बीजेपी ने हैदराबाद नगर निगम चुनावों में टीआरएस को दिया बड़ा झटका

by

Hyderabad: तेलंगाना राष्ट्र समिति (टीआरएस) के कार्यकारी अध्यक्ष केटी रामा राव ने कहा कि ग्रेटर हैदराबाद नगर निगम (जीएचएमसी) के चुनावी परिणाम पार्टी की उम्मीदों पर खरे नहीं उतरे. उन्होंने कहा कि टीआरएस को 20 से 25 कम सीटें मिली हैं. निश्चित रूप से परिणाम वैसे नहीं रहे, जैसे कि हमें उम्मीद थी.

केटी रामा राव (केटीआर) राज्य के मुख्यमंत्री के चंद्रशेखर राव (केसीआर) के बेटे हैं. केटीआर ने कहा कि टीआरएस 10 से 12 सीटों पर 100 से 200 वोटों के बेहद कम अंतर से हार गई.

इसे भी पढ़ें: हैदराबाद नगर निगम चुनाव में किसी को बहुमत नहीं, मेयर बनाने के लिए AIMIM और TRS करेंगे गठबंधन

Read Also  सोनिया-राहुल संग बैठक में भाग लिये झारखंड कांग्रेस के बड़े नेता, 1 नवंबर से व्‍यापक सदस्‍यता अभियान चलाएंगे

टीआरएस बनी सबसे बड़ी पार्टी

हालांकि, उन्होंने पार्टी को नतीजे से निराश नहीं होने की भी नसीहत दी. उन्होंने कहा कि ग्रेटर हैदराबाद के लोगों ने टीआरएस को अकेली सबसे बड़ी पार्टी के रूप में चुना है.

केटीआर ने कहा कि पार्टी चुनाव परिणामों का विश्लेषण करेगी और उन सभी मुद्दों को संबोधित करेगी, जिससे हमें वांछित परिणाम नहीं मिल पाए.

उनसे सवाल पूछा गया कि क्या टीआरएस मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन (एआईएमआईएम) से समर्थन लेगी, इस सवाल पर जवाब देते हुए उन्होंने कहा, हम पार्टी में चर्चा करेंगे.

भाजपा बनी दूसरी बड़ी पार्टी

150 सदस्यीय जीएचएमसी में 55 सीटों के साथ टीआरएस अकेली सबसे बड़ी पार्टी बनकर उभरी है और पार्टी एक डिवीजन में आगे रही. वहीं इस चुनाव में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने भी शानदार प्रदर्शन करते हुए 47 सीटों पर कब्जा किया और दो डिवीजनों में आगे रही. भगवा पार्टी चुनाव में दूसरी सबसे बड़ी पार्टी बनकर उभरी है.

Read Also  आर्यन खान कब जेल से बाहर आएंगे, आज बॉम्‍बे हाईकोर्ट करेगा फैसला

वहीं एआईएमआईएम को 43 सीटें मिलीं हैं. केटीआर ने उन लोगों को धन्यवाद दिया जिन्होंने पार्टी को वोट दिया. इसके साथ ही उन्होंने पार्टी के लिए काम करने वाले सभी नेताओं और कार्यकतार्ओं को भी धन्यवाद दिया.

2 thoughts on “बीजेपी ने हैदराबाद नगर निगम चुनावों में टीआरएस को दिया बड़ा झटका”

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.