झारखंड चुनाव में दिखेगा तीसरा मोर्चा का जलवा!

by

Ranchi: झारखंड विधानसभा चुनाव (Jharkhand Vidhan Sabha Chunav) में तीसरा मोर्चा का जलवा दिख सकता है. झारखंड चुनाव (Jharkhand Election) में तीसरा मोर्चा जेवीएम सुप्रीमो बाबूलाल मरांडी (JVM Chief Babulal Marandi) के नेतृत्वी में लड़ने की तैयारी हो रही है. इसके लिए प्रदेश के कई पार्टियों के साथ सहमति भी बन रही है. साथ ही बाबूलाल खुद उन पार्टियों के शीर्ष नेताओं के साथ झारखंड से बाहर जाकर मुलाकात कर चुके हैं.

टीएमसी झारखंड (TMC in Jharkhand) के सचिव दयानंद प्रसाद सिंह ने बताया कि झारखंड विकास मोर्चा के नेतृत्व में गठबंधन के नये स्वरूप का खाका तैयार हो रहा है. इसमें टीएमसी के साथ-साथ जदयू, आम आदमी पार्टी (AAP in Jharkhand) जैसी पार्टियां साथ हो सकती है.

टीएमसी नेता ने बताया कि गठबंधन के स्वरूप पर चर्चा के लिए जेवीएम सुप्रीमो बाबूलाल मरांडी छठ पर्व के पहले कोलकाता गये थे. वहां उन्होंंने टीएमसी प्रमुख ममता बनर्जी के साथ झारखंड के राजनीतिक परिस्थियों और गठबंधन पर चर्चा की थी.

उन्होंने बताया कि टीएमसी झारखंड प्रदेश अध्यक्ष कामेश्वसर बैठा फिलहाल कोलकाता में हैं. इस बैठक में टीएमसी के तय सीटों के लिए उम्मीदवारों के नाम फाइनल कर लिये जायेंगे. उनके रांची वापसी के बाद ही बहुत कुछ कहा जा सकता है.

इधर बाबूलाल मरांडी आम आदमी पार्टी के शीर्ष नेताओं के साथ भी मुलाकात कर चुके हैं. आम आदमी पार्टी के मीडिया प्रभारी राजेश कुमार ने बताया कि आम आदमी पार्टी को अभी तक गठबंधन पर सीटें तय नहीं हुई हैं. लेकिन विकल्प खत्म भी नहीं हुआ है. हम गठबंधन के लिए जा सकते हैं. बाबूलाल मरांडी की छवि दूसरे दलों के नेताओं से बेहतर है.

इधर बाबूलाल मरांडी पहले ही कह चुके हैं वह झारखंड के सभी सीटों पर चुनाव लड़ेंगे. इस बीच जेवीएम के नेता फिलहाल किसी भी तरह के गठबंधन से इनकार कर रहे हैं और ममता बनर्जी के साथ बाबूलाल की मुलाकात को औपचारिक भेंट बता रहे हैं.

इस बीच जेएमएम (JMM) नेतृत्व वाली गठबंधन भी बाबूलाल मरांडी से संपर्क कर रहा है. कांग्रेस (Congress) के प्रदेश अध्यक्ष रामेश्वार उरांव सोमवार की सुबह उनसे घर जाकर मुलाकात की. हालांकि इस मुलाकात के बारे में उन्होंने कुछ भी कहने से इनकार कर दिया.

अब देखना दिलचस्प होगा कि झारखंड विधानसभा चुनाव में बाबूलाल झामुमो-कांग्रेस के गठबंधन में उनकी शर्तों झारखंड विकास मोर्चा को शामिल करना चाहेंगे. या फिर तीसरा मोर्चा का नेतृत्व करते हुए चुनाव लड़ेंगे. इसका खुलासा आने वाले कुछ ही दिनों में हो सकता है.

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.