छठी जेपीएससी : मेंस में 6103 उम्मीदवारों का जारी होगा रिजल्ट

by

Ranchi: झारखंड लोक सेवा आयोग (जेपीएससी) की छठी जेपीएससी मुख्य परीक्षा (मेंस) का रिजल्ट पहली पीटी में चयनित 6103 उम्मीदवारों के आधार पर ही जारी किया जाएगा.

सुप्रीम कोर्ट ने छठी जेपीएससी परीक्षा के मामले में दायर एसएलपी पर सुनवाई के बाद इसे खारिज कर दिया. साथ ही झारखंड हाइकोर्ट के 21 अक्तूबर 2019 के आदेश को सही ठहराते हुए उसे बरकरार रखा.

मामले की सुनवाई जस्टिस इंदु मल्होत्रा व जस्टिस अजय रसतोगी की खंडपीठ में हुई.

प्रार्थी दिलीप कुमार एवं अन्य की ओर से सुप्रीम कोर्ट में एसएलपी दायर की गयी थी. कैवियट दायर करनेवाले राजकुमार मिंज की ओर से अधिवक्ता सुभाशीष सोरेन ने फैसले की जानकारी देते हुए बताया कि सुप्रीम कोर्ट से एसएलपी खारिज होने के बाद अब जेपीएससी द्वारा 11 अगस्त 2017 को जारी पहले संशोधित रिजल्ट के आधार पर चयनित 6103 अभ्यर्थियों में से ही मुख्य परीक्षा का रिजल्ट प्रकाशित किया जा सकेगा.

झारखंड हाइकोर्ट ने 21 अक्तूबर 2019 को प्रार्थी पंकज कुमार पांडेय की ओर से दायर अपील याचिका की सुनवाई के बाद इसे खारिज कर दिया था.

जेपीएससी पर हाईकोर्ट का आदेश

झारखंड हाइकोर्ट के तत्कालीन एक्टिंग चीफ जस्टिस एचसी मिश्र व जस्टिस दीपक रोशन की खंड पीठ ने कहा था कि छठी जेपीएससी की पहले संशोधित रिजल्ट के आधार पर चयनित 6103 अभ्यर्थियों का मुख्य परीक्षा का रिजल्ट जारी किया जाये. 12 फरवरी 2018 को जारी राज्य सरकार का संकल्प गलत है.

विज्ञापन प्रकाशित होने के बाद नियुक्ति प्रक्रिया के बीच में विज्ञापन की शर्तों में बदलाव नहीं किया जा सकता है.

छठी जेपीएससी : कब-कब क्या हुआ

  • वर्ष 2016 में 326 पदों पर नियुक्ति के लिए विज्ञापन का प्रकाशन
  • 18 दिसंबर 2016 को पीटी परीक्षा का आयोजन
  • 23 फरवरी 2017 को पीटी रिजल्ट का प्रकाशन
  • 11 अगस्त 2017 को पीटी के पहले संशोधित रिजल्ट का प्रकाशन
  • 6 अगस्त 2018 को पीटी के दूसरे  संशोधित रिजल्ट का प्रकाशन
  • 28 फरवरी 2019 को मुख्य परीक्षा का आयोजन

गौरतलब है कि दूसरे संशोधित पीटी रिजल्ट के बाद छठी जेपीएससी मुख्य परीक्षा में 34634 अभ्यर्थी शामिल हुए थे. लेकिन कोर्ट ने पहले संशोधित रिजल्ट को ही सही माना है.

छठी जेपीएसी की परीक्षा के लिए पहली दफा 2015 में विज्ञापन जारी किया गया था. तब से कई किस्म के फेरबदल और विवादों के बीच परीक्षा का परिणाम अब तक लंबित है.

गौरतलब है कि छठी परीक्षा के लिए पहली बार पीटी में 6103 परीक्षार्थी सफल हुए थे. पिछले साल अक्तूबर महीने में हाईकोर्ट ने फैसले में सफल 6,103 परीक्षार्थियों में से ही मुख्य परीक्षा का परिणाम जारी करने को कहा है.

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.