टेस्ला पावर यूएसए लीज पर बैटरी देकर उद्योग में क्रांति लेकर आयी, कंपनी की 1 बिलियन अमरीकी डॉलर के निवेश की योजना

New Delhi: भारत में अग्रणी निर्माता और बैटरी के सबसे तेजी से बढ़ते ब्रांड टेस्ला पावर यूएसए ने आज भारत में सूक्ष्म, लघु और मध्यम उद्यमों (एमएसएमई) को सशक्त बनाने के लिये एक नवीन एवं अनोखे ओपेक्स मॉडल के तहत लीज व किराये पर बैटरी देने की अपनी योजना की घोषणा की. बैटरी को लीज पर देकर कंपनी औद्यौगिक क्षेत्र में क्रांति लेकर आयेगी. कंपनी ने अपने इस अनूठे मॉडल का विस्तार करने के लिए साल 2025 तक लगभग 8,000 करोड़ रुपये (1 बिलियन अमरीकी डॉलर) निवेश करने की योजना बनाई है.

कंपनी, किफायती उर्जा भंडारण के साथ एमएसएमई को मजबूत करने की दिशा में काम कर रही है, जो भारतीय अर्थव्यवस्था के विकास में महत्वपूर्ण योगदान देती है.

इस बारे में टेस्ला पावर यूएसए के प्रबंध निदेशक कविंदर खुराना कहते हैं कि “एमएसएमई मंत्रालय के आंकड़ों के अनुसार भारत में लगभग 9.5 मिलियन एमएसएमई हैं. यह क्षेत्र कई चुनौतियों का सामना कर रहा है, जिनमें आरबीआई की मौद्रिक नीति के सख्त होने, ग्राहकों से अनियमित भुगतान एवं उच्च लागत वाली अवरोधित बिजली के साथ क्रेडिट की कमी शामिल हैं. बिजली की बार-बार कटौती भी उनकी मुख्य समस्या है, जिसके समाधान के लिये यूपीएस के साथ बैटरी का प्रयोग उनके खर्च को बढाने का काम करता है. इसे देखते हुए अब लीज पर सस्ती बैटरी के साथ एमएसएमई को सशक्त बनाने के लिए, हमने अपने मॉडल में उन्हें शामिल किया है,”.

उन्होंने आगे कहा कि “हमारे पास इस मॉडल के तहत, एक उद्यम को बैटरी खरीदने की आवश्यकता नहीं होगी, क्योंकि यह हमसे लीज/किराए पर ले सकता है और हम पूर्ण रख-रखाव की सेवा भी प्रदान करेंगे. उन्हें हमें केवल मासिक आधार पर किराए का भुगतान करने की आवश्यकता होगी और किसी भी खराबी की स्थिति में, हम इसे एक नए बैटरी से बदल देंगे. हम पूंजीगत लागत को ऑपरेशनल व्यय में परिवर्तित करके एमएसएमई को सशक्त बनाएंगे, ”.

‘लीज पर बैटरी ‘ मॉडल लंबे समय के लिए अग्रिम निवेश, रखरखाव और बैटरियों के बदलने के बोझ को कम करेगा और इस प्रकार एमएसएमई को बिना अवरोध बिजली आपूर्ति प्राप्त करने के लिए सक्षम करेगा.

Categories Market

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.