Best Event Company in Ranchi | जीआर इवेट्स कंपनी जो बनाए आपके सुनहरे पल को यादगार

Best Event Company in Ranchi

Best Event Company in Ranchi: क्या आप रांची में एक बढ़िया इवेंट …

Read MoreBest Event Company in Ranchi | जीआर इवेट्स कंपनी जो बनाए आपके सुनहरे पल को यादगार

नार्थ पोल से होकर बेंगलूरु पहुंची भारत की बेटियां, दुनिया के सबसे लंबे हवाई मार्ग पर उड़ान भर बनाया रिकॉर्ड

नार्थ पोल से होकर बेंगलूरु पहुंची

New Delhi: एयर इंडिया की सिर्फ महिला पायलटों की एक टीम ने …

Read Moreनार्थ पोल से होकर बेंगलूरु पहुंची भारत की बेटियां, दुनिया के सबसे लंबे हवाई मार्ग पर उड़ान भर बनाया रिकॉर्ड

Students Experience: ऑनलाइन क्लासेस बेहतर या ऑफलाइन रेगुलर स्टडी अच्छा

online classes vs normal classes

Pravin Kumar/Poonam Kumari

इस भागदौड़ वाली जिंदगी में एक ऐसा पड़ाव आया जहां में बंद कमरों में रहना पड़ा. यह हमारे जीवन को जैसे अस्त-व्यस्त कर दिया. साथ ही इसका फायदा भी हुआ और लोग आत्मनिर्भर बनना सीख गए. बहुत सारी चीजें बदली. बहुत से मुश्किलों का सामना करना पड़ा. लॉकडाउन होने की वजह से बहुत से सेक्टर प्रभावित हुए जिसमें से एक एजुकेशन सेक्टर भी है भारत में स्कूल जाने वाले करीब 26 करोड़ छात्र-छात्राएं हैं. जाहिर है, ऑनलाइन क्लासेज के जरिए शहरों में स्कूलों के नए एकेडमिक सेशन शुरू हो गए हैं. जबकि आर्थिक रूप से कमजोर और ग्रामीण इलाकों में रहने वाले छात्र छात्राओं इस मामले में कहीं पीछे छूट रहे हैं.

पर सवाल यह है कि क्या ऑनलाइन क्लासेज के माध्यम से स्‍टूडेंट्स को फायदा हो रहा है या नहीं?

इस दौरान स्‍टूडेंट्स को ऑनलाइन स्टडी से कितना फायदा हुआ. क्‍या यह रेगुलर ऑफलाइन क्‍लासेज से बेहतर था. क्‍या ऑनलाइन क्‍लासेज ऑफलाइन स्‍टडी की जगह ले पाया. इसी संबंध में हमने वैसे स्‍टूडेंट्स से बात की जो लंबे समय तक ऑनलाइन क्‍लासेज करने के बाद स्‍कूल खुदने के बाद दोबारा रेगुलर क्‍लासेज से जुड़ गए हैं. इन्‍होंने खुलकर बताया कि ऑनलाइन क्‍लासेज का एक्‍सपेरियंस कैसा था और अब रेगुलर क्‍लासेज करने के बाद क्‍या अनुभव कर रहे हैं.

10वीं और 12वीं के स्कूलों के खोलना खुलने के बाद बच्चों में बहुत खुशी और उत्साह देखने को मिल रहा है रांची के प्रतिष्ठित शिक्षा संस्थान जैसे उर्सलाइन   और जेवियर के बच्चों से हमें यह जानने को मिला की कौन सी क्लासेज बेहतर है ऑनलाइन क्लासेज या ऑफलाइन क्लासेज ?

संत जेवियर कॉलेज के स्‍टूडेंट्स का रिएक्शन

जेवियर के बच्चों से जब पूछा गया कि ऑनलाइन क्लास से ज्यादा लाभदायक है या ऑफलाइन क्लासेस तो बच्चों का कहना था कि ऑनलाइन क्लासेज से बेहतर ऑफलाइन क्लासेस है क्योंकि

  • ऑनलाइन क्लासेस में शिक्षकों के सामने ठीक से प्रश्न नहीं पूछ पाते थे.
  • आर्थिक रूप से कमजोर है स्मार्ट फोन और इंटरनेट कनेक्शन नहीं है.
  • नेटवर्क प्रॉब्लम होता है.
  • ऑनलाइन क्लासेस के बहाने मोबाइल में गेम खेलते हैं.

वहीं दूसरी ओर जब उर्सलाइन स्‍कूल की स्‍टूडेंट्स से पूछा गया तो उन्होंने बताया कि उन्हें भी ऑनलाइन क्लासेस में दिक्कतें आती हैं जैसे:-

  • क्लास के दौरान आवाज नहीं आना.
  • नेटवर्क प्रॉब्लम
  • घर पर पढ़ाई का माहौल नहीं मिलना,इत्यादि.

