तेज बारिश से लगातार बढ़ रहा सोन नदी का पानी, किसान भयभीत

by

Medininagar: ज़िले के हुसैनाबाद अनुमंडल क्षेत्र सहित झारखंड राज्य के सीमावर्ती क्षेत्र उतर प्रदेश व मध्य प्रदेश के भागों में लगातार हो रही मूसलाधार बारिश से जनजीवन तो अस्त-व्यस्त हो गया है, जिससे लोगों को घर से निकलना मुश्किल हो गया है. 

सोन नदी के तटवर्ती क्षेत्र में शनिवार की अर्ध रात्रि से पानी बहने की रफ्तार काफी तेज हो गयी है. देवरी स्थित सोन नदी के दोनों किनारे लबालब भर गये है. सोन नदी में पानी का बढ़ता देख तट पर बसे लोग काफी भयभीत हैं.

पानी के बढ़ाव से जमीन का कटाव भी जोरों पर हो रहा है. इससे कृषि योग्य भूमि लगातार नदी में समाहित हो रही है. इससे किसानों की चिंता और अधिक बढ़ गयी है.

प्रतिवर्ष सोन नदी का जलस्तर बढ़ने से कृषि योग्य भूमि हजारों एकड़ नदी में समाहित हो चुकी है. इसके बावजूद सरकार न तो अब तक तटबंध की व्यवस्था कर सकी है न ही बाढ़ से बचने का कोई उपाय. 

सोन नदी का जलस्तर बढ़ने से देवरी, दंगवार आदि जगहों के लोग टीला पर बसेरा डाल अपना जीवकोपार्जन करते हैं. उन्हें सुरक्षित स्थान पर लाने के लिये हुसैनाबाद के अनुमंडल पदाधिकारी कुंदन कुमार ने निर्देश जारी कर दिये हैं.

इधर कोयल नदी पर बने झारखंड के सबसे लंबे पुल के दोनों तरफ अप्रोच सड़क पर निर्माणकाल से ही दरार पड़ गई है. लगातार हो रही बारिश से अप्रोच रोड तो पूर्ण रुप से खराब हो गयी है.

इधर कई आहर, पोखर व चेक डैम टूटने से परता गांव के पुल के दोनों तरफ सड़क टूट गयी है. इससे दर्जनों गांवों का आवागमन पूर्ण रूप से बाधित हो गया है.

ग्रामीणों ने बताया कि स्कूल की मरम्मत के लिये कई बार स्थानीय विधायक व सांसद को लिखित रुप में कहा गया किंतु इन जनप्रतिनिधियों द्वारा किसी भी तरह की कोई पहल नहीं की गई. आज परता गांव प्रखंड मुख्यालय आने से वंचित हो गया है. 

इधर हड़ही नदी में पानी बढ़ने से एके सिंह कॉलेज जपला में जाने का रास्ता बंद हो गया. कॉलेज के छात्र, छात्रायें 2 किलोमीटर घूमकर कुसुवा गांव होकर आने के लिये बाध्य हैं. कॉलेज प्रशासन द्वारा नदी में पुल बनाने की मांग कई वर्षों से की जा रही है. हैदरनगर व मोहम्मदगंज क्षेत्र के ग्रामीण इलाका भी लगातार हो रही बारिश से त्राहिमाम कर रहा है. 

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.