इस राष्ट्रीय खेल दिवस पर बादाम के साथ अपनी फिटनेस यात्रा को आगे बढ़ाएं!

हम महान खिलाड़ी मेजर ध्यानचंद के उत्साह को सम्मान देने और याद करने के लिये हर साल राष्ट्रीय खेल दिवस मनाते हैं। मेजर ध्यानचंद को देश का सर्वश्रेष्ठ हॉकी खिलाड़ी माना जाता है। इस दिन की स्थापना भारत के युवाओं को खेल और अन्य शारीरिक गतिविधियों द्वारा फिट और स्वस्थ रहने के महत्व पर शिक्षित करने के लिये की गई थी।

अपनी तंदुरूस्ती पर केन्द्रित रहने के साथ अच्छे पोषण, संतुलित आहार और हेल्‍दी स्नैकिंग द्वारा उसकी पूर्ति करना भी उतना ही महत्वपूर्ण है। अच्छा पोषण स्वस्थ जीवनशैली का मार्ग है और लंबे समय में स्वस्थ रहने के लिये एक छोटा निवेश भी। ऐसा आहार में छोटे, लेकिन प्रासंगिक और प्रभावी बदलावों द्वारा किया जा सकता है, जैसे अपने आहार में मुट्ठीभर बादाम को शामिल करना।

खेल के शेड्यूल को दुरुस्‍त बनाने में सही खाने के महत्व पर जोर देते हुए ऋतिका समद्दर, रीजनल हेड- डायटेटिक्स, मैक्स हेल्थकेयर- दिल्ली, ने कहा, ‘‘डाइट की मात्रा, संरचना और पसंद खेल के प्रदर्शन को बहुत हद तक प्रभावित कर सकती है। खेल का अभ्यास या कोई एक्‍सरसाइज करते हुए पोषण सम्बंधी जरूरतों में संतुलन रखना अत्यंत महत्वपूर्ण है, क्योंकि यह सफलता का आधार बनाने में मदद करता है। एक्‍सरसाइज या खेल के बाद मुट्ठीभर बादाम आदर्श स्नैक होते हैं, क्योंकि वे ऊर्जा देते हैं और संतुष्टि का अनुभव भी। इसके अलावा, बादाम में हेल्‍दी फैट्स होते हैं, जिनकी शरीर को आवश्यकता होती है और वे प्रोटीन के अच्छे स्रोत भी हैं, जो आपके स्पोर्ट्स रूटीन में काम आ सकते हैं।’’

पाइलेट्स एक्सपर्ट और डाइट ए न्यूट्रिशन कंसल्टेन्ट माधुरी रूइया के अनुसार,‘‘खेल और शारीरिक व्यायाम शरीर की सर्वांगीण वृद्धि और विकास के लिये अत्यंत महत्वपूर्ण हैं। लेकिन अपनी फिजिकल ट्रेनिंग का स्तर ऊँचा करने के लिये हेल्‍दी स्नैक्स समेत संतुलित और पोषक आहार लेना अनिवार्य है। अपने रूटीन में मुट्ठीभर बादाम शामिल कीजिये, जो पोषक तो हैं ही, हृदय के स्वास्थ्य को भी अच्छा करते हैं। किंग्स कॉलेज लंदन के एक हालिया शोध के मुताबिक, रोजाना बादाम खाने से आर्टरीज का एंडोथेलियल फंक्शन बेहतर हुआ और ‘‘बुरे’’ एलडीएल-कोलेस्‍ट्रॉल का स्तर कम हुआ- यह दोनों हृदय के स्वास्थ्य के प्रमुख संकेत हैं।[1]’’

शारीरिक गतिविधियों से जुड़े रहते हुए सही स्नैक लेने की जरूरत पर प्रकाश डालते हुए शीला कृष्णस्वामी, न्यूट्रिशन एवं वेलनेस कंसल्टेन्ट, ने कहा, ‘‘भारत के ज्यादा से ज्यादा लोग खेलों और नियमित शारीरिक गतिविधि के महत्व को समझ रहे हैं। अभी तो यह और ज्यादा हो रहा है, क्योंकि इम्युनिटी में लोगों की रूचि बढ़ी है, खासकर उन आहारों और अभ्यासों के संदर्भ में, जो उसे मजबूत करने में मदद कर सकते हैं। शोध यह भी कहता है कि मध्यम तीव्रता वाला नियमित व्यायाम भी इम्युनिटी को मजबूत कर सकता है।[1] यह बच्चों के लिये ज्यादा महत्वपूर्ण है, क्योंकि वे घर पर ही नलाइन क्लास अटेंड कर रहे हैं और उनकी शारीरिक गतिविधि कम हुई है। पैरेन्ट्स को सुनिश्चित करना चाहिये कि वे एक रूटीन बनाये, ताकि बच्चे रोजाना किसी भी प्रकार के खेल/शारीरिक गतिविधि में संलग्न हों। इस रूटीन को पूर्ण बनाने के लिये बच्चों की डाइट में बादाम जैसे स्नैक भी शामिल करें। बादाम जिंक, फोलेट और आयरन का स्रोत होते हैं और यह सभी पोषक-तत्व इम्युन सिस्टम के नॉर्मल फंक्शन में योगदान के लिये जाने जाते हैं।’’

कोई भी खेल खेलते समय या फिटनेस का सही रूटीन बनाये रखते हुए भी शरीर को उचित भोजन देना जरूरी है। इस साल अच्‍छा खाकर और फिट रहकर अपने स्वास्थ्य सम्बंधी लक्ष्यों के प्रति वचनबद्ध रहने का संकल्प लें।

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Scroll to Top
प्‍यार वाला राशिफल: 4 अक्‍टूबर 2022 रांची के TOP Selfie Pandal लव राशिफल: 3 अक्‍टूबर 2022 India की सबसे सस्‍ती EV Car लव राशिफल: 2 अक्‍टूबर 2022