निष्कर्ष:-

इन बच्चों से बात करने के बाद यही निष्कर्ष निकलता है कि ऑफलाइन क्लासेस ऑनलाइन क्लासेस पर हावी है.बच्चों के लिए ऑफलाइन क्लासेस ही बेहतर है क्योंकि ऑफलाइन क्लासेस में उन्हें समझने में दिक्कत नहीं आएगी और वह निरंतर आगे बढ़ते रहेंगे.

कुंभ में शाही स्नान के लिए किन्नर अखाड़ा के महामंडलेश्वर ने अखाड़ा परिषद को दी चुनौती

कुंभ में शाही स्नान के लिए किन्नर अखाड़ा के महामंडलेश्वर ने अखाड़ा परिषद को दी चुनौती

Haridwar: प्रयागराज में अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद की बैठक में किन्नर अखाड़ा को …

Read Moreकुंभ में शाही स्नान के लिए किन्नर अखाड़ा के महामंडलेश्वर ने अखाड़ा परिषद को दी चुनौती

Sourav Ganguly की सेहत को लेकर डॉक्‍टर बोले- आज फिर होगी इकोकार्डियोग्राफी

Sourav Ganguly की होगी इकोकार्डियोग्राफी

Kolkata: दिल का ‘हल्का’ दौरा पड़ने के बाद अस्पताल में भर्ती कराए गए …

Read MoreSourav Ganguly की सेहत को लेकर डॉक्‍टर बोले- आज फिर होगी इकोकार्डियोग्राफी

नीरव मोदी के भाई नेहल मोदी पर न्यूयॉर्क में लगा 19 करोड़ की धोखाधड़ी का आरोप

नीरव मोदी के भाई पर धोखाधड़ी का आरोप

New York: भगोड़े हीरा कारोबारी नीरव मोदी (Nirav Modi) के भाई नेहल …

Read Moreनीरव मोदी के भाई नेहल मोदी पर न्यूयॉर्क में लगा 19 करोड़ की धोखाधड़ी का आरोप

बीजेपी अध्‍यक्ष जेपी नड्डा पर हमले के बाद अब गृह मंत्री अमित शाह करेंगे बंगाल दौरा

गृहमंत्री अमित शाह करेंगे बंगाल दौरा

New Delhi: केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह (Amit Shah) अगले हफ्ते पश्चिम बंगाल …

Read Moreबीजेपी अध्‍यक्ष जेपी नड्डा पर हमले के बाद अब गृह मंत्री अमित शाह करेंगे बंगाल दौरा

कोरोना संक्रमण से बचने के लिए चीन ने जारी की डायपर पहनने की गाइडलाइन

चीन ने जारी डाइपर पहनने की गाइडलाइन

New Delhi: चीन ने कोरोना संक्रमण के खतरे वाली जगहों पर विमान …

Read Moreकोरोना संक्रमण से बचने के लिए चीन ने जारी की डायपर पहनने की गाइडलाइन

वीडियो: डाॅल को बॉडी बिल्‍डर ने बनाया पत्‍नी

वीडियो: सेक्‍स डाॅल को बॉडी बिल्‍डर ने बनाया पत्‍नी

इस दुनिया में तरह-तरह की अनोखी चीजें होती रहती हैं जो लोगों को आश्चर्यचकित …

Read Moreवीडियो: डाॅल को बॉडी बिल्‍डर ने बनाया पत्‍नी

देश में लव जिहाद पर बहस, 2.21% महिलाओं ने की है दूसरे धर्म में शादी

देश में लव जिहाद पर बहस, 2.21% महिलाओं ने की है दूसरे धर्म में शादी

लव जिहाद’ इन दिनों चर्चा में है. मध्य प्रदेश, उत्तर प्रदेश, हरियाणा …

Read Moreदेश में लव जिहाद पर बहस, 2.21% महिलाओं ने की है दूसरे धर्म में शादी

कोरोना के कारण धार्मिक आयोजन रुके, तो धर्मगुरुओं का ऑनलाइन कारोबार जारी

कोरोना के कारण धार्मिक आयोजन रुके, तो धर्मगुरुओं का ऑनलाइन कारोबार जारी

कोरोना के संकट काल में तमाम तरह से बदलावों के बीच योग …

Read Moreकोरोना के कारण धार्मिक आयोजन रुके, तो धर्मगुरुओं का ऑनलाइन कारोबार जारी

पीएम मोदी दिवाली स्‍पेशल लोंगेवाला में जवानों के साथ तस्‍वीरें

पीएम मोदी की दिवाली स्‍पेशल लोंगेवाला में जवानों के साथ तस्‍वीरें

PM Modi Longwala images: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी हर साल दिवाली जवानों के …

Read Moreपीएम मोदी दिवाली स्‍पेशल लोंगेवाला में जवानों के साथ तस्‍वीरें

हुजूर, अब आप मालिक हैं, प्रजा को आपसे बहुत उम्‍मीदें हैं…

हुजूर, अब आप मालिक हैं, प्रजा को आपसे बहुत उम्‍मीदें हैं...

