लॉकडाउन की वजह से मंदी जैसे हालात

by

New Delhi: कोरोना वायरस ने पूरी दुनिया में कोहराम मचा के रखा है. 190 से ज्यादा देश अस वायरस की चपेट में हैं. तो वहीं तकरीबन दो लाख से ज्यादा लोग इस वायरस से संक्रमित हैं. WHO ने भी इसे महामारी घोषित कर दिया.

ये वायरस कंट्रोल में आने की जगह तेजी से फैलता ही जा रहा है. क्योंकि ये वायरस सिर्फ छूने भर से फैल रहा है, इसलिए इसे कंट्रोल करने के लिए देशों को लॉकडाउन लगाना पड़ रहा है. ऐसे में लॉकडाउन की वजह से मंदी जैसे हालात बन रहे हैं.

इसे भी पढ़े: मुलायम के राजनैतिक संघर्षों में साथी ‘बेनी बाबू’ नहीं रहे, पीएम मोदी ने जताया शोक

Read Also  बंगाल समेत 5 राज्यों में विधानसभा चुनाव का ऐलान, 2 मई को आएंगे नतीजे

अंतरराष्ट्रीय मुद्रकोष (IMF) की प्रमुख क्रिस्टालिना जॉर्जीवा ने यह कहकर दुनिया को बड़ा झटका दिया है कि कोरोना वायरस की वजह से हम भयानक मंदी में जा रहे हैं. उन्होंने कहा कि यह मंदी बेहद ही खतरनाक होगी. जिससे विकासशील देशों को मदद के लिए बड़े पैमाने पर धन की जरूर होगी.

आईएमएफ चीफ क्रिस्टालिना जॉर्जीवा ने कहा, ‘यह साफ है कि हम मंदी में प्रवेश कर रहे हैं. कोरोना वायरस की वजह से पैदा हुई मंदी 2009 में वित्तीय संकट से भी ज्यादा खराब होगी.

उन्होंने आगे कहा कि दुनिया भर में आर्थिक गतिविधियां अचानक से ठप होने के साथ उभरते बाजारों को 2,500 अरब डॉलर के वित्त पोषण की जरूरत होगी. हालांकि इसके साथ ही उन्होंने यह भी कहा कि हमारा मानना है कि यह आंकड़ा कम है. अबतक 80 से अधिक देशों ने मुद्राकोष से आपात सहायता का आग्रह किया है.

Read Also  West Bengal Election Dates: पश्चिम बंगाल में 8 चरणों में चुनाव, जानें कब-कब होगी वोटिंग

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.