Take a fresh look at your lifestyle.

यूपी सीएम योगी का बड़ा बयान: पुलिस पर गोली चलाने वाला जरूर खाएगा गोली

0

#Lucknow: मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि अगर कोई पुलिस पर गोली चलाएगा तो आत्मरक्षा में पुलिस भी उस पर गोली चलाएगी. हमारे रहते न अभी तक कोई फर्जी एनकाउंटर हुआ है और न ही भविष्य में होगा, लेकिन हर व्यक्ति को सुरक्षा देना हमारी जिम्मेदारी है.

राजधानी में शुक्रवार को आयोजित एक कार्यक्रम में योगी ने कहा, मैं प्रदेश की जनता को गारंटी देता हूं कि राह चलते किसी व्यक्ति को पुलिस गोली नहीं मार सकती. किसी के साथ अन्याय नहीं होने दिया जाएगा, लेकिन आतंकियों को त्योहारों के मौके पर उत्पात मचाने के लिए खुला नहीं छोड़ सकते.

कानपुर में गुरुवार को ही हमने हिजबुल मुजाहिदीन से जुड़ा एक आतंकी पकड़ा. मुख्यमंत्री ने बलात्कार की घटनाओं को रोकने के लिए परिवार, विद्यालय और समाज के स्तर पर व्यापक जागरूकता अभियान चलाने का आह्वान किया. साथ ही कहा कि अन्याय से पीड़ित महिलाएं हेल्पलाइन 181 या 1090 पर मदद ले सकती हैं.

समय आने पर अयोध्या में बनेगा भव्य राम मंदिर

सीएम ने कहा कि उन्हें अयोध्या जाने में डर नहीं लगता. हालांकि, तमाम नेता वहां जाने से डरते हैं. हमारे वहां जाने के राजनीतिक निहितार्थ भी ढूंढते हैं. हम अयोध्या में भव्य म्यूजियम और भगवान राम की भव्य प्रतिमा लगाएंगे. हमने न अपना कोई मुद्दा छोड़ा है और न ही उसका राजनीतिकरण किया है. समय आने पर अयोध्या में भव्य मंदिर जरूर बनेगा.

विपक्षी दलों की हताशा महागठबंधन का आधार

योगी ने कहा कि विपक्षी महागठबंधन न कोई आधार है, न मुद्दा और न ही नेता. यह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और विकास को रोकने की शरारतपूर्ण चेष्टा है. हमें पूरा यकीन है कि 2019 का चुनाव भी प्रचंड बहुमत के साथ जीतेंगे.

सबको सुरक्षा, किसी का तुष्टीकरण नहीं

योगी ने कहा कि प्रदेश में अब ट्रांसफर-पोस्टिंग से लेकर अधिकांश कार्य ऑनलाइन हो रहे हैं. पिक एंड चूज की व्यवस्था खत्म कर दी गई है. मेरिट के अनुसार ही निर्णय लिए जाएंगे. उन्होंने कहा कि यूपी में मॉब लिंचिंग की कोई घटना नहीं हुई है. सरकार सबकी सुरक्षा और सबके विकास के लिए प्रतिबद्ध है, लेकिन तुष्टीकरण किसी का नहीं करेगी.

इंसेफ्लाइटिस से मौतों के लिए कुप्रंबधन था जिम्मेदार

सीएम ने कहा कि पिछले साल गोरखपुर मेडिकल कॉलेज में हुई मौतों को मीडिया ने काफी हाईलाइट किया. जेनुइन मुद्दा था. इसे उठाना ही चाहिए था, लेकिन हमने इंसेफ्लाइटिस समेत जलजनित बीमारियों से बचाव के लिए कदम उठाए. ट्रेनिंग की व्यवस्था की. इसी का नतीजा है कि इस साल मौतों में बेहद कमी आई है. सिर्फ छह मौतें ही हुईं. इससे पहले के दो वर्षों में क्रमश: 80 और 116 मौतें हुई थीं. इंसेफ्लाइटिस से होने वाली मौतों के लिए उन्होंने पूर्ववर्ती सरकार के कार्यकाल में रहे कुप्रबंधन को जिम्मेदार ठहराया.

अस्पतालों में पर्याप्त दवाएं 

सीएम ने कहा कि प्रत्येक अस्पताल, प्राथमिक व सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पर पर्याप्त दवाएं उपलब्ध हैं. दवा खरीद के लिए कॉर्पोरेशन बना दिया गया है. कंपनियां बाजार भाव से आधे दाम पर दवाओं की आपूर्ति कर रही हैं.

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More