सोनू सूद उठाएंगे बिरसा मुंडा की परपोती की पढ़ाई का पूरा खर्च

by

Ranchi: फिल्म अभिनेता सोनू सूद ने भगवान बिरसा मुंडा की पर पोती जॉनी मुंडा की पढ़ाई का पूरा खर्च उठाने का जिम्मा उठाया है. झारखंड से प्रकाशित एक दैनिक अखबार में भगवान बिरसा मुंडा की परपोती की एक तस्वीर मार्मिक तस्वीर के साथ छपी थी, जिसमें उन्होंने पढ़ाई में आ रही अपनी परेशानियों का जिक्र किया था. इस चिट्ठी को पढ़कर सोनू सूद की टीम के विशाल लांबा ने संबंधित दैनिक अखबार को संपर्क किया और कहा जॉनी की पढ़ाई के लिए किताब कॉपी लैपटॉप आदि जो भी जरूरत होगी, वह तत्काल मुहैया कराई जाएगी.

Read Also  Father's Day 2021: एक पिता का संघर्ष जिन्होंने दिव्यांग बेटे के लिए आविष्कार तक कर दिया

प्रशासन पहुंचा भगवान बिरसा के द्वार

वहीं दूसरी ओर छोटी के डीसी शशि रंजन के निर्देश पर अड़की प्रखंड के बीडीओ गौतम साहू के साथ पूरा प्रशासनिक अमला बुधवार को उलीहातू पहुंचा. वह भगवान बिरसा की प्रतिमा पर माल्यार्पण कर श्रद्धांजलि दी. उनकी जरूरतों को जाना और शीघ्र पूरा करने का भरोसा दिलाया. परिवार के लोगों के बीच धोती साड़ी भी बांटी.

डीसी ने कहा अनुसूचित जनजातियों के कल्याण और विकास के लिए चलाई जा रही जिन योजनाओं के लाभ के दायरे में बिरसा मुंडा का परिवार आता है, वैसे सारी योजनाओं का लाभ दिलाया जाएगा. परिवार के जिन सदस्यों को सरकारी नौकरी मिली है, उन्हें नियमानुसार प्रोन्नति का लाभ भी मिलेगा.

Read Also  आदिवासियों में होने वाले सिकल सेल आनुवांशिक बीमारी के उन्‍मूलन के लिए मुहिम शुरू

पोते सुखराम ने कहा- जमीन के बदले जमीन ही दीजिए, पैसे तो खत्म हो जाएंगे

भगवान बिरसा मुंडा के पोते सुखराम मुंडा ने बीडीओ गौतम साहू को बताया कि उनकी 27 डिसमिल जमीन खेल मैदान के लिए ली गई थी, लेकिन उसके बदले में आज तक मुआवजा नहीं मिला है. उन्होंने इसके लिए कई बार आवेदन दिया है. लेकिन अब तक कुछ नहीं हुआ. सिर्फ आश्वासन ही मिलता रहा. उन्होंने कहा कि जमीन के बदले जमीन ही मिले तो बेहतर होगा. पैसे तो खत्म हो जाएंगे. मौके पर बीडीओ ने सीआई को बुलाकर बिरसा के परिवार को खेल मैदान के लिए अधिग्रहित जमीन का ब्यौरा निकाल कर उसके बदले में जमीन उपलब्ध कराने से संबंधित प्रस्ताव तैयार करने का निर्देश दिया.

Read Also  रूपा तिर्की की मां ने न्‍याय के लिए राज्यपाल से लगाई गुहार, पत्र में कहा- बेटी की मौत की सीबीआई जांच हो

सुखराम मुंडा ने बीडीओ को बताया कि उनका परिवार बढ़ रहा है. अब इस छोटे से मकान में गुजर-बसर करना संभव नहीं हो पा रहा है. इसलिए थोड़ा बड़ा मकान बनवा दिया जाए. ताकि परिवार के सभी सदस्य उसमें रह सके. बीडीओ ने गांव में ही दूसरी जमीन तलाश कर घर बनवाने का आश्वासन दिया. उन्होंने अंचल निरीक्षक को 1 सप्ताह में जमीन चिन्हित करने को कहा ताकि आगे की कार्रवाई की जा सके. बीडीओ ने परपोती जॉनी मुंडा से छात्रवृत्ति छात्रवृत्ति के संबंध में बात की. उस का बैंक अकाउंट भी लिया.

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.