ओटीटी प्लेटफॉर्म्स पर आ गई ‘नक्काश’, फिल्म फेस्टिवल्स और क्रिटिक्स सर्किल में मचाई थी धूम

by

Mumbai: दुनिया भर के अलग-अलग फिल्म फेस्टिवल्स में अवार्ड्स जीतने वाली क्रिटिकली एक्लेम्ड फिल्म नक्काश अब डिजीटल प्लेटफॉर्म्स पर दर्शकों को लुभाने के लिए तैयार है. नक्काश के राइट्स राजश्री फिल्म्स ने खरीदे हैं और अब ये जियो सिनेमा, एयरटेल एक्सट्रीम, वोडाफोन टीवी, शीमारू समेत कई ओटीटी पर उपलब्ध है.

इनामुलहक, शारिब हाशमी, कुमुद मिश्रा, राजेश शर्मा, पवन तिवारी जैसे दिग्गज कलाकारों के अभिनय से सजी ये फिल्म 2019  में थियेटर्स में रिलीज हुई थी, फिल्म ने बॉक्स ऑफिस के साथ-साथ क्रिटिक्स सर्किल में धूम मचा दी. कई क्रिटिक्स ने इस फिल्म को बेस्ट फिल्म ऑफ द ईयर, 2019 की कैटेगरी में भी रखा. नक्काश का निर्देशन पत्रकार से फिल्मकार बने ज़ैग़म इमाम ने किया है. गोल्डन रेशियो फिल्म्स के बैनर तले रिलीज़ हुई फिल्म के प्रोड्यूसर पवन तिवारी, गोविंद गोयल और जैगम इमाम हैं.

नक्‍काश की कहानी

नक्काश की कहानी बनारस में रहने वाले एक ऐसे मुस्लिम कारीगर की कहानी है जो हिंदू मंदिरों में नक्काशी का काम करता है. उसके काम की वजह से एक तरफ जहां उसके अपने समुदाय के लोग नाराज़ हैं वहीं दूसरी ओर के कट्टरपंथी भी उस पर नजर गड़ाए हुए हैं. आज की भारतीय राजनीति और सामाजिक तानेबाने के इर्द-गिर्द घूमती नक्काश आने वाले सामाजिक खतरों को लेकर साफतौर पर आगाह करती है. नक्काश उस गंगा जमुनी तहजीब की वकालत करती है जिस की वजह से हिंदुस्तान सालोंसाल से एकता के सूत्र में बंधा हुआ है.

नक्काश के बड़े ओटीटी रिलीज़ से निर्देशक जैगम इमाम बेहद उत्साहित हैं. उनका कहना है कि आज का सिनेमा दर्शकों की मुट्ठी (मोबाइल) में है इसलिए जरूरी है कि फिल्में ज्यादा से ज्यादा ओटीटी तक पहुंचे. उन्होंने उम्मीद जताई कि जिस तरह से फिल्म को सिनेमाघरों और क्रिटिक्स की वाहवाही मिली उसी तरह ओटीटी के दर्शक भी इसे सराहेंगे.

उन्होंने ये भी कहा कि अपने प्रदर्शन के बाद से ही ये फिल्म चर्चा में है, आज भी हमें और हमारी टीम अलग अलग सोशल प्लेटफ़ार्म्स के माध्यम से प्रंशसा के संदेश मिल रहे हैं. नक्काश ने लोगों की जिंदगियों को छुआ है हिंदू मुस्लिम को लेकर एक अलग तरह की समझ पैदा की है. अब अलग अलग ओटीटी के माध्यम से ये फिल्म नए दर्शकों तक पहुंचेगी, ये बिल्कुल हमारे मकसद के कामयाब होने जैसा है.

नक्काश का एक डायलॉग भी सोशल मीडिया पर काफी वायरल रहा है. ‘भगवान कौन हैं, अल्लाह  मियां के भाई’!! इस बारे में पूछने पर जैगम का कहना था कि देखिए ईश्वर अल्लाह और भगवान में क्या फर्क हो सकता है? ये सब एक हैं और फिल्म यही बताती है कि किसी भी इंसान से उसके धर्म के आधार पर नफरत करना गलत है.

नक्काश के लिए लीड एक्टर इनामुलहक को अमेरिका के वाशिंगटन डीसी साउथ एशियन फिल्म फेस्टिवल और इंडियन इंटरनेशनल फिल्म फेस्टिवल ऑफबोस्टन, अमेरिका में बेस्ट एक्टर के खिताब से नवाजा जा चुका है. जब कि डायरेक्टर जैगम इमाम को सिंगापुर साउथ एशियन फिल्म फेस्टिवल में इमर्जिंग फिल्म मेकर ऑफ द ईयर और बोस्टन फिल्म फेस्टिवल में बेस्ट डायरेक्टर के अवार्ड से नवाज़ा जा चुका है. 

Feature film- Nakkash

Running time-1 Hour 45 minutes 

Director-Zaigham Imam

Writer-Zaigham Imam

Cast- Inaamulhaq, Sharib Hashmi, Kumud Mishra, Rajesh Sharma 

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.