एण्डटीवी के ‘संतोषी मां सुनाएं व्रत कथाएं‘ में स्वाति की होगी मौत

by

एण्डटीवी के शो ‘संतोषी मां सुनाएं व्रत कथाएं‘ में दर्शकों को मनोरंजन की भरपूर खुराक मिलने वाली है। इस शो के आगे आने वाले एपिसोड्स में संतोषी मां की परम भक्त स्वाति (तन्वी डोगरा) की हत्या कर दी जायेगी। स्वाति पर जिस वक्त हमला किया जाता है, उस समय चंद्र ग्रहण की वजह से संतोषी मां (ग्रेसी सिंह) धरती लोक की घटनाओं को देख नहीं पाती हैं और इसलिये स्वाति की मदद के लिये नहीं आ पाती हैं। ग्रहण के बाद, स्वाति के मृत शरीर को देखकर मां को क्रोध आ जाता है और इस क्रोध से जन्म होता है उनकी अंश, ऊष्मा देवी (रतन राजपूत) का, जो स्वाति की मौत का बदला लेंगी। इन सब की शुरूआत सिंहासन सिंह (सुशील सिंह) के स्वाति की हत्या करने के लिये गुंडों को भेजने के साथ होती है। दरअसल फेरों के दौरान इंद्रेश (आशीष कादियान) के बेहोश हो जाने के बाद स्वाति परेशान हो जाती है और उससे मिलने के लिये आती है। इंद्रेश की शादी डाॅ. निधि (धरती भट्ट) से होने के बावजूद, स्वाति मंदिर जाती है और संतोषी मां से उसे जल्द ही स्वस्थ कर देने की प्रार्थना करती है। दूसरी ओर, चंद्र ग्रहण का फायदा उठाते हुये देवी पाॅलोमी (सारा खान) स्वाति को मारने का फैसला करती है और असुरों को धरती पर भेजती है। स्वाति अपने हमलावरों से बचने की पूरी कोशिश करती है, लेकिन अपनी जान से हाथ धो बैठती है। ग्रहण के बाद, जब संतोषी मां स्वाति को जमीन पर मरा हुआ पाती हैं, तो समझ नहीं पातीं कि आखिर उसकी हत्या किसने की। इस सीक्वेंस के बारे में बात करते हुये ऊष्मा देवी की भूमिका निभा रहीं रतन राजपूत ने कहा, ‘‘दर्शकों ने अब तक स्वाति के संघर्ष और संतोषी मां की दयालुता देखी है। लेकिन अब दर्शक देखेंगे कि संतोषी के अपने धरती रूप में ऊष्मा देवी किस तरह पृथ्वी लोक पर सिंहासन के घर में कदम रखेंगी और स्वाति के साथ हुये अन्याय का बदला लेंगी तथा उसकी मौत के जिम्मेदार लोगों को सजा देंगी। संतोषी की एंट्री के साथ ढ़ेर सारा ड्रामा देखने को मिलने वाला है।‘‘

ऊष्मा देवी एवं संतोषी के रूप में रतन राजपूत की एंट्री देखिये, ‘संतोषी मां सुनाएं व्रत कथाएं‘ में, प्रत्येक सोमवार से शुक्रवार, रात 9:00 बजे सिर्फ एण्डटीवी पर!

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.