पूरे पाकिस्तान से ज्यादा घरों को रोशन करेगा TROOPEL.COM

by

नई दिल्ली : आज से ठीक तीन दिन बाद पाकिस्तान के नसीब का बड़ा फैसला होने वाला हैं या यूं कहे पाक का नसीब बिगड़ने वाला है. पाकिस्तान अंतरराष्ट्रीय आतंकी वित्तपोषण की निगरानी संस्था एफएटीएफ के ब्लैक लिस्ट में होगा या फिर डार्क ग्रे लिस्ट में इसका फैसला 18 अक्टूबर को होने वाला है.

 वैसे तो पाकिस्तान का डार्क ग्रे लिस्ट में जाना तय है. इसलिए troopel.com पाकिस्तान की बर्बादी का जश्न अपने अंदाज़ में मनाएगा और जितना बड़ा पाकिस्तान है उतने जरुरत मंद घरों को troopel.com रोशन करेगा. जिस अंदाज़ से यह जश्न मनाया जाएगा वह अपने आप में अनूठा होगा और ऐसा जश्न होगा जो कहीं और नहीं होगा.

 troopel.com इस तरह करेगा पाकिस्तान से भी ज्यादा घरों को रोशन PAKISTAN :– P=16, A=1, K=11 , I=9, S=19, T=20, A=1, N=14 इस तरह troopel.com कुल 91 जरूरतमंद घरों को मिट्टी के दीयों से रोशन करेगा और उन लोगों की दिवाली को खास बनाएगा साथ ही उनके घरों में रौशनी फैलाएगा.

 अगर आपको समझ नहीं आ रहा है तो रुकिए-ठहरिये और यहाँ समझे इंग्लिश अल्फाबेट में पाकिस्तान का P आता है 16 नंबर पर A आता है 1 नंबर पर वहीं K आता है 11 नंबर पर I आता है 9 नंबर पर उसके बाद अल्फाबेट में 19 वें नंबर पर आता है S , उसके बाद आता है T=20 वें नंबर पर और A आता है 1 नंबर पर और N आता है 14 वें नंबर पर इस तरह इन टोटल अल्फाबेट के नंबर्स जोड़ने पर होता है = 91 तो इस तरह troopel.com पाकिस्तान जितना बड़ा दिवाली सेलिब्रेशन करेगा.

 troopel.com का मकसद सिर्फ समाज में एक नई ऊर्जा और सोच का संचार करना है जिससे कि समाज को एक नई दिशा मिल सकें. आप भी हमारी इस पहल से जुड़िये और रोशन करें उन घरों को जिनको तलाश है रौशनी की जो उनके जीवन में नया सवेरा ला सकें ..!

 क्या है एफएटीएफ का पूरा मामला..?

 गौरतलब है कि पाकिस्तान अपनी आतंकवादी गतिविधियों और आतंकवाद के खिलाफ उचित कदम न लेने के कारण डार्क ग्रे लिस्ट में शामिल किये जानें वाला है. एफएटीएफ के 36 में से एक भी देश, पाकिस्तान के साथ नहीं खड़ा है . आखिरी बैठक से पहले सबने मिलकर कहा, पाकिस्तान एक बर्बाद मुल्क का नाम है इसलिए ग्रे लिस्ट से निकालकर उसे डार्क ग्रे में रखा जाए.

 इसका मतलब ये है पाकिस्तान को IMF और वर्ल्ड बैंक की ओर से मिलने वित्तिय सहायता बंद कर दी जायेगी.
इसके अलावा पाकिस्तान को यूरोपीय यूनियन की ओर से भी वित्तिय सहायता नहीं मिलेगी.

 इससे होगा यह की डूबते पाकिस्तान की नाव में एक और बड़ा छेद कर दिया जाएगा. पाक और कर्जे में डूबता जाएगा.

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.