिए, आपको गैर-लाभकारी संगठन का स्थायी कर्मचारी होना चाहिए या अगर लागू होता है, तो आपको गैर-लाभकारी संगठन का प्रतिनिधित्व करने वाली एजेंसी का प्रतिनिधि होना चाहिए. आपके पास गैर-लाभकारी संगठन के ‘Google Ads खाते’ का एक्सेस भी होना चाहिए.

चरण 1: आप चुनावी विज्ञापन चलाने की ज़रूरी शर्तों को पूरा करते हैं, इसकी पुष्टि करें

आपको आवेदन पत्र (ऐप्लिकेशन फ़ॉर्म) में आधिकारिक प्रतिनिधि के तौर पर नीचे दी गई जानकारी देनी होगी:

  • आपका Google Ads ग्राहक आईडी
  • आपका नाम
  • ईमेल पता: एक ईमेल पता दें ताकि Google आपसे संपर्क कर सके.
  • गैर-लाभकारी संगठन का मकसद: यह आपके गैर-लाभकारी संगठन का मकसद या मिशन है.
  • गैर-लाभकारी संगठन का नाम: यह आपके सबमिट किए गए, पते के सबूत वाले दस्तावेज़ पर मौजूद नाम से हूबहू मेल खाना चाहिए. इसके अलावा, नाम में मौजूद बड़े अक्षर और विराम चिन्ह भी सटीक ढंग से मेल खाने चाहिए. ध्यान दें कि विज्ञापन के “पैसा चुकाने वाला” खुलासे में और ‘राजनीतिक विज्ञापन’ की पारदर्शिता रिपोर्ट के अलावा राजनीतिक विज्ञापन लाइब्रेरी में भी यही नाम दिखाई देगा.
  • गैर-लाभकारी संगठन का पता: यह आपके सबमिट किए गए, पते के सबूत वाले दस्तावेज़ पर मौजूद पते से हूबहू मेल खाना चाहिए
  • गैर-लाभकारी संगठन के पते का सबूत: आपको गैर-लाभकारी संगठन के पते का सबूत दिखाने वाला दस्तावेज़ सबमिट करना होगा. मंज़ूरी के लायक दस्तावेज़ों में गैर-लाभकारी संगठन का रजिस्ट्रेशन दस्तावेज़, उसके नाम पर जारी बिजली, पानी, टेलीफ़ोन वगैरह के यूटिलिटी बिल या बैंक/ क्रेडिट कार्ड का स्टेटमेंट शामिल हैं. इन दस्तावेज़ों के जारी करने की तारीख एक साल से ज़्यादा पुरानी नहीं होनी चाहिए.
  • यह प्रमाणित करना कि आप पुष्टि के लिए आवेदन करने वाले संगठन के आधिकारिक प्रतिनिधि हैं
  • यह प्रमाणित करना कि जो संगठन पुष्टि के लिए आवेदन कर रहा है, वह भारत के कानूनों के तहत संचालित किया जाता है और भारत में स्थापित है, और उसे भारत में चुनावी विज्ञापन चलाने की अनुमति है
  • Google की चुनावी विज्ञापन शर्तों से कानूनी समझौता

आप चुनावी विज्ञापन चलाने की शर्तों को पूरा करते हैं या नहीं, इसकी पुष्टि होने में दो कारोबारी दिन तक का समय लग सकता है.

चरण 2: अपनी पहचान की पुष्टि करें

जब Google इस बात की पुष्टि कर लेगा कि आपका संगठन चुनावी विज्ञापन चलाने से जुड़ी सभी शर्तों को पूरा करता है, तब आपको एक ईमेल और खाते में सूचना (‘Google Ads खाते’ के ऊपर लाल रंग के बार में) मिलेगी, जिससे आपको Google Ads में पहचान की पुष्टि प्रक्रिया में आगे की जानकारी मिलेगी. ध्यान दें कि हमारा ईमेल मिलने और खाते में सूचना दिखाई देने के बाद, आपके पास Google Ads में पहचान की पुष्टि प्रक्रिया को पूरा करने के लिए 60 दिन का समय होगा.

जैसा कि ऊपर बताया गया है कि आपको यह चरण पूरा करने के लिए अपने संगठन का आधिकारिक प्रतिनिधि होना चाहिए.

