झारखंड में तीसरे चरण का चुनाव में सबसे ज्‍यादा दागी उम्‍मीदवार

झारखंड में तीसरे चरण का चुनाव में सबसे ज्‍यादा दागी उम्‍मीदवार

Ranchi: झारखंड में 12 मई को तीसरे चरण का चुनाव होना है. …

Read Moreझारखंड में तीसरे चरण का चुनाव में सबसे ज्‍यादा दागी उम्‍मीदवार

लोकसभा चुनाव: बीजेपी शासन से कुडमी संगठन नाखुश, झारखंड के इन सीटों पर उतारेगा प्रत्‍याशी

लोकसभा चुनाव: बीजेपी शासन से कुडमी संगठन नाखुश, झारखंड के इन सीटों पर देगा प्रत्‍याशी

Ranchi: झारखंड में कुडमियों की आबादी (Kudmi Population in Jharkhand) किसी भी चुनाव में निर्णायक माना जाता है. लेकिन झारखंड के कुडमी राज्‍य और केंद्र के बीजेपी शासन (BJP Government) से नाखुश हैं.

कुडमी को अनुसूचित जनजाति में शामिल नहीं करने के विरोध में कुडमी विकास मोर्चा ने लोकसभा चुनाव 2019 में भाजपा के प्रत्याशियों के विरोध में काम करने का ऐलान किया है.

किसी भी राजनीतिक दल द्वारा कुडमी प्रत्याशी नहीं देने के विरोध में रांची, हजारीबाग और धनबाद से कुडमी विकास मोर्चा अपना प्रत्याशी खड़ा करने का निर्णय लिया है.

कुडमी विकास मोर्चा के केंद्रीय अध्यक्ष शीतल ओहदार ने बुधवार को मीडिया को बताया कि झारखंड के कुडमियों को सभी राजनीतिक दलों ने वोट बैंक के तौर पर इस्‍तेमाल किया है.

उन्‍होंने कहा कि 2014 के लोकसभा चुनाव में बीजेपी के घोषणा पत्र में कुडमी को एसटी की सूची में शामिल करेंगे.

कुडमियों ने बीजेपी के वाद पर भरोसा करते हुए बीजेपी को एकतरफा वोट करके केंद्र और राज्‍य में बीजेपी की सरकार बनाने का काम किया.

लेकिन, बीजेपी की सरकार बनने के बाद कुडमी को एसटी की सूची में शामिल नहीं किया और इसके विरोध में पत्र जारी कर दिया. कुडमियों को धोखा दिया.

गिरिडीह और जमशेदपुर में कुडमी प्रत्याशी को समर्थन

शीतल ओहदार ने रांची के सांसद रामटहल चौधरी को चुनाव नहीं लड़ने की सलाह दी है. साथ ही कुडमी विकास मोर्चा के प्रत्याशी को समर्थन देने की अपील की है.

उन्होंने कहा कि रांची, हजारीबाग और धनबाद से प्रत्याशियों का ऐलान दो दिन के बाद कर दिया जाएगा. उन्होंने बताया कि कुडमी विकास मोर्चा द्वारा गिरिडीह और जमशेदपुर में कुडमी प्रत्याशी को समर्थन दिया जाएगा.

भाजपा प्रत्याशी को हराने का काम करेगा मोर्चा

शीतल ओहदार ने कहा कि कुडमी विकास मोर्चा चाईबासा, खूंटी, चतरा और गोड्डा में भाजपा प्रत्याशी को हराने का काम करेगा.

शीतल ओहदार ने बताया कि चाईबासा में कुर्मी मतदाताओं की संख्या ढाई लाख, खूंटी में डेढ़ लाख, चतरा में एक लाख और गोड्डा लोकसभा में लगभग पौने दो लाख हैं. इन लोकसभा क्षेत्रों में कुर्मी मतदाता निर्णायक भूमिका में है.