&Tv में होगी भावनाओं की परीक्षा, जानिए अपने फेवरेट टीवी सीरियल की कहानी

इस हफ्ते, एण्डटीवी के शोज ‘बाल शिव‘, ‘हप्पू की उलटन पलटन‘ और ‘भाबीजी घर पर हैं‘ के किरदार दर्शकों का मनोरंजन करने के लिये भावनाओं की परीक्षा से होकर गुजरंगे. एण्डटीवी के ‘बाल शिव‘ की देवी पार्वती कहती हैं, ‘‘शाप से मुक्त हुए और नारद बने मूढ़, ऋषि कात्यायन (मनोज कलोथकर) को बताते हैं कि दंडपानि एक असुर है. साथ ही उन्होंने महिषासुर (पंकज कुमार), को भी बताया कि मां दुर्गा (शिव्या पठानिया) ने तुम्हारा अंत करने के लिये स्त्री रूप में जन्म लिया है. महिषासुर अपने सैनिकों को दुनिया की हर स्त्री का अपहरण करने का आदेश देता है और वह खुद देवी सुमति (साची तिवारी) का अपहरण कर लेता है.

जब बाल शिव (आन तिवारी) को इस बारे में पता चलता है, वो उन्हें छुड़ाने के लिये उसका पीछा करते हैं. देवी कात्यायनी (तृषा आशीष सरदा) अमरनाथ गुफा पहुंचती है और देवी पार्वती के रूप में आ जाती है और उन्हें अपने और महादेव की पिछली बातें याद आने लगती है. इसके बाद उन्हें महिषासुर को मारने का ऋषि कात्यायन का निवेदन सुनाई पड़ता है और वह क्रोधित हो जाती हैं. मां दुर्गा, शेर लेकर विंध्याचल पर्वत पहुंचती हैं और घोषणा करती हैं कि वह महिषासुर का वध करने जा रही है. यह सुनकर सारे देवी और देवता प्रसन्न हो जाते हैं. एक भयानक युद्ध के बाद, वह महिषासुर को मार गिराती है और अदृश्य हो जाती हैं, जिससे सारे लोग घबरा जाते हैं. क्या बाल शिव अपनी देवी पार्वती को वापस ले जा पाएंगे?‘‘

एण्डटीवी के ‘हप्पू की उलटन पलटन‘ के दरोगा हप्पू सिंह कहते हैं,‘‘राजेश के पिता गब्बर (कामना पाठक), उसे अपने पिता की आखिरी निशानी गोल्ड प्लेटेड छाता तोहफे में देते हैं. चूंकि, वह उनके बहुत करीब थी, इसलिये उस छाते को लेकर बहुत भावुक हो जाती है और उसे संभाल कर रखती है.

हालांकि, उस जगह (टाॅयलेट) बाहर खड़ा हप्पू (योगेश त्रिपाठी) दबाव में आकर, कमलेश (संजय चैधरी) पर यह कहते हुए चिल्लाता है किसी भी वक्त मुंह उठाकर उसके घर ना आया करे। इसके अगले दिन, बेनी (विश्वनाथ चटर्जी) और हप्पू एक चाय की दुकान जाने के बारे में सोचते हैं, लेकिन जब हप्पू देखता है कि बाहर बारिश हो रही है तो वह राजेश का गोल्ड-प्लेटेड छाता लेकर चला जाता है. कमलेश, हप्पू और बेनी के पीछे-पीछे जाता है और छाता चुरा लेता है. राजेश को उस घटना के बारे में पता चलता है और वह परेशान हो जाती है. इसके बाद, कटोरी अम्मा (हिमानी शिवपुरी) अपने दिवंगत पति खोदी का छाता हप्पू को देती है और गोल्ड प्लेटेड करवाकर और उसे राजेश को तोहफे में देने को कहती है.

हालांकि, कमलेश उस छाते को भी चुरा लेता है. हप्पू चोर को कैसे पकड़ेगा और किस तरह छाता वापस लेकर आएगा?‘‘एण्डटीवी के ‘भाबीजी घर पर हैं‘ की अनीता भाबी बताती हैं, ‘अनीता (विदिशा श्रीवास्तव) की दोस्त मीनल उसे कहती है कि मेरी चंट सहेली के आर्टिकल में बताया गया है कि अपनी पत्नियों के लिये पति के प्यार को जरूर परखना चाहिए. उनका एक अफेयर होना चाहिए। यदि उनके पति रोते हैं, पजेसिव हो जाते हैं, उन्हें जलन होती है, तो इसका मतलब है उनका प्यार असली है. अपने लिये, विभूति (आसिफ शेख) का प्यार परखने के लिये, अनीता, तिवारी (रोहिताश्व गौड़) को झूठा अफेयर करने को कहती है, लेकिन अपने अति-उत्साह और भावनाएं काबू ना रख पाने के कारण, अनीता आॅप्शन के रूप में उसे छोड़ देती है. इसके बाद, अनीता, हप्पू सिंह (योगेश त्रिपाठी) से मिलती है और उसके साथ झूठा अफेयर करने के लिये मनाती है. हप्पू, बहुत खुश हो जाता है, क्योंकि उसका सपना पूरा हो जाता है. क्या विभूति इस परीक्षा में पास हो पाएगा?‘‘

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.