सुदेश महतो ने की झारखंड विधानसभा के मानसून सत्र में सूखे पर विशेष चर्चा कराने की मांग

Ranchi: झारखंड में सूखा को लेकर आजसू के अध्यक्ष सुदेश कुमार महतो ने राज्‍य के मुख्यमंत्री रघुवर दास को एक पत्र लिखा है. इस पत्र के जरिए उन्‍होंने मानसून की बेरूखी से खेतीहर मजदूर किसानों की परेशानी और संभावित बेरोजगारी की ओर ध्‍यान आकृष्‍ट कराया है. झारखंड में सूखे को लेकर सुदेश महतो ने मुख्‍यमंत्री से विधानसभा के मानसून सत्र में विशेष चर्चा कराने की मांग की है.

पत्र में आजसू प्रमुख ने उन्होंने लिखा है कि इस साल झारखंड में मानसून लगभग 12 दिनों विलम्ब से आया है. जो आंकड़े सामने आ रहे हैं उस हिसाब से पूरे राज्य में सामान्य से 40 फीसदी कम बारिश हुई है. अभी तक प्रदेश में औसत 399.4 मिलीमीटर वर्षा होनी चाहिए थी पर वास्तव में केवल 237.7 मिलीमीटर बारिश हुई है.

पानी के इंतजार में नहीं हो रहा है रोपा

सुदेश महतो ने अपने पत्र में सीएम से कहा है कि इन दिनों मैं लगातार अपने क्षेत्र के अलावा राज्य के दूसरे हिस्सों में जा रहा हूं, किसानों और खेतिहर मजदूरों के बीच हताशा-निराशा के स्वर सुनाई पड़ रहे हैं. अबतक 70 प्रतिशत से अधिक धान का बिचड़ा लग जाना चाहिए था, पर केवल लगभग 20 प्रतिशत ही बिचड़ा लग पाया है. जबकि जुलाई महीना खत्म होने को है. किसानों के बिचड़े पानी के अभाव में सूखते जा रहे हैं. जिनके बिचड़े तैयार हैं वे पानी के इंतजार में रोपा नहीं कर पा रहे.

सूखे की सपेट में पूरा झारखंड

उन्‍होंने बारिश नहीं होने से राज्य का बड़ा इलाका सूखे की चपेट में जाता दिख रहा है. पठारी इलाकों में स्थिति और भी चिंताजनक है. झारखंड में 1200-1300 मिमी बारिश होती रही है और वर्षा का अधिक पानी बह जाता है. सिंचाई के क्षेत्र में राज्य ने प्रगति की है, लेकिन इस हाल में हम नहीं खड़े हो सके हैं कि बारिश की कमी का भरपाई कर सकें.

वैसे भी झारखंड साल दर साल सूखे की चपेट में आता रहा है. पिछले साल भी राज्य के 129 प्रखंडों को सुखाड़ प्रभावित घोषित किया गया था. खेती के काम ठहर जाने से रोजगार के अवसर घटते दिख रहे हैं. इस बार खेती से पहले सरकार ने किसान सम्मान निधि योजना के तहत किसानों को आर्थिक सहायता दी है. किसानों को इस सहायता से भरोसा बढ़ा, लेकिन बारिश नहीं होने से किसानों और खेतीहर मजदूरों के समक्ष गंभीर समस्या उत्पन्न हो गई है.

सूखे पर उच्‍च स्‍तरीय समीक्षा करने की जरूरत

आजसू प्रमुख सुदेश महतो ने मुख्‍यमंत्री रघुवर दास से आग्रह करते हुए कहा है कि सूखे की हालत पर उच्च स्तरीय समीक्षा करना चाहेंगे. संबंधित विभागों को इस विषम परिस्थिति से निपटने के लिए अभी से ठोस कदम उठाने के लिए आवश्यक निर्देश देना चाहेंगे.

उन्‍होंने कहा कि इस हालात से निपटने में पंचायतों को भी आवश्यक निर्देश दिए जाने की जरूरत है. साथ ही विधानसभा के मानसून सत्र में इस मुद्दे पर विशेष चर्चा हो, जिससे इस गंभीर समस्या से निपटने के लिए माननीय जनप्रतिनिधियों के सुझाव भी सामने आ सकें.

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.