Take a fresh look at your lifestyle.
Browsing Category

Tech News

Ndtv gadgets, latest gadgets, mobile technology, gb tech india, new upcoming technologies,mobile gadget news,

google par website kaise banaye | गूगल पर वेबसाइट कैसे बनायें

google par website kaise banaye: गूगल पर वेबसाइट कैसे बनायें ये आप सीखना चाहते हैं तो आप को कई बातों का ध्‍यान रखना पड़ेगा. अगर आप खुद का वेबसाइट बनाना चाहते हैं तो गूगल आपको फ्री में प्‍लेटफॉर्म देता है. आप अपना फ्री का वेबसाइट कैसे तैयार…

आधार कार्ड के साथ मोबाइल नंबर लिंक कैसे करें, जानिए Step By Step

Aadhar Card Ko Mobile Number Se Kaise Link Kare:- क्या आपने अपने आधार कार्ड के साथ अपना मोबाइल नंबर रेजिस्टर किया है अगर नहीं तो हम आपको अपनी इस पोस्ट में बताने जा रहे है आप अपने मोबाइल नंबर को आधार कार्ड के साथ लिंक कैसे कर सकते है.…

मोबाइल डेटा की बचत करना आसान, अपनाये ये 7 अचूक तरीके

मोबाइल डेटा की बचत - अधिकतर लोग अनलिमिटेड डाटा प्‍लान के महंगे होने की वजह से स्‍मार्टफोन में लिमिटेड डाटा ही लेते हैं. लोगों को अकसर ये चिंता सताती रहती है कि कहीं उनका डाटा खत्‍म ना हो जाए. अगर आप भी डाटा खत्‍म होने के चक्‍कर में टेंशन…

Aadhar Card की Digital Copy कैसे करें ऑनलाइन Download

बड़े काम की चीज है आपका Aadhar Card. आज Aadhar Card के बिना किसी भी सरकारी या गैर सरकारी प्रोसेस को पुरा कर पाना मुमकिन नहीं है. ऐसे में आपका Aadhar Card गुम हो जाय, तो सोचिये कितनी मुश्किलें बढ़ सकती है.

गूगल इंडिया का नया Neighbourly ऐप क्या है, कैसे करेगा आपकी लाइफ स्टाइल आसान

गूगल इंडिया ने देश में Neighbourly नामक एक ऐप शुरू किया है. फिलहाल इसका बीटा वर्जन ही जारी किया गया है. इस ऐप पर लोग अपने आसपास की जानकारी हासिल कर पाएंगे. गूगल इंडिया ने ट्वीट के जरिए कहा, 'मुंबई में आज बीटा वर्जन उपलब्ध है. अगर आप किसी…

सिम स्वैपिंग फ्रॉड से बचने के आसान तरीके

एक तरफ सरकार डिजिटल इंडिया अभियान के तहत कैशलेस अर्थव्यवस्था को बढ़ावा दे रही है. वहीं, हैकर डिजिटल भुगतान की खामियों का फायदा उठाकर नए-नए तरीकों से लोगों के बैंक खातों में सेंध लगा रहे हैं. 

सिम स्वै‍प फ्रॉड क्या है, एक कॉल से कैसे चोरी हो जाते हैं बैंक अकाउंट के पैसे

सिम स्वैपिंग के जरिए हैकर आपकी पहचान चोरी कर, बैंक खाते से जुड़ा आपका मोबाइल नंबर बंद कराते हैं और फिर फर्जी पहचान पत्र के जरिये उसी मोबाइल नंबर का डुप्लीकेट सिम अपने पास एक्टिवेट (शुरू) करा लेते हैं.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More