आप Google विज्ञापनों में नीचे दी गई जानकारी की पुष्टि करेंगे:

  • गैर-लाभकारी संगठन का नाम: यह आपके सबमिट किए गए गैर-लाभकारी संगठन के रजिस्ट्रेशन वाले दस्तावेज़ पर मौजूद नाम से हूबहू मेल खाना चाहिए. इसके अलावा, नाम में मौजूद बड़े अक्षर और विराम चिन्ह भी सटीक ढंग से मेल खाने चाहिए.
  • गैर-लाभकारी संगठन का पता
  • गैर-लाभकारी संगठन का मकसद: यह आपके गैर-लाभकारी संगठन का मकसद या मिशन है.
  • गैर-लाभकारी संगठन के पते का सबूत: आपको गैर-लाभकारी संगठन के पते का सबूत दिखाने वाला दस्तावेज़ सबमिट करना होगा. मंज़ूरी के लायक दस्तावेज़ों में गैर-लाभकारी संगठन का रजिस्ट्रेशन दस्तावेज़, उसके नाम पर जारी बिजली, पानी, टेलीफ़ोन वगैरह के यूटिलिटी बिल या बैंक या क्रेडिट कार्ड का स्टेटमेंट शामिल हैं.
  • गैर-लाभकारी संगठन का रजिस्ट्रेशन दस्तावेज़: मंज़ूरी के लायक दस्तावेज़ों में गैर-लाभकारी संगठन की सोसाइटी का रजिस्ट्रेशन दस्तावेज़, ट्रस्ट के रजिस्ट्रेशन का दस्तावेज़ या उसके नाम पर जारी बिजली, पानी, टेलीफ़ोन वगैरह के यूटिलिटी बिल शामिल हैं.
  • गैर-लाभकारी संगठन का रजिस्ट्रेशन नंबर
  • आपका नाम: यह नाम आपके सबमिट किए, सरकार की ओर से जारी फ़ोटो आईडी पर लिखे नाम से हूबहू मेल खाना चाहिए. इसके अलावा, नाम में मौजूद बड़े अक्षर और विराम चिन्ह भी सटीक ढंग से मेल खाने चाहिए.
  • आपका पता
  • सरकार की ओर से जारी आपके फ़ोटो आईडी की कॉपी: मौजूदा भारतीय पासपोर्ट, पैन कार्ड, वोटर आईडी या ड्राइविंग लाइसेंस. ध्यान दें कि ‘आधार कार्ड’ स्वीकार नहीं किए जाएंगे.
  • यह प्रमाणित करना कि आप पुष्टि के लिए आवेदन करने वाले संगठन के आधिकारिक प्रतिनिधि हैं
  • यह प्रमाणित करना कि जो संगठन पुष्टि के लिए आवेदन कर रहा है, वह भारत के कानूनों के तहत संचालित किया जाता है और भारत में स्थापित है, और उसे भारत में चुनावी विज्ञापन चलाने की अनुमति है
  • संगठन की ओर से Google की चुनावी विज्ञापन शर्तों से कानूनी समझौता

व्‍यक्तिगत गूगल चुनाव विज्ञापन पुष्टि का तरीका

चरण 1: आप चुनावी विज्ञापन चलाने की ज़रूरी शर्तों को पूरा करते हैं, इसकी पुष्टि करें

आवेदन पत्र (ऐप्लिकेशन फ़ॉर्म) में आपको नीचे दी गई जानकारी देनी होगी:

  • आपका Google Ads ग्राहक आईडी
  • नाम: यह नाम आपके Google Ads पेमेंट्स प्रोफ़ाइल (जिसे आप “बिलिंग और पेमेंट्स” के “सेटिंग” पेज पर देख सकते हैं) में मौजूद नाम से हूबहू मेल खाना चाहिए. यह नीचे, चरण दो में सबमिट किए जाने वाले उस नाम से भी हूबहू मेल खाना चाहिए जो सरकार की ओर से जारी फ़ोटो आईडी पर दिखाया गया है. इसके अलावा, नाम में मौजूद बड़े अक्षर और विराम चिन्ह भी सटीक ढंग से मेल खाने चाहिए.
  • ईमेल पता: एक ईमेल पता दें ताकि Google आपसे संपर्क कर सके.
  • लोक सभा चुनावों के लिए राजनीतिक उम्मीदवार के तौर पर पहचान: आपसे यह पूछा जाएगा कि आप ‘लोक सभा चुनावों’ के राजनीतिक उम्मीदवार हैं या नहीं. ध्यान दें कि अगर आपका जवाब ‘हां’ है और आप Google से अपनी पुष्टि राजनीतिक उम्मीदवार के तौर करवाना चाहते हैं, तो ‘Google Ads खाते’ के सभी विज्ञापनों को, भारत में चुनावी विज्ञापन के तहत वर्गीकृत किया जाएगा. इसका मतलब यह है कि आपके विज्ञापनों को भारत में चुनावी विज्ञापनों के लिए Google Ads की नीति का पालन करना होगा. इसके तहत आपको हर उस चुनावी विज्ञापन के लिए एक प्री-सर्टिफ़िकेट सबमिट करना होगा जिसे आप चलाना चाहते हैं.
  • यह प्रमाणित करना कि आपके पास भारत में चुनाव के विज्ञापन चलाने की कानूनी अनुमति है
  • Google की चुनावी विज्ञापन शर्तों से कानूनी समझौता

आप चुनावी विज्ञापन चलाने की शर्तों को पूरा करते हैं या नहीं, इसकी पुष्टि होने में दो कारोबारी दिन तक का समय लग सकता है.