Ranchi: झारखंड में उपचुनाव खत्‍म हो चुका है. अब यहां के सत्‍ताधारी नेताओं और मंत्रियों को फुरसत मिल गया है. इसका मतलब ये नहीं कि सबको रोजगार और नौकरी झट से मिल जाएगा. अभी तो कोरोना महामारी है. खजाना भी खाली है. इसलिए ये सब अभी नहीं हो पाएगा. कहने का मतलब आप कतार में लगे रहिए और इंतजार करिए.

नेता-मंत्री लोग फुरसत में आ गए हैं, इसका मतलब अब उनके पास केंद्र सरकार को कोसने के लिए टाईम ही टाइम है. और इसकी शुरूआत राजधानी रांची में हो चुकी है. हाथरस रेपकांड को लेकर झारखंड में कांग्रेस पार्टी फिर से एक्टिवेट हो गई है. 5 अक्‍टूबर दिन गुरूवार के दिन कांग्रेस पार्टी से हेमंत सकार के मंत्री रोमेश्‍वर उरांव के नेतृत्‍व में मोराबादी मैदान में दिनभर प्रदर्शन किया किया. उनके साथ पार्टी के बड़े नेता और महिला कांग्रेस मंडली शामिल थी.

सभी ने केंद्र सरकार के खिलाफ नारेबाजी करने में पूरी ताकत लगा दी. इसके लिए लाउडस्‍पीकर का भी खूब इस्‍तेमाल हुआ. इसके पहले भी नौकरी और रोजगार के लिए स्‍थानीय युवाओं ने कई दिनों तक अनशन और आंदोलन किया था. तब उन्‍हें कभी इस तरह लाउडस्‍पीकर इस्‍तेमाल करने की अनुमति नहीं दी गई थी. हक के लिए आंदोलन कर रहे युवकों को कोविड गाइडलाइन का नियम नहीं पालने करने के लिए नोटिस जारी किये गए.

वहीं कांग्रेस के इस एक दिन के प्रदर्शन के दौरान कोविड नियमों की धज्जियां उड़ाई गई. तस्‍वीरों में साफ देखा जा सकता है. न कहीं सोशल डिस्‍टेंसिंग का पालन हुआ और न ही नेताओं और मंत्रियों ने सही तरीके से फेस मास्‍क इस्‍तेमाल किया. फिर भी न कोई कार्रवाई हुई और न कोई नोटिस दिया गया.

अब बात करते हैं अगले मुद्दे की. जिस मुद्दे को लेकर कांग्रेस के मंत्री और नेताओं ने केंद्र सरकार को घेरने के लिए अपनी पूरी ताकत लगाई. उसी महिला सुरक्षा और रेप के मामले में नई सरकार गठन के बाद झारखंड की स्थिति बदतर हुई है. बेरोजगारी की मार झेल रही झारखंड में क्राइम का ग्राफ लगातार बढ़ता जा रहा है. पूरे झारखंड में इस साल के पहले सात महीने में रेप के 1033 मामले दर्ज हुए. प्रदर्शन के दौरान हमने नेताओं से इन चुभते सवालों को पूछा.

राजनीति में राजनीतिक पार्टियों के ऐसे दोहरा चरित्र अक्‍सर देखने को मिल जाते हैं. लेकिन सरकार में शामिल नेताओं और मंत्रियों को ये नहीं भूलना चाहिए कि उपचुनाव के पहले इसी मोराबादी मैदान युवआओं को नियुक्ति का आश्‍वासन दिया गया है. सरकार की जिम्‍मेदार मंत्रियों की जवाबदेह मंत्रियों जिम्‍मेदारी बनती है वे कोविड 19 महामारी की चुनौती से निपटते हुए शिक्षा, रोजगार और आमजन के बुनियादी सुविधाओं को दुरूस्‍त करने में अपनी ताकत लगाए.

महंगे आलू से राहत देने के लिए मोदी सरकार ने लिया बड़ा फैसला

महंगे आलू से राहत देने के लिए मोदी सरकार ने लिया बड़ा फैसला

New Delhi: केंद्र की नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) सरकार ने शुक्रवार को भूटान (Bhutan) से लाइसेंस …

Read Moreमहंगे आलू से राहत देने के लिए मोदी सरकार ने लिया बड़ा फैसला