सूर्य ग्रहण : दिल्ली, मुंबई, कोलकाता, बैंगलोर में 10 बजे के बाद दिखेगा

by

Surya Grahan Timing and Time Table: सूर्यग्रहण आज जब साल 2020 के पहले सूर्यग्रहण का सूतक शुरू होने के साथ ही जब ग्रहण लगने का काउंट डाउन भी शुरू हो गया है तब यह बात सबसे प्रमुख हो जाती है कि आखिर यह सूर्यग्रहण भारत के किन-किन शहरों में दिखाई देगा. आईए जानें.

भारत के इन  इन स्थानों पर दिखाई पड़ेगा सूर्यग्रहण  कल यानि कि 21 जून दिन रविवार को लगने वाला चूड़ामणि / कंकड़ / रिंग ऑफ़ फायर / वलयाकार सूर्यग्रहण भारत के कुल लगभग 66 शहरों में दिखाई पड़ेगा. यह सूर्यग्रहण देश के उत्तरी भाग के प्रदेशों जैसे कि उत्तराखण्ड, राजस्थान और हरियाणा के कुछ भागों में सुबह के टाइम बहुत साफ दिखाई पड़ेगा. इसके अलावा देश के बाकी हिस्से जैसे-देहरादून, कुरुक्षेत्र, चमोली, जोशीमठ, सिरसा, सूरतगढ़ आदि में यह सूर्यग्रहण एक पतली पट्टी अथवा नैरो लाइन के रूप में (आंशिक सूर्यग्रहण) दिखाई पडेगा.

वे प्रमुख स्थान जहाँ जितने प्रतिशत सूर्यग्रहण दिखाई पड़ने की संभावना है .

स्थान के नामजितने प्रतिशत में लगेगा सूर्यग्रहण
देश की राजधानी दिल्ली94 प्रतिशत
गुवाहाटी80 प्रतिशत
पटना78 प्रतिशत
सिलचर75 प्रतिशत
कोलकाता66 प्रतिशत
मुम्बई62 प्रतिशत
बैंगलोर37 प्रतिशत
चेन्नई34 प्रतिशत
पोर्ट ब्लेयर28 प्रतिशत

नोट: यह सूर्यग्रहण भारतीय समय के अनुसार सुबह लगभग 09 बजकर 16 मिनट पर शुरू होगा. वहीँ सूर्यग्रहण का वलयाकार रूप लगभग 10 बजकर 19 मिनट पर शुरू होना दिखाई पड़ेगा जो कि दोपहर 02 बजकर 02 मिनट तक दिखाई देगा. उसके बाद यह वलयाकार रूप समाप्त हो जायेगा.

इनइनदेशोंमेंभीदिखाईपड़ेगासूर्यग्रहण– 21 जून को लगने वाला यह सूर्यग्रहण भारत के अलावा दुनिया के कई अन्य देशों में भी दिखाई पड़ेगा. जैसे कांगो, सूडान, इथियोपिया, यमन, सऊदी अरब, ओमान और पाकिस्तान के साथ-साथ अफ्रीका, यूरोप, एशिया और आस्ट्रेलिया के उत्तरी भागों में यह सूर्यग्रहण आंशिक रूप में दिखाई पड़ेगा.

भूलकरभीखुलीआँखोंसेदेखेंसूर्यग्रहण सूर्यग्रहण को कभी भी खुली आँखों से नहीं देखना चाहिए. इसका कारण यह है कि सूर्यग्रहण के समय सूर्य से पराबैंगनी किरणें निकलती हैं जो आँखों पर बहुत बुरा प्रभाव डालती हैं. इन पराबैंगनी किरणों से आँखों को नुकशान होने की अधिक संभावना रहती है. इसलिए कभी भी सूर्यग्रहण को खुली आँखों से नहीं देखना चाहिए. इसीलिए सूर्यग्रहण को देखने के लिए एल्युमिनेटेड मायलर अथवा ब्लैक पॉलिमर अथवा शेड नम्बर 14 के वेल्डिंग ग्लास अथवा टेलिस्कोप के द्वारा सफ़ेद बोर्ड पर सूर्य के इमेज को प्रोजेक्ट करके उचित फ़िल्टर का उपयोग करते हुए इसे देखना चाहिए.

सूर्यग्रहणकाआपकेशहरमेंसमय

शहरप्रारंभ का समयसमाप्त का समय
अमृतसरसुबह 10:19दोपहर 13:42
अयोध्यासुबह 10:29दोपहर 14:01
आजमगढ़सुबह 10:31दोपहर 14:04
आरासुबह 10:34दोपहर 14:07
कोलकातासुबह 10:46दोपहर 14:17
गयासुबह 10:36दोपहर 14:09
गोरखपुरसुबह 10:32दोपहर 14:05
चेन्नईसुबह 10:22दोपहर 13:41
जालंधरसुबह 10:20दोपहर 13:44
डिब्रूगढ़सुबह 11:07दोपहर 14:30
दिल्ली और NCRसुबह 10:20दोपहर 13:48
पटनासुबह 10:37दोपहर 14:09
प्रयागसुबह 10:28दोपहर 14:01
बंगलोरसुबह 10:12दोपहर 13:31
बलियासुबह 10:35दोपहर 14:06
मुंबईसुबह 10:01दोपहर 13:28
रांचीसुबह 10:37दोपहर 14:10
लखनऊसुबह 10:27दोपहर 13:59
वाराणसीसुबह 10:31दोपहर 14:04
सूरतसुबह 10:03दोपहर 13:31
हरिद्वारसुबह 10:24दोपहर 13:51
हरिद्वारसुबह 10:23दोपहर 13:50

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.