रांची का टैगोर हिल बना लोक-संस्‍कृति का मंच

रांची का टैगोर हिल बना लोक-संस्‍कृति का मंच

Ranchi: रांची का टैगोर हिल झारखंड के प्रमुख पर्यटन स्‍थलों में से एक है. सीढियों के जरिए पत्‍थरों के इस पहाड़ को चढ़ा जा सकता है. यहां से पूरे रांची शहर का नजारा देखा जा सकता है. बताया जाता है कि यहां के हर पत्‍थर पर गुरूदेव रविद्र नाथ टैगोर और उनके परिवार की यादें जुड़ी हुई हैं. अब यहां हर रविवार को सांस्‍कृतिक कार्यक्रम होने लगा है. इसमें गुरुदेव रवींद्रनाथ टैगोर के गीत-संगीत पर आधारित सांस्कृतिक कार्यक्रम का आयोजन किया जाता है.

जहां एक ओर इंटरनेट की दुनिया में वेस्‍टर्न कल्‍चर हावी हो रहा है. वहीं अब भी कई लोग ऐसे हैं जो अपनी धरोहर को जिन्‍दा रखने के लिए वक्‍त निकालते हैं. इसमें छोटे बच्‍चे भी खुलकर भाग लेते हैं और साथ ही ऐसे बच्‍चों युवाओं को भी भारतीय संस्‍कृति की विरासत को जानते और सीखने का मौका मिलता है.

Read Also  रांची में डांडिया नाइट का जोश, लोगों की फरमाइश पर बदलते गए गीत

झारखंड सरकार की कला संस्‍कृति विभाग के द्वारा अब इस तरह के कार्यक्रमों के आयोजन को सहयोग भी मिलने लगा है.

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Scroll to Top