फिल्‍म थप्पड़ का ट्रेलर रिव्यू- तापसी की तारीफ तो बनती है

by

‘मुल्क’ और ‘आर्टिकल 15’ जैसी फिल्मों का निर्देशन करने वाले डायरेक्टर अनुभव सिन्हा अक्सर सीरियस विषयों पर अपनी कहानी लेकर आते हैं. एक बार फिर वह ‘थप्पड़’ फिल्म के जरिए दर्शकों के सामने हाजिर हैं. जहां समाज का एक सीरियस मुद्दा ये फिल्म अपने में समाए हैं.

तापसी पन्नू की फिल्म ‘थप्पड़’ का ट्रेलर रिलीज हो चुका है. जिसने फैंस को झकझोर कर रखा दिया है. फिल्म का ‘टाइटल’ और ‘फर्स्ट पोस्टर’ जिनता शानदार था ठीक वैसा ही ये ट्रेलर रहा है. जानिए तापसी पन्नू की फिल्म थप्पड़ का ट्रेलर रिव्यू.

तापसी पन्नू की फिल्म ‘थप्पड़’ के ट्रेलर की शुरुआत होती है हिंदू मैरिज एक्टर और दाम्पत्य अधिकार की बात करने वाले सेक्शन 9 से. जिस धारा का हवाला देते हुए नायिका को नोटिस मिला है कि वह पति के साथ वापस आकर रहे. ट्रेलर का पहला वाक्य ही जब इतना जबरदस्त हो तो आगे का ट्रेलर छोड़िए फिल्म देखने का भी मन बन जाता है.

थप्पड़ ट्रेलर

शादी के बाद पत्नी द्वारा अपनी उम्मीदों का गला घोंटने जैसे विषयों को समेटे ये फिल्म दर्शकों के सामने हाजिर है. ट्रेलर देखकर साफ हो जाता है कि फिल्म में शादी, पति, पत्नी और पारिवारिक रिश्ते जैसे तत्वों का गठजोड़ देखने को मिलेगा.

ये फिल्म समाज की सोच पर मारती है ‘थप्पड़’

जी हां, ये ट्रेलर समाज की सोच पर जोरदार थप्पड़ जड़ती है. जहां अक्सर लोग महिला पर हुई हिंसा को एक थप्पड़ ही तो है कह कर टालने की सलाह देते हैं. ट्रेलर में भी दिखाया गया है कि कैसे खुद के मां-पिता ही लड़की को कहते हैं कि सिर्फ एक थप्पड़ ही तो है, ऐसे में तालाक कौन लेता है.

वो डायलॉग जो आपको सोचने पर मजबूर कर देगा

‘उसने मुझे मारा पहली बार… नहीं मार सकता, बस इतनी सी बात है’ ये फिल्म का डायलॉग नहीं बल्कि फिल्म का सारांश है. इस डायलॉग को जिस अंदाज में तापसी पन्नू कहती है वह भाव देखने वाला है. इसके बाद एक डायलॉग और है जिसने इस ट्रेलर में जान डाल दी. वह इस प्रकार है- ‘वो चीज जिसे जोड़ना पड़े मतलब वह टूटी हुई है’

तापसी पन्नू की एक्टिंग

फिल्म ‘थप्पड़’ तापसी पन्नू की इर्द-गिर्द घूमती हैं. ट्रेलर से एक मिनट भी नायिका यानी तापसी से नजर नहीं हटती है. ‘मुल्क’ और ‘पिंक’ जैसी फिल्मों में जबरदस्त एक्टिंग के बाद एक बार फिर तापसी ने अपनी एक्टिंग का लोहा मनवाया है.

न पारिवारिक परेशानी, न अफेयर, न कुछ..बस एक थप्पड़..

तापसी पन्नू जो इस फिल्म में पत्नी का किरदार निभा रही हैं, वह हर औरत की तरह घर-परिवार व पति के लिए सब कुछ करती नजर आ रही हैं. लेकिन अचानक जब उसका पति उन्हें भरी पार्टी में थप्पड़ मारता है तो पत्नी को वो सब याद आ जाता है जिसे वह घर चलाने और रिश्ता निभाते समय इग्नोर कर रही थीं. इस सोच को बखूबी अनुभव सिन्हा ने पर्दे पर फिल्माया है जिसके लिए वह जरूर तारीफ के काबिल हैं.
समाज व परिवार

ट्रेलर उस हिस्से को भी दिखाने की कोशिश करता है जब पत्नी सबके खिलाफ जाकर पति से तलाक लेती है और अपने आत्म सम्मान के लिए खड़ी होती है. तो परिवार से लेकर समाज तक उसे समझाता है कि ‘थोड़ी बहुत मार-पीट तो प्यार ही है’, ‘जानें दे बेटा थोड़ा बर्दाश्त करना सीख’, ‘बस यही रह गया कि बेटी तलाक लेगी’, ऐसी तमाम बातें इस ट्रेलर के जरिए सुनाई गई है जो समाज में अक्सर सुनने को मिलती है.

खूबी

मसाला, तड़का, लव स्टोरी और बोल्ड सीन्स वो बिंदु हैं जो फिल्म को हिट करवाने के खूब काम आते हैं. लेकिन ये सब इस फिल्म में देखने को नहीं मिलता है. फिल्म थप्पड़ में उन छोटे छोटे लेकिन वास्तव में बड़े मुद्दों को समेटे हैं जिन्हें देख आप सोच में पड़ सकते हैं.

स्टार कास्ट

तापसी पन्नू के अलावा रत्ना पाठक, मानव कौल, दिया मिर्जा, राम कपूर और पवेल गुलाटी समेत कई स्टार्स नजर आते हैं. ये सबी एक्टिंग के लिए खूब लोकप्रिय हैं.

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.