UP Board Result 2020: 10वीं व 12वीं बोर्ड एग्जाम रिजल्ट मई में भी संभव नहीं, जानें कब तक नतीजे

by

UP Board Result 2020: 10वीं व 12वीं कक्षाओं की बोर्ड परीक्षाओं के परिणामों को लेकर जहां छात्रों में परेशानी देखी जा रही है, वहीं दूसरी ओर उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षा परिषद्, प्रयागराज द्वारा 21 अप्रैल को जारी एक विज्ञप्ति के अनुसार बोर्ड की परीक्षाओं की उत्तर-पुस्तिकाओं का मूल्यांकन कार्य कोविड-19 महामारी के मद्देनजर स्थगित किया गया है. इस प्रकार बोर्ड परीक्षाओं की कॉपियों की जांच 25 अप्रैल से कराये जाने की संभावना समाप्त हो जाती है.

बता दें कि उत्तर प्रदेश राज्य सरकार में उपमुख्यमंत्री दिनेश शर्मा द्वारा 17 अप्रैल को दी गयी जानकारी के अनुसार 25 अप्रैल से कॉपियों जांच कराये जाने के लिए तैयारी करने के निर्देश दिये गये थे.

दूसरी तरफ, उत्तर प्रदेश में भी कोरोना वायरस (कोविड-19) के लगातार बढ़ रहे मामलों और विभिन्न विद्यालयों के प्रधानाचार्य और शिक्षकों के विरोध को देखते हुए भी कॉपियों की जांच 25 अप्रैल से शुरू नही हो पाएगी.

हाई स्कूल और इंटरमीडिएट कक्षाओं की बोर्ड परीक्षाओं की कॉपियों के जांच में लॉक डाउन के कारण आ रही अड़चनों को देखते हुए 10वीं और 12वीं के नतीजों की घोषणा की संभावना मई में किये जाने की संभावना नजर नहीं आज रही है. उम्मीद की जा सकती है यूपी बोर्ड हाई स्कूल का रिजल्ट और इंटरमीडिएट के नतीजे जून के पहले या दूसरे हफ्ते में घोषित हो जाएं.

वहीं, राज्य के हाई स्कूल और इंटरमीडिएट के छात्रों, जिन्होंने बोर्ड की परीक्षाएं दी हैं, को पास कराने के लिए पैसे की मांग की खबरों के बीच, उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षा परिषद ने 21 अप्रैल को जारी विज्ञप्ति में ऐसे लोगों के विरूद्ध विधिक कार्यवाही के लिए जिला विद्यालय निरीक्षक और पुलिस प्रशासन को निर्देश जारी किये हैं.

माध्यमिक शिक्षा परिषद ने छात्रों और उनके अभभावकों से भी अपील की है कि वे इस प्रकार के प्रलोभनों में न पड़ते हुए, बल्कि उनके मोबाईल नंबर और पैसा जमा करने के लिए दिये गये बैंक एकाउंट नंबर की जानकारी साझा करें.

अगर बोर्ड परीक्षा से सम्बन्धित आकड़ों की बात करें तो इस वर्ष की बोर्ड परीक्षाओं में कुल 50 लाख परीक्षार्थियों ने फॉर्म भरे थे और इनकी कॉपियों की जांच के लिए 1.5 लाख अध्यापकों एवं मूल्यांकनकर्ताओं को लगाया गया है.

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.