केरल, कर्नाटक, महाराष्ट्र और गुजरात में बाढ़ से अब तक 225 लोगों की मौत

केरल, कर्नाटक, महाराष्ट्र और गुजरात में बाढ़ से अब तक 225 लोगों की मौत

New Delhi: देश के बाढ़ प्रभावित चार राज्यों केरल, कर्नाटक, महाराष्ट्र और गुजरात में मंगलवार को मृतकों की संख्या बढ़कर 225 हो गई.

इनमें से केवल केरल में आठ अगस्त के अब तक 91 लोगों की मौत हुई है. राज्य में और बारिश होने का अनुमान है. हालांकि कर्नाटक और महाराष्ट्र में मौसम में सुधार हुआ है जिसके बाद बचाव एवं राहत अभियान तेज कर दिए गए हैं.

ओडिशा में पिछले सप्ताह से भारी बारिश हो रही है. राज्य के विभिन्न हिस्सों में मंगलवार को बाढ़ जैसे हालात देखे गए और आगामी दो दिनों में और बारिश होने की संभावना है.

केरल के अलावा, कर्नाटक में 54, महाराष्ट्र में 49 और गुजरात में 31 लोग बाढ़ और वर्षा जनित हादसों में मारे गए. उत्तर प्रदेश में भी बारिश जनित घटनाओं में दो लोगों के मरने की खबर है जहां कई इलाकों में रातभर भारी बारिश हुई.

Read Also  उत्‍तराखंड में फंसे 28 पर्वतारोहियों के राहत-बचाव के लिए कोशिशें तेज

‘रेड अलर्ट’ जारी

केरल में एर्णाकुलम, इडुक्की और अलप्पुझा के लिये ‘रेड अलर्ट’ जारी किया गया है क्योंकि राज्य के मध्य इलाकों में भारी बारिश होने का अनुमान है.

तिरुवनंतपुरम में भारतीय मौसम विज्ञान विभाग के निदेशक के संतोष ने कहा कि बंगाल की खाड़ी के ऊपर निम्न दबाव क्षेत्र मजबूत होने से राज्य के कई हिस्सों में भारी बारिश होने का अनुमान है.

केरल में मरने वालों की संख्या 91 पहुंच गयी

राज्य सरकार के अपडेट के अनुसार आठ अगस्त से अब तक मरने वालों की संख्या 91 पहुंच गयी और इसमें और इजाफा होने की आशंका है क्योंकि 59 लोग अब भी लापता हैं.

अधिकारियों ने बताया कि महाराष्ट्र के बाढ़ प्रभावित कोल्हापुर और सांगली जिलों में बचाव अभियान पूरा हो गया है। पानी घटने से अब प्रभावित लोगों को आवश्यक सामग्री की आपूर्ति करने पर ध्यान केंद्रित किया जा रहा है.

Read Also  Jharkhand Mob Lynching: भीड़ ने गुमला के एजाज खान को पीट-पीटकर मार डाला

अधिकारियों ने बताया कि पश्चिमी महाराष्ट्र के पांच जिलों में नौ दिनों में मृतक संख्या बढ़कर 49 हो गई है.

कर्नाटक सरकार की ओर से अपडेट जारी

कर्नाटक सरकार की ओर से मंगलवार को जारी आधिकारिक अपडेट के अनुसार राज्य में बाढ़ एवं भारी बारिश से प्रभावित जिलों और जलाशयों में धीरे-धीरे जलस्तर घटने से स्थिति में सुधार हो रहा है.

इसके अनुसार, ‘‘बाढ़ की स्थिति अब सामान्य हो रही है। बाढ़ प्रभावित जिलों में अब पानी धीरे-धीरे घटना शुरू हो गया है और बाढ़ की स्थिति में सुधार हो रहा है.’’

कर्नाटक सरकार ने स्वतंत्रता दिवस समारोह ‘‘सादे’’ तरीके से मनाने का फैसला किया है क्योंकि राज्य के अधिकतर हिस्से बाढ़ और लगातार बारिश से प्रभावित हैं.

Read Also  दिवाली छठ की छुट्टी के लिए स्‍पेशल ट्रेन चलाएगा रेलवे, जानें रूटचार्ट

आधिकारिक आंकड़ों के अनुसार मंगलवार को मृतक संख्या बढ़कर 54 हो गई और करीब चार लाख लोगों को 1151 राहत शिविरों में रखा गया

14,000 लोगों का रेस्‍क्‍यू

पिछले सात दिन में नौसेना ने ‘वर्षा राहत’ अभियान के तहत महाराष्ट्र, गोवा और कर्नाटक के बाढ़ प्रभावित इलाकों से 14,000 लोगों को बचाया है.

ओडिशा में लगातार बारिश के चलते बौध, बोलांगीर, कालाहांडी, कंधमाल और सोनपुर जिलों में कुछ जगहों पर पटरियों पर पानी भर जाने के कारण ट्रेन सेवाएं प्रभावित हुईं.

राष्ट्रीय राजधानी में भी मंगलवार को बारिश हुई. हिमाचल प्रदेश में भी कई जगहों पर भारी बारिश हुई.

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Scroll to Top
OTT पर खूंखार हो चली ये Hot Actress प्‍यार वाला राशिफल: 5 अक्‍टूबर 2022 Adipurush में प्रभास बने श्रीराम, टीजर का मजाक उड़ा प्‍यार वाला राशिफल: 4 अक्‍टूबर 2022 रांची के TOP Selfie Pandal