शिबू सोरेन ने एनआरसी पर दिया बड़ा बयान

by

Godda : 1932 खतियान और स्‍थानीयता पर बयान के बाद अब झारखंड मुक्ति मोर्चा के सुप्रीमो शिबू सोरेन ने एनआरसी पर बड़ा बयान दिया है. गुरुजी ने कहा है कि थर्ड और फोर्थ ग्रेड की नौकरी केवल 1932 खतियानी झारखंडियों को ही मिलना चाहिए. गोड्डा में मीडिया को संबोधित करते हुए उन्‍होंने पुरानी भाजपा की सरकार को भी कोसा है.

शिबू बोले- एनआरसी पर सरकार करेगी बैठक

शिबू सोरेन ने एनआरसी मुद्दे पर कहा कि पार्टी की कोर कमेटी की बैठक होगी. कार्यकारिणी के सभी सदस्यों के साथ मामले पर विचार-विमर्श करने के बाद सरकार की ओर से लागू करने या नहीं करने को लेकर निर्णय लिया जायेगा.

उन्‍होने गोड्डा में कहा कि संताल परगना में आदिवासी और गैर-आदिवासी को जिस गेंजर सेटलमेंट के आधार पर अधिकार मिला है, उसी तरह स्थानीय नियोजन में थर्ड और फोर्थ ग्रेड की नौकरी में शत-प्रतिशत आरक्षण मिलेगा.

शिबू सोरेन ने दिये अलग-अलग फॉर्मूला देने के संकेत

उन्होंने गेंजर सेटलमेंट को परिभाषित करते हुए कहा कि सरकार यहां के खतियानी रैयतों को तृतीय और चतुर्थ श्रेणी की नौकरियों में शत-प्रतिशत आरक्षण का प्रावधान कर रही है. इसके बाद राज्य में रहनेवाले सभी झारखंडी होंगे. उन्होंने स्थानीय नीति और खतियानी रैयत मामले पर अलग-अलग फॉर्मूला देने के संकेत दिये.

पहले की सरकार पर हमला

भाजपा सरकार पर निशाना साधते हुए गुरुजी ने कहा कि पूर्व की सरकार पांच वर्षों में जेपीएससी की एक भी परीक्षा आयोजित नहीं कर पायी और न ही एक नियोजन हुआ. राज्य के छात्रों से केवल परीक्षा शुल्क वसूला गया. राज्य से मेधावी विद्यार्थी पलायन कर गये. मजदूर और किसान भी अन्य राज्यों में रोजगार के लिए पलायन करते रहे. आज राज्य में हेमंत की सरकार है. हमारी ओर से बहाना नहीं चलेगा, केवल काम करना होगा.

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.