सुनील तिवारी यूपी के इटावा से गिरफ्तार, पूर्व सीएम बाबूलाल मरांड के सलाहकार पर है रेप का आरोप

by

Ranchi : सुनील तिवारी को यूपी के इटावा से गिरफ्तार किया गया है. सुनील तिवारी पूर्व सीएम बाबूलाल मरांडी के सलाहकार हैं. सुनील तिवारी पर रेप का आरोप है. इस मामले पर कार्रवाई करते हुए झारखंड पुलिस की विशेष टीम ने सुनील तिवारी को उत्‍तर प्रदेश के इटावा से गिरफ्तार किया है.  

सुनील तिवारी रेप मामला क्‍या है

गौरतलब है कि झारखंड के पूर्व मुख्यमंत्री बाबूलाल मरांडी के राजनीतिक सलाहकार सुनील तिवारी पर एक युवती ने यौन शोषण का आरोप लगाया था. खूंटी की रहने वाली युवती ने अशोक नगर निवासी सुनील तिवारी के खिलाफ अरगोड़ा थाने में बीते 16 अगस्त को प्राथमिकी दर्ज कराया था.

युवती द्वारा पुलिस को दिये गये आवेदन में कहा गया था कि सुनील तिवारी के यहां वो घर का काम करती थी. शुरुआती दिनों से ही सुनील तिवारी की बुरी नीयत का अंदाजा उसे उनके हावभाव से होने लगा था. सुनील तिवारी मुझे हमेशा चॉकलेट देते थे. एक दिन घर के अन्य सदस्यों की गैर मौजूदगी में सुनील तिवारी ने उसके संवेदनशील अंगों को छूना शुरू किया, जिसका उसने विरोध किया.

आरोप के मुताबिक विरोध करने पर शराब के नशे में सुनील तिवारी ने उसके साथ मारपीट की. किसी तरह वो खुद को बचाते के लिए छत पर जा छुपी, लेकिन सुनील तिवारी वहां भी आ गये और छत पर ही उन्होंने मेरे साथ दुष्कर्म किया. दुष्कर्म करने के बाद सुनील तिवारी ने मेरे मोबाइल पर फोन कर मुझसे माफी मांगी.

दूसरे दिन उन्होंने मुझे पैसे का लालच देकर कहा कि मैं उस घटना का जिक्र किसी से न करूं. ऐसा करने पर वो मुझे मुंह मांगा पैसा देंगे. उस घटना के बाद सुनील तिवारी ने दोबारा मेरे साथ छेड़छाड़ की. इसके बाद जुलाई महीने में मैंने उनका घर छोड़ दिया. इसके बाद भी उन्होंने मेरा पीछा नहीं छोड़ा और मुझे फोन कर परेशान करते रहे. जब मैंने छेड़खानी का विरोध किया तो जाति सूचक शब्दों का इस्तेमाल करते हुए गंदी-गंदी गालियां दी. मुझे जान से मारने की धमकी भी दी.

पत्रकारिता की मर्यादा का पालन करते हुए हम युवती द्वारा प्राथमिकी में जो बातें कही गयी हैं, उसका कुछ अंश ही प्रकाशित कर रहे है. युवती के आवेदन पर अरगोड़ा थाना में कांड संख्या 229/ 2021 दर्ज किया जा चुका है. इसमें आईपीसी की धारा 376(1), 354 a ,354 b ,354 d ,504 ,504 और एससी एसटी एक्ट की धारा 3 (2) (va ) लगायी गयी थी.

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.