दिल्‍ली दंगा में अब तक 47 मौत, दर्ज हुए 334 एफआईआर

by

New Delhi: उत्तर-पूर्वी दिल्ली में हुई हिंसा के बाद अब इलाके में शांति बहाल होती दिख रही है. पुलिस अधिकारियों के मुताबिक हिंसा को लेकर पिछले पांच दिनों से जिले में एक भी पीसीआर कॉल नहीं आई. जबकि गोकुलपुरी के नाले से लगातार लाशें मिलने का सिलसिला जारी है.

रविवार को चार लाशें मिलने के बाद सोमवार को एक और युवक की लाश नाले से बरामद हुई. यदि इस लाश के मिलने को भी हिंसा से जोड़ा जाए तो हिंसा में मरने वालों की संख्या कुल 47 हो गई है. फिलहाल इसकी पहचान के प्रयास किए जा रहे हैं.

हिंसा के बाद सोमवार को हुईं 10वीं व 12वीं की बोर्ड परीक्षाएं

दूसरी ओर हिंसा के बाद से जिले में रद्द की गई बोर्ड परीक्षाएं भी आज से शुरू हो गई. सोमवार को 10वीं और 12वीं दोनों की परीक्षाएं हुई. हिंसा के मामले में पुलिस ने अब तक कुल 334 एफआईआर दर्ज कर 950 से अधिक लोगों को हिरासत में लिया है. अपराध शाखा की एसआईटी लगातार मामलों की छानबीन में जुटी हुई है.

Read Also  हेमंत सोरेन पीएम मोदी से नाखुश कहा- सिर्फ अपने मन की बात करते हैं प्रधानमंत्री

जिले में कई दिनों चली हिंसा के बाद एक सप्ताह बाद सोमवार को उत्तर-पूर्वी दिल्ली में जिंदगी पूरी तरह पटरी पर लौटती हुई दिखी. इक्का-दुक्का दुकानों को छोड़कर लगभग सभी इलाके में दुकानें पूरी तरह खुल गई. हालांकि शिव विहार में अभी तनाव बना हुआ है. एहतियात के तौर पर वहां भारी संख्या में पुलिस बल तैनात है.

दूसरी ओर सीलमपुर, ब्रह्मपुरी, जाफराबाद, मौजपुर, नूर-ए-इलाही, कर्दमपुरी, सुदामापुरी, चांदबाग, मुस्तफाबाद, करावल नगर व अन्य इलाकों में लगभग पूरी तरह शांति रही. लुट व जला दिए गए आशियानों की सुध लेने भी लोग अपने-अपने घरों में पहुंच रहे हैं. कुछ लोगों ने अपने जले और तबाह हुए घरों में काम भी शुरू करवा दिया है. जिले में लगातार गश्त किया जा रहा है. पुलिस के वरिष्ठ अधिकारी हिंसाग्रस्त इलाकों में फ्लैग मार्च भी निकाल रहे हैं.

Read Also  हेमंत सोरेन पीएम मोदी से नाखुश कहा- सिर्फ अपने मन की बात करते हैं प्रधानमंत्री

अफवाह फैलाने के आरोप में 40 लोग गिरफ्तार

दूसरी ओर रविवार को राजधानी में हिंसा फैलाने की घटना को दिल्ली पुलिस ने बहुत गंभीरता से लिया है. पुलिस ने हिंसा की झूठी अफवाह फैलाने के आरोप में कुल 40 लोगों को गिरफ्तार किया है. इसमें उत्तर-पश्चिम जिले में 22, रोहिणी में एक और दक्षिण दिल्ली में 18 लोगों को गिरफ्तार किया है. दिल्ली पुलिस के अतिरिक्त प्रवक्ता अनिल मित्तल ने बताया कि रविवार शाम को कुछ ही घंटों में हिंसा से संबंधित झूठी अफवाहों की 1880 कॉल्स आ गई.

पुलिस ने इन सभी कॉल्स को गंभीरता से लिया. पूरी दिल्ली में हिंसा की खबर के बाद हड़कंप मच गया. हालत ऐसी हुई कि जामिया नगर के बटला हाउस में अफवाह के बाद मची भगदड़ में एक शख्स की मौत हो गई. उत्तर-पूर्वी दिल्ली में हुई हिंसा के बाद अपराध शाखा की टीम लगातार जांच में जुटी है.

Read Also  हेमंत सोरेन पीएम मोदी से नाखुश कहा- सिर्फ अपने मन की बात करते हैं प्रधानमंत्री

आईबी के जवान अंकित शर्मा की हत्या के आरोपी निगम पार्षद हाजी ताहिर हुसैन अभी भी फरार है. पुलिस उसकी तलाश में छापेमारी कर रही है. सोमवार दोपहर को भजनपुरा इलाके में एफएसएल की निदेशक भी जांच का मुआएना करने के लिए पहुंची.

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.