कोरोना कंट्रोल के लिए झारखण्ड में बढ़ी सख्ती: स्कूल बंद, आठ बजे के बाद दुकानें भी बंद

by

Ranchi: झारखण्‍ड में कोरोना के बढ़ते कहर को देखते हुए सरकार ने सख्‍ती बढ़ा दी है. 8 अप्रैल से सभी स्‍कूलों को बंद कर दिया गया है. दुकानें रात आठ बजे से बंद कर दी जायेंगी. जुलूस, धरना, प्रदर्शन मेला पर भी रोक लगा दी गई है. रविवार को दुकानें बंद रहेंगी. रेस्‍तरां और धार्मिक स्‍थलों पर क्षमता के पचास प्रतिशत का ही जुटान हो सकेगा. वैवाहिक सामारोहों में अधिकतम दो सौ और श्राद्ध में पचास लोग शामिल हो सकेंगे.

मुख्‍यमंत्री हेमन्‍त सोरेन की अध्‍यक्षता में मंगलवार शाम आपदा प्रबंधन प्राधिकार की बैठक में यह निर्णय लिया गया.

कोविड कंट्रोल के लिए पाबंदियां

सार्वजनिक स्‍थलों पर पांच से अधिक लोगों के जुटान पर रोक लगा दी गई है. 

Read Also  आर्यन खान कब जेल से बाहर आएंगे, आज बॉम्‍बे हाईकोर्ट करेगा फैसला

स्‍कूल बंद रहेंगे मगर परीक्षाएं होंगी.

सभी खेल-कूद आयोजनों पर रोक लगा दिया गया है.

सभी पार्क, जिम और स्‍वीमिंग, खेलकूद आयोजनों पर प्रतिबंध रहेगा सिर्फ प्रशिक्षण जारी रहेगा.

तत्‍काल आठ से 30 अप्रैल तक यह प्रतिबंध प्रभावी होगा.

मास्‍क और शारिरिक दूरी के निर्देश का पूरी तरह से पालन करना होगा.

दुकानों में नो मास्‍क नो इंट्री का बोर्ड अनिवार्य कर दिया गया है.

बिना मास्‍क किसी भी भवन में प्रवेश पर रोक रहेगा. इस संबंध में दिशा निर्देश जारी कर दिया गया है. मधुपुर विधानसभा उप चुनाव में निर्वाचन आयोग का पूर्व का आदेश प्रभावी रहेगा.

हालात और बिगड़े तो सख्‍त कदम

मुख्‍यमंत्री हेमन्‍त सोरेन ने कहा कि कोरोना संक्रमण के बढ़ते हुए दायरे को देखते हुए पाबंदियां लगाई गई हैं. हालात और बिगड़े तो सख्‍त कदम उठाना पड़ेगा. रात में पांच से अधिक लोगों का जुटान न हो प्रशासन को यह सुनिश्चित करने का निर्देश दिया गया है.

Read Also  आर्यन खान कब जेल से बाहर आएंगे, आज बॉम्‍बे हाईकोर्ट करेगा फैसला

सरकारी अस्‍पतालों में पांच हजार अतिरिक्‍त बेड की व्‍यवस्‍था की जा रही है. स्थिति को देखते हुए 30 अप्रैल के बाद सरकार अलग से दिशा निर्देश जारी करेगी. मुख्‍यमंत्री ने सभी निजी अस्‍पतालों का सर्वे करने का निर्देश दिया है ताकि यह पता चले कि किसी तरह के लोग भर्ती हैं. संक्रमण की स्थिति गंभीर तो नहीं है. ऐसा होने पर लोगों को होम आइसोलेशन में डालें. इससे अस्‍पतालों में अनावश्‍यक भीड़ नहीं होगी.

झारखंड में बढ़ेगी कोरोना टेस्‍ट की रफ्तार

उन्‍होंने टेस्टिंग की रफ्तार बढ़ाते हुए रोजाना 35 हजार टेस्‍ट करने का निर्देश दिया है. साथ ही वैक्‍सीनेशन की गति भी बढ़ाने का निर्देश दिया है. बस संचालकों को भी थर्मल स्‍कैनर रखने का आदेश देने को कहा है ताकि यात्रियों की जांच हो सके.

Read Also  आर्यन खान कब जेल से बाहर आएंगे, आज बॉम्‍बे हाईकोर्ट करेगा फैसला

मरीज बढ़े, वैक्‍सीन की कमी

बैठक में आपदा प्रबंधन मंत्री बन्‍ना गुप्‍ता, मुख्‍य सचिव सुखदेव सिंह सहित अनेक अधिकारी मौजूद थे. बता दें कि झारखण्‍ड में पिछले चौबीस घंटे के भीतर 1086 करोना संक्रमित पाये गये हैं दस लोगों की मौत हुई है. पचास प्रतिशत से अधिक संक्रमित राजधानी रांची में ही पाये गये हैं. वहीं प्रदेश में वैक्‍सीन की कमी हो गई है. लोग केंद्रों से लौट रहे हैं. जिनकी मियाद पूरी हो चुकी है उन्‍हें भी वैक्‍सीन के लिए इंतजार करना पड़ रहा है. राज्‍य सरकार ने केंद्र से तत्‍काल दस लाख वैक्‍सीन अविलंब मुहैया कराने की मांग की है. स्‍वास्‍थ्‍य मंत्री ने मंगलवार को इस मसले पर केंद्रीय स्‍वास्‍थ्‍य मंत्री से भी बात की है.

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.