चरण 2: अपनी पहचान की पुष्टि करें

जब Google इस बात की पुष्टि कर लेगा कि आप चुनावी विज्ञापन चलाने से जुड़ी सभी शर्तों को पूरा करते हैं, तब आपको एक ईमेल और खाते में सूचना (आपके Google Ads खाते के ऊपर लाल रंग के बार में) मिलेगी, जिससे आपको Google Ads में पहचान की पुष्टि प्रक्रिया में आगे की जानकारी मिलेगी. ध्यान दें कि हमारा ईमेल मिलने और खाते में सूचना दिखाई देने के बाद, आपके पास Google Ads में पहचान की पुष्टि प्रक्रिया को पूरा करने के लिए 60 दिन का समय होगा.

आप Google Ads में नीचे दी गई जानकारी की पुष्टि करेंगे:

  • नाम: यह नाम आपके Google Ads की पेमेंट्स प्रोफ़ाइल में होगा. इसके साथ ही, यह आपके सबमिट किए जाने वाले उस नाम से भी हूबहू मेल खाना चाहिए, जो सरकार की ओर से जारी फ़ोटो आईडी पर दिखाया गया है, नाम में मौजूद बड़े अक्षर और विराम चिन्ह भी सटीक ढंग से मेल खाने चाहिए. ध्यान दें कि यह नाम विज्ञापन के “पैसा चुकाने वाला” खुलासे में और ‘राजनीतिक विज्ञापन’ की पारदर्शिता रिपोर्ट के अलावा राजनीतिक विज्ञापन लाइब्रेरी में भी यही नाम दिखाई देगा.
  • जन्मतिथि
  • पता: यह आपके पेमेंट्स प्रोफ़ाइल में दर्ज पता होगा.
  • सरकार की ओर से जारी आपके फ़ोटो आईडी की कॉपी: मौजूदा भारतीय पासपोर्ट, पैन कार्ड, वोटर आईडी या ड्राइविंग लाइसेंस. ध्यान दें कि ‘आधार कार्ड’ स्वीकार नहीं किए जाते हैं.
  • यह प्रमाणित करना कि आपके पास भारत में चुनावी विज्ञापन चलाने की कानूनी अनुमति है
  • Google की चुनावी विज्ञापन शर्तों से कानूनी समझौता

गूगल चुनाव विज्ञापन पुष्टि के लिए आवेदन कैसे करें

आप इस आवेदन फ़ॉर्म का इस्तेमाल करके पुष्टि के लिए आवेदन कर सकते हैं. आपसे राजनीतिक दलों, कारोबारों, गैर-लाभकारी संगठनों या व्यक्तियों के लिए ऊपर दी गई ज़रूरी जानकारी को भरने के लिए कहा जाएगा.

Google आपके आवेदन की समीक्षा करेगा और आपको तीन से पांच कारोबारी दिनों के अंदर पुष्टि के बारे में एक ईमेल भेजेगा.

ध्‍यान देने लायक खास बातें

  • अगर गूगल को पता चला कि आपने गूगल की राजनीतिक विज्ञापन नीति का उल्लंघन किया है या आपने पुष्टि प्रक्रिया के दौरान गलत जानकारी दी है, तो आपकी पुष्टि की प्रक्रिया निरस्त कर दी जाएगी और आपका खाता निलंबित हो सकता है. 
  • आपको समय-समय पर अपनी पुष्टि का नवीनीकरण करना होगा. जब यह पुष्टि करना ज़रूरी होगा, तब आपको एक सूचना मिलेगी.
  • अगर आप अपने खाते का इनवॉइस सेटअप बदलते हैं, तो आपको भारत में चुनावी विज्ञापन चलाने के लिए अपने खाते की दोबारा पुष्टि करनी होगी.
  • पुष्टि की इन ज़रूरी शर्तों को Google किसी भी समय अपडेट कर सकता है.

Google आपकी जानकारी का इस्तेमाल कैसे करता है

आप पुष्टि प्रक्रिया के दौरान जो जानकारी देंगे, Google उनका इस्तेमाल करके नीचे दिए गए काम करेगा:

  • आपकी पहचान और आप चुनावी विज्ञापन चलाने की ज़रूरी शर्तों को पूरा करते हैं या नहीं, इसकी पुष्टि करेगा
  • चुनाव के विज्ञापनों के लिए:
    • जब संभव हो, तब विज्ञापन में यह खुलासा शामिल करें कि आपके चुनावी विज्ञापन का पैसा कौन चुकाता है. इसका मतलब यह है कि उपयोगकर्ताओं के सामने पेश किए जाने वाले विज्ञापनों में आपके राजनीतिक दल, गैर-लाभकारी संगठन, कारोबार का नाम या आपका नाम दिखाया जाएगा.
    • सार्वजनिक तौर से देखी जा सकने वाली ‘राजनीतिक विज्ञापन’ की पारदर्शिता रिपोर्ट और चुनावी विज्ञापनों के धन के स्रोतों के डेटा के साथ एक राजनीतिक विज्ञापन लाइब्रेरी, खर्च होने वाली रकम वगैरह प्रकाशित करें.

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More