जिस प्राइवेट हॉस्पिटल का हेमंत सोरेन ने किया था उद्घाटन, वह कोरोना इलाज के लिए वसूल रहा मनमाना पैसा

by

Ranchi:  सरकार के तमाम कोशिशों के बावजूद रांची में प्राइवेट अस्‍पतालों की मनमानी और लूट थम नहीं रहा है. निजी अस्‍पताल बेखौफ होकर कोविड मरीाजों के इलाज का मनमाना बिल वसूल रहे हैं. ताजा मामला Promise Health Care RMC Hospital का है. इस अस्‍पताल ने 8 दिन के इलाज के लिए 2 लाख 77 हजार रुपये का बिल बना दिया. बिल नहीं चुकाने पर अस्‍पताल प्रबंधन ने कोविड के मृत शव को घंटे तक बंधक बनाए रखा.

Promise Health Care RMC Hospital का हेमंत सोरेन ने किया था उद्घाटन

Promise Health Care RMC Hospital का उद्घाटन 28 अप्रैल को ही मुख्‍यमंत्री हेमंत सोरेन ने किया था. इस अस्‍तपाल में ऑक्‍सीजन सपोर्टेड 40 बेड हैं. तब मुख्यमंत्री ने कहा था कि राज्य में कोरोना मरीजों को ऑक्सीजन युक्त बेड, वेंटिलेटर और अन्य जरूरी चिकित्सीय सुविधाएं उपलब्ध कराने की दिशा में तेजी के साथ काम कर रही है. अब केवल 20 दिन बाद ही इस हॉस्पिटल की मनमानी सामने आ गयी

Read Also  Modi 2.0: 7 राज्यों की विधानसभा चुनाव के पहले कैबिनेट में बड़े बदलाव की तैयारी

बता दें कि प्राइवेट अस्‍पतालों में कोरोना संक्रमितों के इलाज के लिए हेमंत सरकार ने पहले ही राशि तय कर दी है, इसके बावजूद रांची समेत सूबे के कई प्राइवेट अस्‍पताल बेखौफ होकर मनमर्जी बिल बनाकर परिजनों से मोटी रकम वसूल रहे हैं. अस्‍पतालों को सरकारी नियमों की परवाह नहीं है और न ही किसी तरह की कार्रवाई का खौफ.

Promise Health Care RMC Hospital की मनमानी

Promise Health Care RMC Hospital में एक कोविड मरीज का 8 दिनों तक इलाज हुआ. इलाज के दौरान मरीज की मौत भी हो गई. इसके बाद हॉस्पिटल ने मरीज के इलाज का बिल 2.77 लाख रुपये बना दिया. मरीज की मौत के बाद इलाज का बिल देने में अपनी समर्थता जताई. इसके बाद Promise Health Care RMC Hospital  प्रबंधन ने कोरीड मरीज के शव को 10 घंटे से अधिक समय तक अपने कब्‍जे में रखा. मामला जब मीडिया के संज्ञान में आया, तो रांची एसडीओ ने हस्तक्षेप की. तब 1.70 लाख रुपये भुगतान के बाद Promise Health Care RMC Hospital ने शव परिजनों को सौंपा गया.

Read Also  कोरोना फाउंडेशन के नाम पर हो रहा है ऑनलाइन ठगी

कोरोना निगेटिव होने का बाद भी हो गई मरीज की मौत

रांची जिले के बुढ़मू प्रखंड के बड़कामुरू के रहने वाले अखेवर सिंह बीते 10 मई को प्रॉमिस हेल्थ केयर RMC हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया था. उन्हें आईसीयू के बेड नंबर 25 पर भर्ती कर डॉक्टर शक्ति कुमार के देखरेख में इलाज किया जा रहा था. मरीज कोरोना संक्रमित थे. हालांकि वे नेगिटिव भी हुए. लेकिन संक्रमण उनके फेफड़े में पहुंच गया था. साथ ही किडनी भी काम नहीं कर रहा था. परिजनों की मानें, तो मरीज की स्थिति खराब हो गयी थी.

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.